Saturday , June 15 2024

क्रॉसिंग पर रोका, गाड़ी आगे लगाई और फिर… नफे सिंह राठी की कैसे सिद्धू मूसेवाला की तरह हत्या

क्रॉसिंग पर रोका, गाड़ी आगे लगाई और फिर... नफे सिंह राठी की कैसे सिद्धू मूसेवाला की तरह हत्याहरियाणा के झज्जर जिले में रविवार को इनेलो के प्रदेश अध्यक्ष नफे सिंह की राठी की हत्या से सनसनी फैल गई है। लंबे समय बाद हरियाणा में इस तरह की कोई जघन्य घटना हुई है, जिसने लोगों को हैरान कर दिया है। यही नहीं इस हत्याकांड ने पंजाबी सिंगर सिद्धू मूसावाला के मर्डर की भी याद दिला दी है। इसी तरह सिद्धू मूसेवाला की भी हत्या हुई थी और उन्हें गाड़ी का पीछा करके घेर लिया गया था। फिर ताबड़तोड़ गोलियां बरसाकर सिद्धू मूसेवाला को मार डाला गया था। कुछ ऐसा ही वाकया नफे सिंह राठी के साथ भी हुआ। इस हत्याकांड में 7 नामजद समेत 12 लोगों के खिलाफ 302, 307 और आर्म्स ऐक्ट के तहत केस दर्ज हुआ है।

वह एसयूवी से आ रहे थे और उनकी कार रेलवे क्रॉसिंग पर खड़ी थी क्योंकि ट्रेन को गुजरना था। इस दौरान उनका पीछा करते हुए आ रहे i20 कार सवारों ने उनके बगल में ही गाड़ी खड़ी कर दी। इसके बाद i20 से 5 बदमाश उतरे और नफे सिंह राठी की फॉर्च्यूनर पर ताबड़तोड़ फायरिंग शुरू कर दी। इसमें नफे सिंह राठी और उनके एक साथी की मौके पर ही मौत हो गई। इसके अलावा दो लोग गंभीर रूप से घायल हुए हैं। फिलहाल पुलिस को उस  i20 कार की तलाश है, जिसमें बदमाश सवार थे।

सीसीटीवी फुटेज में दिखी हमलावरों की कार, अहम थे 20 मिनट

बदमाश जिस कार में सवार थे, उसकी एक सीसीटीवी फुटेज भी सामने आ गई है। इस फुटेज में दिखता है कि कार पहले क्रॉसिंग की ओर जाती है और फिर 20 मिनट बाद वापस भी लौटती है। नफे सिंह राठी फॉर्च्यूनर में आगे ही बैठे थे और उनके भतीजे गाड़ी चला रहे थे। वहीं पीछे इंडियन नेशनल लोकदल के नेता जयकिशन दलाल बैठे थे। एक गनर भी पीछे ही बैठा था, जो नफे सिंह की सुरक्षा में तैनात था। पुलिस का कहना है कि बदमाशों ने कुल 20 राउंड फायरिंग की थी, जिनमें से ज्यादातर गोलियां नफे सिंह को ही निशाना बनाकर चलाई गईं।

इस मामले में जिन लोगों के खिलाफ केस दर्ज हुआ है, उनमें भाजपा नेता नरेश कौशिक शामिल हैं। इसके अलावा बहादुरगढ़ नगर निगम के चेयरमैन सरोज राठी के परिजन भी शामिल बताए जाते हैं। वरिष्ठ पुलिस अधिकारी अर्पित जैन ने कहा कि हमने 5 टीमों का गठन किया है। वहीं सीएम मनोहर लाल खट्टर ने घटना पर दुख जताते हुए कहा कि किसी भी दोषी को बख्शा नहीं जाएगा। हम तेजी से ऐक्शन लेंगे और आरोपियों को जल्दी ही दबोच लिया जाएगा। वहीं विपक्ष ने हरियाणा की कानून-व्यवस्था पर ही सवाल खड़े किए हैं।

लॉरेंस बिश्नोई पर शक, नफे सिंह की हत्या ही था मकसद

नफे सिंह राठी के कत्ल से खूंखार गैंगस्टर लॉरेंश बिश्नोई का नाम भी जुड़ रहा है। नफे सिंह राठी पर जिस तरह से गोलियां दागी गईं, उससे ऐसा लग रहा है कि बदमाशों का एक ही टारगेट था- नफे सिंह राठी का कत्ल। सूत्रों की मानें तो लॉरेंस ने जेल के अंदर से अपने गुर्गे काला जठेड़ी के माध्यम से इस हत्याकांड की पूरी पटकथा लिखी है। सूत्रों के अनुसार इस हत्याकांड के पीछे किसी प्रॉपर्टी विवाद होने की बात सामने आ रही है। हालांकि अब तक पुलिस ने इस पर कोई खुलासा नहीं किया है।

साहसी पत्रकारिता को सपोर्ट करें,
आई वॉच इंडिया के संचालन में सहयोग करें। देश के बड़े मीडिया नेटवर्क को कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर इन्हें ख़ूब फ़ंडिग मिलती है। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें।

About I watch