Monday , June 17 2024

‘मैंने दो बार चिट्ठी लिखी… मुझे उनके हाल पर दुख नहीं होता’, केजरीवाल की गिरफ्तारी पर बोले अन्ना हजारे

केजरीवाल और अन्ना हजारे (फाइल फोटो)दिल्ली के शराब घोटाले में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की मुश्किलें बढ़ती जा रहीं हैं. इस बीच सामाजिक कार्यकर्ता अन्ना हजारे ने केजरीवाल की गिरफ्तारी को लेकर बड़ा बयान दिया है. अन्ना हजारे ने कहा कि मुझे दुख होता है कि उन्होंने मेरी बात नहीं मानी.

अन्ना हजारे ने कहा कि केजरीवाल के मुख्यमंत्री बनने के बाद नई शराब नीति को लेकर मैंने उन्हें दो बार चिट्ठी लिखी थी. मुझे दुख होता है कि उन्होंने मेरी बात नहीं मानी और अब वो इसमें गिरफ्तार हो गए.

हजारे ने कहा कि जब केजरीवाल और मनीष सिसोदिया नए-नए हमारे साथ आए थे, तब मैंने कहा था कि हमेशा देश की भलाई के लिए काम करना. लेकिन उन्होंने इस बात को ध्यान में नहीं रखा.

उन्होंने कहा कि मैं अब उन्हें कोई सलाह नहीं दूंगा. कानून और सरकार को जो करना होगा वो करे.

बता दें कि दिल्ली की नई शराब नीति नवंबर 2021 में लागू हो गई थी. लेकिन शुरू से ही ये नीति विवादों में रही. बाद में दिल्ली के तत्कालीन मुख्य सचिव ने एलजी वीके सक्सेना को रिपोर्ट सौंपी, जिसमें शराब नीति में गड़बड़ी का आरोप लगाया गया. इस मामले में सीबीआई ने केस दर्ज किया. मनी लॉन्ड्रिंग की जांच के लिए ईडी ने भी केस दर्ज कर लिया.

दिल्ली के इस कथित शराब घोटाले में गिरफ्तार होने वाले केजरीवाल चौथे बड़े नेता हैं. उनसे पहले पिछले साल 26 फरवरी को मनीष सिसोदिया गिरफ्तार हुए थे. पिछले साल ही 4 अक्टूबर को ईडी ने आम आदमी पार्टी के राज्यसभा सांसद संजय सिंह को गिरफ्तार किया. फिर इसी महीने 15 मार्च को ईडी ने तेलंगाना के पूर्व सीएम केसीआर की बेटी के. कविता को भी गिरफ्तार कर लिया.

फिलहाल केजरीवाल ईडी की कस्टडी में हैं. उन्हें पीएमएलए कोर्ट में पेश करने की तैयारी है. इस बीच केजरीवाल के वकीलों ने उनकी गिरफ्तारी को चुनौती देते हुए सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की थी. लेकिन अब उन्होंने ये याचिका वापस ले ली है. केजरीवाल के वकील अभिषेक मनु सिंघवी ने कोर्ट को बताया कि केजरीवाल की रिमांड और सुप्रीम कोर्ट के समक्ष उनकी याचिका एक दूसरे से क्लैश कर रही थी, इसलिए हमने याचिका वापस लेने का फैसला किया.

साहसी पत्रकारिता को सपोर्ट करें,
आई वॉच इंडिया के संचालन में सहयोग करें। देश के बड़े मीडिया नेटवर्क को कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर इन्हें ख़ूब फ़ंडिग मिलती है। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें।

About I watch