Saturday , June 15 2024

महुआ कांड में आया नाम, मोइत्रा के लिए गए कोर्ट… अब पुरी से पिनाकी मिश्रा को BJD ने किया बेटिकट: 4 बार के थे सांसद, संबित पात्रा के सामने अरूप पटनायक

महुआ मोइत्रा पिनाकीओडिशा के सत्ताधारी बीजू जनता दल (BJD) ने पुरी लोकसभा सीट से चार बार के सांसद पिनाकी मिश्रा का टिकट काट दिया है। नई लिस्ट में उनकी जगह पर अरूप पटनायक को टिकट दिया गया है। बताया जा रहा है कि उनके टिकट के पीछे संसद से निष्कासित पूर्व TMC सांसद महुआ मोइत्रा से उनकी नजदीकी हो सकती है। मिश्रा का नाम बुधवार (27 मार्च, 2024) को जारी गई पार्टी की लोकसभा सूची से गायब था। पुरी के नए प्रत्याशी पटनायक का मुकाबला भाजपा के प्रवक्ता संबित पात्रा से होगा।

BJD ने बुधवार को ही पहली सूची भी जारी की थी। इसमें कालाहांडी से लंबोदर नियाल, संबलपुर से प्रणब प्रकाश दास, सुंदरगढ़ से लिए दिलीप तिर्की, मयूरभंज से लिए सुदाम मरांडी, केंद्रपाड़ा से अंसुमान मोहंती, नबरंगपुर से प्रदीप कुमार माझी, भुवनेश्वर से मनमथ राउतराय, कोरापुट से कौशल्या हिकाका और अक्सा असका से रंजीता को टिकट दिया गया। दूसरी सूची में, पुरी से अरूप पटनायक, जाजपुर से शर्मिष्ठा सेठी, जगतसिंहपुर से राजश्री मल्लिक, धेकनाल से अविनाश समल, कंधमाल से अच्युतानंद सामंत और कटक से संतरूप मिश्रा को उतारा गया।

‘महुआगेट’ में था पिनाकी मिश्रा का नाम

गौरतलब है कि पिनाकी मिश्रा का नाम महुआ से सम्बन्धित कदाचार के मामले में सामने आया था। दुबई में रहने वाले भारतीय कारोबारी ने एक पत्र लिख कर महुआ को गिफ्ट और पैसे देने की बात स्वीकारी थी। उन्होंने इसी पत्र में बताया था कि महुआ के विपक्षी नेताओं जैसे कि शशि थरूर, पिनाकी मिश्रा और राहुल गाँधी से बहुत अच्छे संबंध थे।

हीरानंदानी ने कहा था उनकी सोच थी कि वह विपक्षी नेताओं का समर्थन पाने के लिए महुआ के रसूख का इस्तेमाल कर सकते हैं। उन्होंने कहा था कि इसी कारण से उन्होंने महुआ को महंगे गिफ्ट दिए और उनकी बाकी माँगे भी पूरी करते रहे। उन्होंने लिखा था कि महुआ को उन्होंने लक्ज़री गिफ्ट दी और उनके आवास के नवीकरण में मदद की। हीरानंदानी ने कहा था कि उन्होंने महुआ के लिए भारत के भीतर और दुनिया के भीतर यात्रा के लिए इंतजाम भी किए।

पिनाकी मिश्रा पुरी से चार बार के सांसद हैं। इस मामले में उनका नाम आने पर भाजपा ने मुख्यमंत्री और BJD अध्यक्ष नवीन पटनायक सफाई देने को कहा था। हालाँकि, पिनाकी ने इन आरोपों को खारिज करते हुए भाजपा ओडिशा को कानूनी कार्रवाई की चेतावनी दी भी थी। उन्होंने इस मामले पर कहा था, “यह बड़ी दुर्भाग्यशाली है कि जनता के बीच चल रहे एक बिना सिद्ध हुए मामले को लेकर ओडिशा भाजपा ने मुझ पर इतने गंभीर आरोप लगाए हैं।”

हालाँकि, ध्यान देने वाली यह है कि सुप्रीम कोर्ट के वकील मिश्रा ने इस मामले में महुआ मोइत्रा की तरफ से केस लड़ा था। पिनाकी ने इस मामले में कोर्ट से कहा था कि संसद से निकाले जाने के बाद महुआ को दिल्ली स्थित सरकारी बंगले में उन्हें रहने दिया जाए।

महुआ मोइत्रा के खिलाफ कैश-फॉर-क्वेरी घोटाले का आरोप लगाने वाले सुप्रीम कोर्ट के वकील जय अनंत देहाद्राई ने एक पोस्ट में यहाँ तक ​​कहा था कि महुआ मोइत्रा को जब सरकारी बंगला खाली करने को कहा गया तब वह मिश्रा के साथ ‘रहने’ लगी।

महुआ पिनाकी मिश्रा

गौरतलब है कि दर्शन हीरानंदानी से पैसे और गिफ्ट लेकर प्रश्न पूछने के मामले में महुआ मोइत्रा को संसद की आचार समिति ने दोषी पाया था। इस मामले में उन पर यह भी आरोप था कि उन्होंने अपना संसद पोर्टल का आईडी पासवर्ड हीरानंदानी को दिया। इसके बाद उन्हें दिसम्बर 2023 में उन्हें संसद से निकाल दिया गया था।

साहसी पत्रकारिता को सपोर्ट करें,
आई वॉच इंडिया के संचालन में सहयोग करें। देश के बड़े मीडिया नेटवर्क को कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर इन्हें ख़ूब फ़ंडिग मिलती है। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें।

About I watch