Thursday , February 22 2024

‘योगी सरकार न होती तो मेरा कत्ल हो जाता’: स्याही कांड में जिस BJP नेता का आया नाम, वो बोले- मुख़्तार के खिलाफ बोलने से नाराज अखिलेश यादव ने रची साजिश

मुख़्तार अखिलेश भाजपालखनऊ। उत्तर प्रदेश के मऊ जिले में 21 अगस्त 2023 को भाजपा नेता दारा सिंह चौहान पर स्याही फेंकी गई थी। इस मामले में आरोपित अभिमन्यु यादव ने भाजपा नेता प्रिंस यादव पर स्याही फेंकने के लिए खुद को उकसाने का आरोप लगाया था। हालाँकि, बाद में पुलिस ने आरोपित अभिमन्यु के दावों को गलत बताया था।

अब खुद भाजपा नेता प्रिंस यादव ने गुरुवार (24 अगस्त 2023) को वीडियो जारी करके मामले में अपने खिलाफ रची गई साजिश का खुलासा किया है। भाजपा नेता का आरोप है कि ऑपइंडिया को मुख़्तार अंसारी के खिलाफ इंटरव्यू देने के बाद से माफिया और सपा प्रमुख अखिलेश यादव मिलकर उनके खिलाफ साजिश रच रहे हैं। प्रिंस यादव ने अपनी जान का खतरा भी बताया है।

भाजपा नेता प्रिंस यादव ने वीडियो की शुरुआत में खुद को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का सच्चा सिपाही बताया। स्याही फेंकने वाले आरोपित अभिमन्यु को प्रिंस ने राजनैतिक मोहरा बताया। प्रिंस का दावा है कि स्याही साजिश रचकर फेंकी गई थी, क्योंकि मौके पर कैमरामैन और वीडियो शेयर करने वाले भी मौजूद थे।

प्रिंस यादव ने स्याही वाला वीडियो शेयर कर भाजपा पर आरोप लगाने वाले अखिलेश यादव को अपराधियों का सबसे बड़ा संरक्षक और दंगाइयों एवं आतंकियों के मुकदमे वापस लेने वाला नेता बताया। प्रिंस ने यह भी कहा कि अखिलेश यादव की बुद्धि भ्रष्ट हो चुकी है। हालाँकि, उन्होंने ऐसे होना देश और धर्म की भलाई के लिए उचित बताया। प्रिंस ने दावा किया है कि झूठा साबित होने के बावजूद अखिलेश यादव को न तो शर्म आएगी और न ही वो माफ़ी माँगेंगे।

प्रिंस यादव ने अपने खिलाफ हुई साजिश की वजह मई 2023 में ऑपइंडिया को दिया गया इंटरव्यू बताया। उन्होंने कहा कि दिल्ली से पूर्वांचल में ग्राउंड रिपोर्ट कर रही ऑपइंडिया टीम के एक पत्रकार राहुल पांडेय को उन्होंने मुख़्तार अंसारी के ऐसे पाप गिनाए थे, जो अभी तक किसी भी मीडिया में हाईलाइट नहीं हुए थे।

प्रिंस ने माफिया मुख़्तार अंसारी को कलंक बताते हुए उसे अखिलेश यादव का सिरमौर कहा। भाजपा नेता के मुताबिक, उन्होंने ऑपइंडिया के माध्यम से पूरे देश में अखिलेश यादव और मुख़्तार अंसारी के रिश्तों को बेनकाब कर दिया था। साथ ही इंटरव्यू में यादवों से हिंदुत्व को समर्पित रहने की अपील भी की गई थी।

प्रिंस यादव ने आगे कहा कि खास मज़हब वाले अपराधी, दादा-परदादा के समय के साथी, मुख़्तार अंसारी का विरोध और हिन्दू समाज की एकजुटता की उनकी अपील को अखिलेश यादव बर्दाश्त नहीं कर पाए। प्रिंस के मुताबिक, बैठे-बैठाए सत्ता पाए अखिलेश यादव की राजनीति ही हिन्दू समाज को तोड़ कर चल रही है।

