Sunday , February 25 2024

‘क्या बृज भूषण का करीबी होना अपराध है…’, साक्षी मलिक के आरोपों पर बोले WFI के नए चीफ संजय सिंह

WFI के नवनिर्वाचित प्रेसिडेंट संजय सिंह और पूर्व अध्यक्ष बृज भूषण शरण सिंहWFI में बृजभूषण शरण सिंह के करीबी संजय सिंह के जीतने के बाद विरोध का सिलसिला जारी है. महिला पहलवान साक्षी मलिक के कुश्ती त्यागने के फैसले के बाद शुक्रवार को पहलवान बजरंग पूनिया ने पदक वापसी की घोषणा की थी. अब इस मामले में और भी खिलाड़ी जुटने लगे हैं तो वहीं, कुछ पूर्व रेसलर्स ने पहलवानों को करियर पर फोकस करने के लिए कहा है. इसी बीच, WFI के नवनिर्वाचित अध्यक्ष संजय सिंह ने भी अपनी बात कही है. उन्होंने कहा कि, अगर मैं उनके (बृज भूषण शरण सिंह) करीब हूं तो क्या यह अपराध है?

जो एथलीट हैं वे तैयारी में जुटेः संजय सिंह
पहलवान साक्षी मलिक के कुश्ती छोड़ने पर WFI के नवनिर्वाचित अध्यक्ष संजय सिंह का कहना है, “जो लोग एथलीट हैं उन्होंने तैयारी शुरू कर दी है और जो लोग राजनीति में आना चाहते हैं वे ऐसा कर सकते हैं. यह उनका निजी मामला है, मैं इस बारे में नहीं बोलूंगा.” मैं 12 साल से महासंघ में हूं. सिर्फ इसलिए कि मैं सांसद (बृज भूषण सिंह) का करीबी हूं इसका मतलब यह नहीं है कि मैं एक डमी उम्मीदवार हूं. अगर मैं उनके करीब हूं तो क्या यह अपराध है?…”

पूर्व अध्यक्ष बृजभूषण ने कही ये बात
वहीं, WFI के पूर्व प्रमुख बृज भूषण शरण सिंह का कहना है, “कुछ मुद्दों के कारण, देश में राष्ट्रीय या राज्य स्तरीय कुश्ती प्रतियोगिताएं 11 महीने के लिए रुकी हुई थीं. हमने 28 दिसंबर से 31 दिसंबर तक अंडर-15 और अंडर-20 कुश्ती प्रतियोगिताएं आयोजित करने की घोषणा की है.” अगर ये टूर्नामेंट 31 दिसंबर के अंदर आयोजित नहीं हुए तो पहलवानों का पूरा एक साल प्रभावित होगा.”

साक्षी मलिक ने चुनाव परिणाम आने के बाद किया था कुश्ती का त्याग
बता दें कि गुरुवार शाम को कुश्ती का त्याग करते हुए साक्षी ने कहा था कि, हम 40 दिनों तक सड़कों पर सोए और देश के कई हिस्सों से बहुत सारे लोग हमारा समर्थन करने आए. बूढ़ी महिलाएं आईं. ऐसे लोग भी आए, जिनके पास खाने-कमाने के लिए नहीं है. हम नहीं जीत पाए, लेकिन आप सभी का धन्यवाद. उन्होंने कहा कि हमने पूरे दिल से लड़ाई लड़ी, लेकिन WFI का अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह का बिजनेस पार्टनर और करीबी सहयोगी संजय सिंह चुना जाता है तो मैं अपनी कुश्ती को त्यागती हूं. इस दौरान साक्षी ने अपने जूते उठाकर मेज पर रख दिए.

सामने आई थी बृज भूषण शरण सिंह की प्रतिक्रिया
उधर, साक्षी मलिक के इस ऐलान के बाद पत्रकारों ने WFI के पूर्व अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह से उनकी प्रतिक्रिया जाननी चाही थी, तो उन्होंने पत्रकारों को सीधा जवाब न देते हुए कहा था, ‘उससे मेरे को क्या लेना-देना भाई… इसके बाद वह भीड़ के बीच से निकल कर चले गए थे. बता दें कि, बृजभूषण शरण सिंह ने चुनाव से पहले ही ऐलान किया था कि संजय सिंह ही जीतेंगे.

 

साहसी पत्रकारिता को सपोर्ट करें,
आई वॉच इंडिया के संचालन में सहयोग करें। देश के बड़े मीडिया नेटवर्क को कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर इन्हें ख़ूब फ़ंडिग मिलती है। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें।

About I watch