Sunday , February 25 2024

स्कॉर्पियो पर धार्मिक झंडा लगाकर रेकी, बड़ी वारदात की प्लानिंग… अयोध्या से गिरफ्तार 3 संदिग्धों ने उगले राज

प्रदीप पुनिया, अजीत कुमार शर्मा, शंकर लाल दुसादलखनऊ। अयोध्या से यूपी एटीएस ने तीन बदमाशों को गिरफ्तार किया है. इनके संबंध खालिस्तानी आतंकी संगठनों से हैं. तीनों राजस्थान के रहने वाले बताए जा रहे हैं. गिरफ्तार हुए आरोपी के नाम शंकर लाल, अजीत कुमार, प्रदीप पुनिया है. तीनों अपनी गाड़ी में श्रीराम का झंडा लगकर अयोध्या की रेकी कर रहे थे. गिरफ्तार आरोपी शंकरलाल ने पूछताछ में इसका खुलासा किया है.

शंकर लाल कनाडा में मौजूद खालिस्तानी समर्थक हरमिंदर उर्फ लांडा से संपर्क में था. हरमिंदर ने शंकर से कहा था कि खालिस्तानी आतंकी गुरुपत्वन्त ने अयोध्या की रेकी करने को कहा है. साथ ही अयोध्या का नक्शा भी भेजने का आदेश भी दिया गया था. कनाडा में मौजूद हरमिंदर उर्फ लांडा के कहने पर तीनों अयोध्या पहुंचे थे.

जानकारी के मुताबिक शंकर लाल राजस्थान का कुख्यात गैंगस्टर है और उस पर कई मामले दर्ज हैं. वो कनाडा में बैठे कई गैंगस्टर से संपर्क में था जो खालिस्तानी आतंकियों से जुड़े हुए हैं. पुलिस और सुरक्षा एजेंसियों को चकमा देने के लिए आरोपी स्कार्पियो में श्रीराम का झंडा लगकर अयोध्या की रेकी कर रहे थे.

आरोपियों के अयोध्या से पकड़े जाने के कुछ देर बाद सिख फॉर जस्टिस के चीफ आतंकी गुरपतवंत सिंह पन्नू ने एक ऑडियो जारी कर आरोपियों का समर्थन भी किया था. अब यूपी एटीएस सिख फॉर जस्टिस से कनेक्शन की जांच भी शुरू की.

22 जनवरी को बड़ी वारदात को अंजाम देने की फिराक में थे

पुलिस ने बताया कि अबतक पूछताछ में खुलासा हुआ है कि तीनों संदिग्ध खालिस्तानी समर्थक हरमिंदर सिंह उर्फ लांडा के संपर्क में थे. गुरपतवंत सिंह पन्नू का करीबी हरमिंदर सिंह लांडा ने ही तीनों संदिग्धों को अयोध्या में रेकी कर आसपास का नक्शा भेजने को कहा था. रेकी के बाद तीनों को अयोध्या में रुकना था और फिर डायरेक्शन मिलने के बाद किसी बड़ी घटना को अंजाम देना था. एटीएस उस ऑडियो की जांच कर रही है. तीनों के पास से हरियाणा नंबर की स्कॉर्पियो HR 51 BX 3753 बरामद हुई.

साहसी पत्रकारिता को सपोर्ट करें,
आई वॉच इंडिया के संचालन में सहयोग करें। देश के बड़े मीडिया नेटवर्क को कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर इन्हें ख़ूब फ़ंडिग मिलती है। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें।

About I watch