Sunday , February 25 2024

विपक्षी सांसदों ने संसद परिसर में खुले आसमान के नीचे गुजारी रात, मणिपुर समेत सांसद संजय सिंह के निलंबन मुद्दे पर धरना

फोटो: सोशल मीडियानई दिल्ली। संसद परिसर में धरना दे रहे विपक्षी सांसदों ने पूरे रात खुला आसमान के नीचे गुजारी है। संसद के मौजूदा सत्र के लिए आम आदमी पार्टी के सांसद संजय सिंह के निलंबन के साथ-साथ मणिपुर मुद्दे पर राज्यसभा के विपक्षी सांसदों का धरना जारी है। कल धरने पर बैठे थे। सोमवार को पूरी रात विपक्ष के सांसदों ने संसद भवन परिसर में धरना-प्रदर्शन किया। अभी भी यह सांसद धरने पर बैठे हुए हैं।

आम आदमी पार्टी के सांसद संजय सिंह ने कहा कि हम कल से यहां बैठे हैं। हमारी एक ही मांग है कि पीएम मोदी को मणिपुर मुद्दे पर बोलना चाहिए। हम यहां विरोध करते रहेंगे और मैं अभी भी पीएम मोदी से अनुरोध कर रहा हूं कि वह संसद में आएं और मणिपुर पर बात करें।

संजय सिंह ने आगे कहा, “प्रधानमंत्री मणिपुर जैसे संवेदनशील मुद्दे पर चुप क्यों हैं? हम उनसे केवल संसद में आकर इस मुद्दे पर बोलने की मांग कर रहे हैं। मैं राज्यसभा के सभापति जगदीप धनखड़ पर मुझे निलंबित करने के लिए कोई टिप्पणी नहीं करूंगा क्योंकि वह राजनीति से जुड़े व्यक्ति नहीं हैं, वह उपराष्ट्रपति हैं। संसद में मणिपुर का मुद्दा उठाना हमारी जिम्मेदारी है।”

राज्यसभा सांसद जेबी माथर ने कहा, “हम सबसे बड़ा संदेश देना चाहते हैं कि संजय सिंह अकेले नहीं हैं। पूरा विपक्ष एकसाथ है। अगर सत्ताधारी दल, एनडीए और सरकार सोचते हैं कि हमारे एक सदस्य को निलंबित करके हमें धमका सकते हैं तो हम बार-बार कहना चाहते हैं कि हमारी मांगें जारी रहेंगी। प्रधानमंत्री को संसद आकर मणिपुर के बारे में एक बयान देना चाहिए, जिसके बाद एक विस्तृत चर्चा हो।”

मणिपुर में दो महिलाओं के साथ हुई दरिंदगी के मुद्दे पर सोमवार को संसद में विपक्ष ने जबरदस्त हंगामा किया था। इस दौरान आम आदमी पार्टी के सांसद संजय सिंह ने वेल में राज्यसभा सभापति जगदीप धनखड़ की कुर्सी के सामने पहुंचकर विरोध किया। वह धनखड़ को हाथ दिखाकर कुछ कह रहे थे। उनकी इस एक्टिविटी के बाद उन्हें पूरे मॉनसून सत्र के लिए निलंबित कर दिया गया।

संजय सिंह पर हुई कार्रवाई के विरोध में विपक्षी संसदों ने संसद के बाहर धरना दे दिया। इस प्रदर्शन में आम आदमी पार्टी के सांसद संजय सिंह, संदीप पाठक और सुशील गुप्ता के अलावा TMC से डोला सेन और शांता छेत्री, कांग्रेस से इमरान प्रतापगढ़ी, अमीबेन और जेबी माथेर, CPM से बिनॉय विश्वम, CPI से राजीव के अलावा BRS नेता भी शामिल हुए।

साहसी पत्रकारिता को सपोर्ट करें,
आई वॉच इंडिया के संचालन में सहयोग करें। देश के बड़े मीडिया नेटवर्क को कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर इन्हें ख़ूब फ़ंडिग मिलती है। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें।

About I watch