Tuesday , June 25 2024

कर्नाटक में कॉन्ग्रेस के 5 MLA+2 MLC ‘बागी’, कहा- नहीं कर सकते परिवार की गुलामी: मंत्रियों-नेताओं के नजदीकियों को टिकट से पैदा हुआ असंतोष

कॉन्ग्रेसलोकसभा चुनाव के लिए कॉन्ग्रेस ने उम्मीदवारों की घोषणा कर दी है, जिसके बाद कॉन्ग्रेस के विधायकों और एमएलसी ने बगावत के झंडे उठा लिए हैं। कर्नाटक कॉन्ग्रेस में बगावत तेज हो गई है। पार्टी के 5 विधायक और 2 एमएलसी ने बगावत का झंडा बुलंद किया है और कहा है कि एक ही परिवार की गुलामी नहीं की जाएगी। पाँच विधायकों में मौजूदा मंत्री एमसी सुधाकर भी शामिल हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि पार्टी आलाकमान ने उनकी बातें सुनी लेकिन मांगों पर ध्यान नहीं दिया।

कर्नाटर सरकार के मंत्री एमसी सुधाकर ने कहा, “हम चाहते हैं कि पार्टी में अन्य लोगों को भी टिकट मिले। हम सीएम सिद्दारमैया से भी बात करेंगे। हम मुनियप्पा के काम करने के तरीके से सहमत नहीं है। हमें लगता है कि हमारी लोकसभा सीट से अनुसूचित जाति समुदाय को सही प्रतिनिधित्व नहीं मिल रहा है। हम उनके परिवार के अलावा किसी अन्य को उम्मीदवार के तौर पर देखना चाहते हैं।” वहीं, मुनियप्पा ने कहा कि वो पार्टी हाई कमान के आदेश के अनुसार ही काम करेंगे।

पाँच विधायकों, 2 MLC ने की बगावत

लोकसभा चुनाव 2024 के लिए कॉग्रेस ने कर्नाटक के खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति मंत्री केएच मुनियप्पा के दामाद को टिकट दे दिया। कॉन्ग्रेस ने कोलार लोकसभा क्षेत्र से जैसे ही टिकट की घोषणा की, वैसे ही इन विधायकों ने विधानसभा अध्यक्ष से मुलाकात की और इस्तीफे की धमकी। इन बागी में मौजूदा मंत्री एमसी सुधाकर भी हैं। उन्होंने कहा कि पार्टी हाईकमान ने उनकी बातों को सुना जरूर, लेकिन माँगों पर ध्यान नहीं दिया। बता दें कि कर्नाटक के लिए कॉन्ग्रेस ने 21 मार्च को उम्मीदवारों की घोषणा की थी, जिसके बाद बागी नेताओं की संख्या बढ़ती जा रही है।

दरअसल, कॉन्ग्रेस ने राष्ट्रीय अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे के दामाद और 5 अन्य मंत्रियों के बच्चों को टिकट दिया है। ऐसे कम से कम 14 उम्मीद हैं, जो पार्टी के वरिष्ठ नेताओं के नदजीकी हैं। इसमें खान एवं भूविज्ञान मंत्री एसएस मल्लिकार्जुन की पत्नी प्रभा मल्लिकार्जुन को दावणगेरे से मैदान में उतारा है, तो गन्ना और कपड़ा मंत्री शिवानंद पाटिल की बेटी संयुक्ता पाटिल को बागलकोट से टिकट दिया गया है।

महिला एवं बाल कल्याण मंत्री लक्ष्मी हेब्बालकर के बेटे मृणा हेब्बालकर बेलगावी से चुनाव लड़ रहे हैं, जबकि उनके भाई चन्नराज हट्टिहोली कॉन्ग्रेस एमएलसी हैं। लोक निर्माण मंत्री सतीश जारकीहोली की बेटी प्रियंका जारकीहोली को चिक्कोडी से मैदान में उतारा गया है, जबकि परिवहन मंत्री रामलिंगा रेड्डी की बेटी और पूर्व विधायक सौम्या रेड्डी बेंगलुरु दक्षिण से चुनाव लड़ रही हैं। वन, पारिस्थितिकी और पर्यावरण मंत्री ईश्वर खंड्रे के बेटे सागर खंड्रे को बीदर से मैदान में उतारा गया है। बता दें कि कर्नाटक की 28 लोकसभा सीटों के लिए दो चरणों में 26 अप्रैल और 7 मई को मतदान होगा।

साहसी पत्रकारिता को सपोर्ट करें,
आई वॉच इंडिया के संचालन में सहयोग करें। देश के बड़े मीडिया नेटवर्क को कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर इन्हें ख़ूब फ़ंडिग मिलती है। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें।

About I watch