Sunday , February 25 2024

मल्लिकार्जुन खरगे को बनाया जाए पीएम पद का चेहरा, ममता बनर्जी ने आगे बढ़ाया नाम; केजरीवाल का भी समर्थन

 मल्लिकार्जुन खरगे को बनाया जाए पीएम पद का चेहरा, ममता बनर्जी ने आगे बढ़ाया नाम; केजरीवाल का भी समर्थनइंडिया गठबंधन की बहुप्रतीक्षित बैठक आखिरकार नई दिल्ली में खत्म हो गई है। बताया जा रहा था कि इस बैठक में सीट शेयरिंग और 2024 के लिए प्रधानमंत्री पद की उम्मीदवारी पर चर्चा होगी। सूत्रों का कहना है कि टीएमसी सुप्रीमो ममता बनर्जी ने इंडिया गठबंधन की ओर से प्रधानमंत्री पद के लिए एक नाम का सुझाव भी दिया है। वह नाम है कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे का। AAP चीफ अरविंद केजरीवाल ने भी इसका समर्थन किया है। बता दें कि इससे पहले चर्चा यह भी थी कि ममता बनर्जी खुद को ही विपक्षी गठबंधन के पीएम फेस के लिए प्रस्तावित कर सकती हैं।

बताया जा रहा है कि ममता बनर्जी ने इंडिया गठबंधन के संयोजक के लिए भी मल्लिकार्जुन खरगे का ही नाम आगे बढ़ाया है। वहीं आम आदमी पार्टी के चीफ अरविंद केजरीवाल ने भी इस प्रस्ताव का समर्थन किया। यह इंडिया गठबंधन की चौथी बैठक थी जिसे दिल्ली के अशोका होटल में आयोजित किया गया था। बताया यह भी जा रहा है कि गठबंधन के संयोजक पद के लिए अभी किसी का चयन नहीं किया गया है।

INDIA गठबंधन की बैठक में कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे, सोनिया गांधी, राहुल गांधी, संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल, जेडीयू नेता और बिहार के सीएम नीतीश कुमार, ललन सिंह, टीएमसी अध्यक्ष ममता बनर्जी, आरजेडी से लालू यादव और तेजस्वी यादवएनसीपी प्रमुख शरद पवार और शिवसेना (यूबीटी) चीफ उद्धव ठाकरे और आदित्य ठाकरे शामिल हुए थे। इसके अलावा सपा से अखिलेश यादव, रामगोपाल यादव, डीएमके से एमके स्टालिन, एनसीपी चीफ फारूक अब्दुल्ला, पीडीपी चीफ महबूबा मुफ्ती ने भी बैठक में हिस्सा लिया।

क्या बोले खरगे
जानकारी के मुताबिक विपक्षी गठबंधन की इस बैठक में संसद में विपक्षी सांसदों के निलंबन पर भी चर्चा हुई। बैठक खत्म होने के बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान जब खरगे से पूछा गया कि क्या आप प्रधानमंत्री फेस होंगे? इसपर खरगे ने कहा, पहले हमें जीतकर आना होगा। पहले हम एक होकर जीतने की कोशिश करेंगे। इसके बाद पता चलेगा कि कौन प्रधानमंत्री पद का चेहरा होगा। हमारे सांसद आकर, क्या करेंगे लोकतांत्रिक प्रक्रिया में, वह हो जाएगा। पहले हमें जीतने की चिंता है। उन्होंने यह बोला, हमने वह बोला। यह सब हमारी इंटरनल बात है।

साहसी पत्रकारिता को सपोर्ट करें,
आई वॉच इंडिया के संचालन में सहयोग करें। देश के बड़े मीडिया नेटवर्क को कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर इन्हें ख़ूब फ़ंडिग मिलती है। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें।

About I watch