Friday , June 14 2024

Video: आम आदमी पार्टी के पार्षद को महिलाओं ने चप्पलों से पीटा, थाने में घुसकर बचाई जान, पिटाई की वजह कर देगी हैरान

आप पार्षद की पिटाईमध्य प्रदेश के श्योपुर में आम आदमी पार्टी के एक पार्षद को महिलाओं के समूह ने जमकर पीटा है। महिलाओं ने पार्षद पर आरोप लगाए कि वो भ्रष्टाचारी है और पीएम आवास के लिए मिलने वाले सरकारी पैसों में से 20 हजार रुपए की रिश्वत माँग रहा था। महिलाओं ने पार्षद को नगर पालिका कार्यालय के नीचे ही घेर लिया। महिलाओं ने बीच-बाजार में पार्षद की ऐसी पिटाई कि उसे अपनी जान बचाने के लिए थाने में भागना पड़ा। इसके बाद पुलिस ने महिलाओं के खिलाफ केस दर्ज किया है।

आज तक की रिपोर्ट के मुताबिक, ये मामला वार्ड नंबर 14 के पार्षद जुगल मेहरा से जुड़ा है। वो आम आदमी पार्टी की तरफ से चुनाव जीतकर पार्षद बने हैं। लेकिन महिलाओं का आरोप है कि जुगल मेहरा पीएम आवास योजना के तहत मिलने वाले पैसों में से 20 हजार की रिश्वत माँगता है। जिसमें 10 हजार रुपए पहले और 10 हजार रुपए काम होने के बाद।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, घटनाक्रम के मुताबिक शनिवार शाम को नगर पालिका में विकसित भारत संकल्प यात्रा का कार्यक्रम रखा गया था। इस कार्यक्रम में वार्ड 14 के पार्षद जुगल मेहरा भी पहुँचे थे, जिनपर महिलाओं ने पीएम आवास की किस्त दिलाने के एवज में रिश्वत माँगने का आरोप लगाया। और फिर उनकी पिटाई शुरू कर दी। सरे राह महिलाओं ने पार्षद के कुर्ते का काॅलर पकडकर खींच लिया और पहले चप्पलों से, फिर थप्पड़ जड़ कर पिटाई कर दी। इस दौरान वहाँ मौजूद लोगों ने बीच बचाव भी किया लेकिन महिलाओं से घिरे पार्षद ने कोतवाली थाने में भागकर अपनी जान छुड़ाई।

एक्स यूजर राकेश कुमार पटेल ने इस घटना का वीडियो शेयर किया है। उन्होंने लिखा, “श्योपुर नगरपालिका में AAP(आम आदमी पार्टी) के पार्षद की महिलाओं ने चप्पल से पिटाई कर दी। महिलाओं ने पार्षद पर पीएम आवास योजना की किश्त बैंक खाते में डलवाने के बदले रिश्वत माँगने का आरोप लगाया है।”

पार्षद की पिटाई की खबर मिलने के बाद नगर पालिका अध्यक्ष के पति सुजीत गर्ग और दूसरे पार्षद एवं पार्षद प्रतिनिधि भी कोतवाली पहुँच गए। एसडीओपी राजीव कुमार गुप्ता का कहना है कि मामले की जाँच शुरू कर दी गई है।

साहसी पत्रकारिता को सपोर्ट करें,
आई वॉच इंडिया के संचालन में सहयोग करें। देश के बड़े मीडिया नेटवर्क को कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर इन्हें ख़ूब फ़ंडिग मिलती है। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें।

About I watch