Sunday , February 25 2024

नहीं रहे विश्व के सबसे बड़े स्कूल CMS के संस्थापक जगदीश गांधी, कार्डियक अरेस्ट के चलते हुआ निधन

लखनऊ के जाने माने प्राइवेट स्कूल सिटी मॉन्टेसरी स्कूल (CMS) के संस्थापक जगदीश गांधी का निधन हो गया है. पिछले कई दिनों से तबीयत खराब होने के चलते वह लखनऊ के मेदांता अस्पताल में भर्ती थे. रिपोर्ट के मुताबिक कार्डियक अरेस्ट रेस्पिरेटरी सिस्टम में दिक्कत के चलते उन्हें मेंदाता के क्रिटिकल केयर विभाग में एडमिट किया था. उम्र के चलते उनकी तबीयत ठीक होना मुश्किल था.  88 वर्ष की उम्र में जगदीश गांधी ने अंतिम श्वास ली है.

आज उनके स्कूल के छात्र और शिक्षक और अन्य कर्मचारी, सभी के आंखें नम हैं. परिवार वाले और सकूल के सभी लोग शोक मना रहे हैं. अपने जीवन में स्कूल को आगे ले जाने और हर बच्चे के भविष्य को संवारने के लिए जगदीश गांधी का बड़ा योगदान रहा है. सिटी मॉन्टेसरी स्कूल (सीएमएस) डॉ जगदीश गांधी और डॉ भारती गांधी ने 300 रुपये लेकर, 5 बच्चों के साथ 1959 में स्थापित किया.

सीएमएस काउंसिल फॉर इंडियन स्कूल सर्टिफिकेट एग्जामिनेशन (सीआईएससीई) से संबद्ध है. जगदीश गांधी ने केवल 5 बच्चों के साथ इस स्कूल की शुरुआत की थी औऱ आज यह दुनिया के बड़े स्कूलों में गिना जाता है. इस स्कूल के 55,547 छात्रों ने 2019-20 में वैश्विक पुरस्कार अपने नाम किया है.

जगदीश गांधी को मिल चुका है विज्ञान के छेत्र में पुरुस्कार

बता दें कि भारतीय शिक्षाविद् डॉ. जगदीश गांधी को ब्रिटेन की क्वीन्स यूनिवर्सिटी बेलफास्ट की चांसलर और पूर्व अमेरिकी विदेश मंत्री हिलेरी क्लिंटन द्वारा सामाजिक विज्ञान में डॉक्टरेट की मानद उपाधि से सम्मानित किया था. भारत के पूर्व राष्ट्रपति और भारत रत्न, डॉ ए. पी. जे. अब्दुल कलाम और इंफोसिस के संस्थापक श्री एन आर नारायणमूर्ति ने साल 2009 और 2014 में विश्वविद्यालय से यह प्रतिष्ठित सम्मान प्राप्त किया है. जगदीश गांधी यह सम्मान पाने वाले पहले भारतीय शिक्षाविद हैं.

 

साहसी पत्रकारिता को सपोर्ट करें,
आई वॉच इंडिया के संचालन में सहयोग करें। देश के बड़े मीडिया नेटवर्क को कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर इन्हें ख़ूब फ़ंडिग मिलती है। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें।

About I watch