Thursday , June 20 2024

शिवराज सरकार में गृहमंत्री रहे नरोत्तम मिश्रा के बेटे पर पड़ गया छापा, रिसॉर्ट में रातभर तलाशी

शिवराज सरकार में गृहमंत्री रहे नरोत्तम मिश्रा के बेटे पर पड़ गया छापा, रिसॉर्ट में रातभर तलाशीमध्य प्रदेश के ग्वालियर में जीएसटी विभाग की टीम ने बड़ी कार्रवाई की है। ग्वालियर शहर के बाहरी इलाके नेशनल हाइवे के किनारे स्थित एक भव्य और विशाल रिसॉर्ट पर टीम ने छापा मारा और लगभग सोलह घंटे तक दस्तावेजों की जांच पड़ताल के साथ स्टाफ से पूछताछ की। सूत्रों के मुताबिक अब तक यहां डेढ़ से दो करोड़ रुपये की जीएसटी चोरी का पता लगा है। इस रिसॉर्ट के मालिकों में मध्यप्रदेश के कद्दावर भाजपा नेता और पूर्व गृहमन्त्री डॉ नरोत्तम मिश्रा के बेटे भी बताए जा रहे हैं।

बताया गया कि जीएसटी भोपाल से एक टीम कल 11 मार्च को सुबह ग्वालियर पहुंची थी। उसका मिशन पूरी तरह से गोपनीय रखा गया था। भोपाल से पहुंची टीम में ग्वालियर जीएसटी अफसरों को भी बुलाया और उन्हें बगैर टास्क बताए अपनी गाड़ियों में बिठाकर सीधे नेशनल हाइवे पर स्थित अंचल के सबसे भव्य, विशाल और बड़े इम्पीरियल गोल्फ रिसॉर्ट्स पर पहुंचे। अंदर पहुंचते ही सिरोल थाने से फोर्स भी मौके पर पहुंच गई। तलाशी रातभर चलती रही। एक टीम अभी भी रिसॉर्ट के अंदर बताई गई है।

बताया गया है कि यह रिसॉर्ट्स शहर के प्रमुख बिल्डर रोहित वाधवा और अंशुमन मिश्रा का है। अंशुमन मिश्रा मध्यप्रदेश के कद्दावर भाजपा नेता और शिवराज सिंह चौहान के मंत्रिमंडल में प्रभावी गृहमन्त्री रहे डॉ नरोत्तम मिश्रा के बेटे हैं। बताया गया कि जीएसटी टीम ने जांच के दौरान दोनो डायरेक्टर्स को भी बुला लिया था। हालांकि अभी इसकी पुष्टि नहीं हुई है।

सूत्रों की मानें तो जीएसटी टीम पहले से ही काफी होमवर्क करके गई थी इसलिए उसने प्राथमिक जांच पड़ताल के बाद ही लगभग डेढ़ से दो करोड़ रुपये की जीएसटी चोरी पकड़ ली है। अभी यहां मिले डॉक्युमेंट्स की जांच पड़ताल जारी है जिससे यह आंकड़ा और भी बढ़ने की संभावना है। इम्पीरियल गोल्फ रिसॉर्ट्स ग्वालियर से निकलने वाले दिल्ली नेशनल हाइवे पर नैनागिर गांव के पास झांसी बायपास पर स्थित है। सिरोल थाना क्षेत्र में स्थित यह रिसॉर्ट्स कई एकड़ भूभाग में फैला हुआ है। इसमें अनेक मैरीज हॉल के अलावा भव्य रेस्तरां और आलीशान कमरे है।

साहसी पत्रकारिता को सपोर्ट करें,
आई वॉच इंडिया के संचालन में सहयोग करें। देश के बड़े मीडिया नेटवर्क को कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर इन्हें ख़ूब फ़ंडिग मिलती है। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें।

About I watch