प्रिंस ने यह भी दावा किया कि ऑपइंडिया को दिए इंटरव्यू के बाद अगर अखिलेश यादव का शासन होता तो मुख़्तार अंसारी अब तक उनकी हत्या करवा चुका होता। प्रिंस ने मुख़्तार अंसारी को सम्बोधित करते हुए आगे कहा, “लेकिन, उसे ये भी पता है कि अब सत्ता योगी आदित्यनाथ महाराज की है और उसे पता है कि मिट्टी में मिलना किसे कहते हैं।”

भाजपा नेता ने कहा कि जब सख्त शासन के चलते मुख़्तार के गुर्गे उनकी हत्या नहीं करवा पाए तो साजिशन अभिमन्यु यादव का प्रयोग किया गया। राजनैतिक छवि धूमिल करने का प्रयास करने के लिए उनका नाम लेने वाले अभिमन्यु यादव को प्रिंस ने मुख़्तार का राजनैतिक शूटर कहा। उन्होंने स्याही कांड को भी अखिलेश यादव के इशारे पर हुआ बताया। प्रिंस ने कहा कि कभी पुलिस कस्टडी में लोगों को गोली मरवाने वाले माफिया अगर आज पुलिस कस्टडी में लोगों पर स्याही फिंकवाने के स्तर पर आ गए तो ये योगी सरकार और उत्तर प्रदेश पुलिस की मेहनत है।

प्रिंस यादव ने स्याही फेंकने की घटना में उनका नाम लेने को अखिलेश यादव द्वारा मुख़्तार अंसारी का कर्ज चुकाने जैसा बताया। भाजपा नेता ने मुख़्तार अंसारी को मऊ दंगों में पुलिस की खुली जिप्सी से घूमकर हिन्दुओं का कत्ल करवाने वाला बताया। साथ ही उन्होंने तत्कालीन सपा सरकार पर दंगाई मुख़्तार को ‘शांति का मसीहा घोषित’ करने का भी आरोप लगाया। प्रिंस ने यह भी कहा कि भाजपा शासन में मुख़्तार पहले की तरह न तो अपराध कर सकता है और न ही सफल साजिश। प्रिंस ने जनता को भी आगाह किया कि साल 2024 के लोकसभा चुनावों तक ऐसी साजिशें लगातार आती रहेंगी।

प्रिंस ने अपने वीडियो में मुख़्तार, अतीक, अबू आज़मी की तस्वीरें दिखाते हुए कहा कि सपा के पास आतंकवाद, अपराध और दंगों के अलावा कुछ भी नहीं। इसी वीडियो में मुजफ्फरनगर में अखिलेश शासन के दौरान साल 2013 में मुस्लिम भीड़ द्वारा कत्ल हुए सचिन और गौरव भी दिखे। प्रिंस ने बताया कि अखिलेश भी जानते हैं कि नरेंद्र मोदी 2024 में पिछली बार से अधिक सीटों के साथ प्रधानमंत्री बनने जा रहे हैं, इसलिए अब सपा के पास सिर्फ अफवाहों का ही सहारा है।

अंत में प्रिंस ने कहा, “अखिलेश यादव, शायद कभी आप मुख़्तार जैसे माफिया को इशारा करके मेरी हस्ती को मिटा दो, लेकिन अब प्रिंस यादव जैसे अनगिनत भगवान कृष्ण के कुल के यदुवंशी इस देश और धर्म के लिए स्वयं को बलिदान करने के लिए तैयार हैं।”

बताते चलें कि ऑपइंडिया की टीम ने मई 2023 में पूर्वांचल के उन जिलों से ग्राउंड रिपोर्ट की थी, जहाँ मुख़्तार अंसारी पर आपराधिक घटनाओं और साजिशों को अंजाम देने का आरोप लगा था। इस दौरान कई राजनेता, पुलिस अधिकारी सहित आम लोगों ने भी मुख़्तार अंसारी के खौफ की तमाम घटनाओं के बारे में बताया था। प्रिंस यादव ने भी तब मुख़्तार अंसारी पर हिन्दू को हिन्दू से लड़वाने, छोटे-छोटे बच्चों को भी अपना दुश्मन मानने और मऊ दंगों में यादवों का नरसंहार करवाने का आरोप लगाया था।

साहसी पत्रकारिता को सपोर्ट करें,
आई वॉच इंडिया के संचालन में सहयोग करें। देश के बड़े मीडिया नेटवर्क को कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर इन्हें ख़ूब फ़ंडिग मिलती है। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें।

About I watch