Friday , June 14 2024

दिल्ली के मेडिकल कॉलेज में प्रोफेसर सलीम शेख ने MBBS छात्राओं का किया यौन उत्पीड़न, 13 ने दर्ज कराई शिकायत: हिन्दू संगठन बोले- नहीं बनने देंगे संदेशखाली

मेडिकल कॉलेज यौन शोषणदिल्ली के रोहिणी इलाके में स्थित डॉ बाबा भीमराव अम्बेडकर हॉस्पिटल एंड मेडिकल कॉलेज में छेड़छाड़ का मामला सामने आया है। MBBS का कोर्स कर रहीं 13 छात्राओं ने प्रोफेसर सलीम शेख पर शारीरिक शोषण और यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया है। घटना 31 जनवरी 2024 की बताई जा रही है जब 2 छात्राओं ने सलीम के खिलाफ शिकायत दर्ज करवाई थी। महिला आयोग ने इस मामले का संज्ञान लिया है और कॉलेज के डॉयरेक्टर प्रिंसिपल को नोटिस जारी कर के 4 दिनों के अंदर जवाब माँगा है। मामले की जानकारी होने से लोगों में नाराजगी है। कॉलेज के बाहर सोमवार (18 मार्च) को हिन्दू संगठनों द्वारा प्रदर्शन किया गया है जिसको देखते हुए पुलिस तैनात कर दी गई है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक यह घटना दिल्ली के रोहिणी इलाके की है। यहाँ स्थित डॉ बाबा भीमराव अम्बेडकर हॉस्पिटल एंड मेडिकल कॉलेज में देश के कई हिस्सों से छात्र और छात्राएँ आ कर पढ़ाई करते हैं। इसी कॉलेज में सलीम शेख असिस्टेंट प्रोफेसर के तौर पर तैनात है। 31 जनवरी को एक एग्जाम का VIVA था जो कि सलीम शेख ले रहा था। आरोप है कि इसी VIVA (साक्षात्कार) में उसने 2 छात्राओं का यौन शोषण किया। कुछ समय तक तो यह बात दबी रही लेकिन धीरे-धीरे कुछ अन्य लड़कियाँ भी खुद को सलीम शेख के शारीरिक और यौन शोषण का शिकार बताने लगीं।

आखिरकार 22 फरवरी 2024 को असिस्टेंट प्रोफेसर सलीम शेख के खिलाफ पुलिस में शिकायत दी गई। बताया जा रहा है कि शिकायत पर 13 MBBS छात्राओं के हस्ताक्षर हैं। इस शिकायत के आधार पर दिल्ली के रोहिणी नार्थ थाने में FIR दर्ज हो गई। पीड़िताओं की माँग थी कि आरोपित प्रोफेसर पर जल्द से जल्द कार्रवाई हो। FIR के 20 दिन से अधिक बीत जाने के बाद मामले की जानकारी हिन्दू संगठनों को हुई तो उन्होंने कॉलेज का रुख किया। कॉलेज गेट पर सोमवार को जोरदार प्रदर्शन हुआ।

इस प्रदर्शन के दौरान सलीम शेख के साथ उसे बचा रहे कॉलेज प्रबंधन पर भी कार्रवाई की माँग की गई। प्रदर्शनकारियों में महिलाएँ ही शामिल थीं। प्रदर्शन में शामिल एक महिला ने कहा, “हम यह जगह संदेशखाली नहीं बनने देंगे।” हंगामे की वजह से कॉलेज के बाहर जा रही सड़क पर जाम लग गया। मामले की जानकारी मिलते ही मौके पर पुलिस बल पहुँचा। लोगों को समझा कर वापस भेजा गया। इस बीच महिला आयोग ने घटना का संज्ञान लिया है। आयोग ने डॉ भीमराव अम्बेडकर मेडिकल कॉलेज के डॉयरेक्टर प्रिंसिपल को नोटिस जारी कर के 4 दिनों के भीतर जवाब तलब किया है।

साहसी पत्रकारिता को सपोर्ट करें,
आई वॉच इंडिया के संचालन में सहयोग करें। देश के बड़े मीडिया नेटवर्क को कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर इन्हें ख़ूब फ़ंडिग मिलती है। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें।

About I watch