Saturday , June 15 2024

पीएम मोदी को अपशब्द कहकर बुरे फंसे राहुल गांधी; कांग्रेस महासचिव से लेकर नाना पटोले तक सफाई देने में लगे

Congress- India TV Hindiराजस्थान में राहुल गांधी के ‘पनौती’ वाले बयान पर अब कांग्रेस बुरी तरह घिर गई है। राहुल गांधी के विवादित बयान पर पार्टी महासचिव जयराम रमेश से लेकर महाराष्ट्र कांग्रेस के अध्यक्ष नाना पटोले तक सफाई दे रहे हैं। कांग्रेस का कहना है कि राहुल गांधी ने पीएम मोदी को नहीं बोला है। जयराम रमेश ने वर्ल्ड कप फाइनल में हार के बाद प्रधानमंत्री मोदी की खिलाड़ियों से मुलाकात का वीडियो सामने आने के बाद यह आरोप भी लगाया कि प्रधानमंत्री ‘मास्टर ऑफ ड्रामा’ (नाटक के उस्ताद) हैं। बता दें कि कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने मंगलवार को राजस्थान में एक चुनावी सभा में कहा कि ‘पीएम का मतलब पनौती मोदी’ है।

कांग्रेस के संगठन महासचिव ने भी दी सफाई

राजस्थान की सभा में राहुल गांधी के इस बयान पर देश की सियासत गरमा गई है और बीजेपी इसको लेकर राहुल गांधी और कांग्रेस पर बेहद आक्रामक है। कांग्रेस के संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल ने सोशल मीडिया मंच ‘एक्स’ पर पोस्ट किया, ‘‘राहुल जी ने वही कहा, जो बहुत सारे लोग दो दिन से सोच रहे थे! विश्व कप फाइनल 140 करोड़ भारतीय नागरिकों के लिए गर्व का क्षण था और हम सभी इस ऐतिहासिक अवसर का इंतजार कर रहे थे, लेकिन वह अपने राजनीतिक लाभ के लिए इसे हथियाने के लिए बेताब थे।’’

महाराष्ट्र कांग्रेस अध्यक्ष बोले- किसी का नाम नहीं लिया 

इसी को लेकर आज महाराष्ट्र कांग्रेस के अध्यक्ष नाना पटोले ने भी सफाई दी है। नागपुर में नाना पटोले ने कहा है कि सभा में युवा पनौती… पनौती चिल्ला रहे थे, जिस वजह से राहुल गांधी ने कहा कि पनौती की वजह से टीम इंडिया हारी है। राहुल गांधी ने किसी का नाम नहीं लिया है, किसी को कहा नहीं है। अब किसी को ये लगता है तो ये उसका प्रोब्लम है। हम प्रधानमंत्री का आदर करते हैं लेकिन प्रधानमंत्री मोदी ने देश की जनता के साथ धोखा किया है। वहीं इस दौरान नेशनल हेराल्ड की संपत्ति जब्त करने को लेकर नाना पटोले ने कहा कि यह कांग्रेस की संपत्ति नहीं है। देश की जनता की संपत्ति है। पांच राज्यों में बीजेपी हारने वाली है, जिस वजह से बीजेपी ने इस तरह से किया है और यह सोनिया गांधी और राहुल गांधी को बदनाम करने की कोशिश है।

साहसी पत्रकारिता को सपोर्ट करें,
आई वॉच इंडिया के संचालन में सहयोग करें। देश के बड़े मीडिया नेटवर्क को कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर इन्हें ख़ूब फ़ंडिग मिलती है। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें।

About I watch