Sunday , February 25 2024

PM मोदी को लेकर मालदीव में आपस में ही रार: महिला मंत्री ने की भद्दी टिप्पणी तो पूर्व राष्ट्रपति ने ही लताड़ दिया, लक्षद्वीप के प्रचार से आग-बबूला हैं कट्टरपंथी

पीएम मोदी के साथ मोहमद नशीदमालदीव के पूर्व राष्ट्रपति मोहम्मद नशीद ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का अपमान करने वाली मोहम्मद मुइज़्ज़ू सरकार में मंत्री की आलोचना की है। उन्होंने एक्स (पहले ट्विटर) पर ट्वीट करके मंत्री मरियम शिनुआ द्वारा प्रधानमंत्री मोदी को लेकर की गई टिप्पणी को भद्दा बताया है। इसके साथ ही उन्होंने मुइज्जू सरकार को सलाह दी कि वे अपनी मंत्री के बयानों से सरकार को अलग करें।

उन्होंने एक्स पर लिखा, “मालदीव की सरकार की एक मंत्री ने एक प्रमुख सहयोगी देश, जो कि हमारी सुरक्षा और समृद्धि के लिए जरूरी है, के प्रमुख के लिए किस तरह की भद्दी भाषा का इस्तेमाल किया है। मोहम्मद मुइज़्ज़ू की सरकार को इस बयान से अपने आप को अलग कर लेना चाहिए और भारत को यह बताना चाहिए कि यह हमारी सरकारी नीति नहीं है।” मोहम्मद नशीद भारत के प्रति झुकाव वाले नेता माने जाते रहे हैं। वह 2008 में मालदीव के राष्ट्रपति बने थे।

गौरतलब है कि हाल ही में प्रधानमंत्री मोदी लक्षद्वीप के दौरे पर थे, जहाँ से उन्होंने लक्षद्वीप की प्राकृतिक सुन्दरता को दिखाते हुए कुछ फोटो और वीडियो डाली थीं। इस पर भारतीय सोशल मीडिया यूजर्स ने कहा था कि मालदीव के जैसा सुंदर लक्षद्वीप है, इसलिए भारतीयों को मालदीव के बजाय लक्षद्वीप जाना चाहिए।

इसी पर मालदीव के कई फेमस सोशल मीडिया अकाउंट भारतीयों के खिलाफ नस्लभेदी टिप्पणी करने लगे। कुछ ने भारतीयों को नीचा दिखाने की भी कोशिश की। इसी क्रम में मोहम्मद मुइज़्ज़ू की सरकार में युवा मामलों की उपमंत्री मरियम शिनुआ ने प्रधानमंत्री मोदी को लेकर काफी अपमानजनक टिप्पणियाँ कीं।

मरियम ने प्रधानमंत्री मोदी की फोटो के नीचे उन्हें एक मसखरा और इजरायल की कठपुतली बताया। इसको लेकर भारतीय सोशल मीडिया यूजर्स भड़क गए। उन्होंने मालदीव की मंत्री के इस व्यवहार की आलोचना की, जिसके बाद मरियम ने यह ट्वीट डिलीट कर दिया।

हालाँकि, भारत को लेकर उल्टी सीधी टिप्पणी करने वालों में अन्य मालदीव के कई अकाउंट भी शामिल थे। अब मालदीव के पूर्व राष्ट्रपति मोहम्मद नशीद ने मंत्री के इस व्यवहार की आलोचना की। मालदीव के राष्ट्रपति मोहम्मद मुइज़्ज़ु की सत्ताधारी पार्टी के ही एक सदस्य जाहिद रमीज ने भी भारत को लेकर काफी अपमानजनक टिप्पणियाँ की।

जाहिद रमीज को भी भारतीय सोशल मीडिया यूजर्स ने काफी करारा जवाब दिया था। इस पूरे विवाद के बीच 6 जनवरी 2024 की रात मालदीव के राष्ट्रपति और विदेश मंत्रालय की वेबसाइट डाउन हो गई, इसको लेकर हैकिंग का शक जताया गया है।

साहसी पत्रकारिता को सपोर्ट करें,
आई वॉच इंडिया के संचालन में सहयोग करें। देश के बड़े मीडिया नेटवर्क को कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर इन्हें ख़ूब फ़ंडिग मिलती है। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें।

About I watch