Thursday , February 22 2024

‘मैंने धर्म तक बदलने का सोचा, लेकिन तुम नहीं समझे साकिब…’, मरने से पहले पिंकी गुप्ता का सुसाइड नोट

मृतका पिंकी की फाइल फोटो.यूपी के गाजियाबाद में रहने वाली एक युवती की संदिग्ध परिस्थितियों में फांसी के फंदे से मौत का मामला सामने आया है. युवती एक युवक के साथ लिव-इन रिलेशनशिप में रह रही थी. आरोपी युवक दूसरे समुदाय से है, जिस पर मतृका के परिजनों ने हत्या का शक जताया. उन्होंने शव को थाने के बाहर रखकर जमकर हंगामा किया. थाने के बाहर हंगामे की सूचना पर आला पुलिस अधिकारी भी मौके पर पहुंचे और परिवार को समझा बुझाकर शांत कराया गया.

जानकारी के मुताबिक, घटना बीती गुरुवार रात की है जब लड़की अपने वैशाली इलाके स्थित घर में फांसी के फंदे पर झूलती हुई मिली. परिजनों को जब इसकी सूचना मिली तो उन्होंने युवती के प्रेमी और उसके परिवार वालों पर हत्या का आरोप लगाया. दरअसल, पिंकी गुप्ता नाम की लड़की, वैशाली इलाके के ही रॉक्स जिम नामक एक जिम में रिसेप्शनिस्ट का काम करती थी. वहीं, जिम में दूसरे समुदाय के एक युवक साकिब का भी आना-जाना था.

परिजनों के मुताबिक, साकिब ने अपनी बातों में लड़की को फंसा लिया. इसके बाद तरह-तरह के सपने दिखा कर उसने युवती को प्रेम जाल में फंसाया और लिव-इन रिलेशनशिप में रहने लगा. लेकिन कुछ दिन बाद से ही वह लड़की को टॉर्चर देने लगा. साकिब के पिता भी युवती को आत्महत्या के लिए उकसाते थे. वो कहते थे या तो साकिब को छोड़ दो या तो आत्महत्या करके मर जाओ. इसलिए साकिब और उसके घर वालों ने ही युवती की हत्या की है.

पिंकी के भाई का कहना है घटना के बाद वे लोग पुलिस टीम के साथ आरोपी युवक साकिब के गाजीपुर स्थित घर पर पहुंचे. तब साकिब के परिजनों और आसपास के लोगों ने पुलिस टीम को घेर लिया और साकिब को वहां से भगा दिया.

मृतका पिंकी और आरोपी युवक की उम्र करीब 23- 24 साल बताई जा रही है. पुलिस को जो मौके से सुसाइड नोट मिला है उसमें लिखा है, ”मुझे खुद पर शर्म आती है. तुम्हारे लिए तुम से और खुद से लड़ रही थी. लोगों ने मुझे बहुत समझाया, लेकिन मुझे तुम्हारे आगे कुछ दिखाई न दिया. मैंने अपना धर्म तक बदलने की सोची, तुम्हारी हर चीज स्वीकार करने की सोची. ये सोचती रही कि कैसे भी ये बंदा मेरा हो जाए, लेकिन तुम फिर भी नहीं समझे. मुझसे अब ये सब बर्दाश्त नहीं होता… Good Bye साकिब…आई लव यू.”

इंदिरापुरम के एसीपी स्वतंत्र कुमार सिंह ने कहा कि फिलहाल आरोपी साकिब और उसके पिता को गिरफ्तार कर लिया गया है. मामले में जांच जारी है.

साहसी पत्रकारिता को सपोर्ट करें,
आई वॉच इंडिया के संचालन में सहयोग करें। देश के बड़े मीडिया नेटवर्क को कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर इन्हें ख़ूब फ़ंडिग मिलती है। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें।

About I watch