Friday , June 14 2024

एक पेन ड्राइव, 2976 वीडियो और बेशर्मी का खेल… जिस सेक्स स्कैंडल में फंसे हैं पूर्व पीएम के पोते रेवन्ना उसकी हर एक डिटेल

यौन शोषण के इल्जाम रेवन्ना पर ही नहीं, उनके पिता पर भी हैंपूर्व प्रधानमंत्री और जद (एस) के अध्यक्ष एचडी देवेगौड़ा के पोते प्रज्वल रेवन्ना विवादों में आए गए हैं. विवाद भी मामूली नहीं है. दरअसल, प्रज्वल के कुछ आपत्तिजनक वीडियो सोशल वीडियो पर वायरल हो गए. ये सभी आपत्तिजनक और अश्लील वीडियो हैं. जिन्होंने कर्नाटक की सिसायत को गर्मा दिया है. इन वीडियोज़ में कथित तौर पर प्रज्वल ही दिखाई दे रहे हैं. इल्जाम है कि जनता दल (सेक्युलर) के सांसद प्रज्वल रेवन्ना ने इन वीडियो के जरिए महिलाओं को ब्लैकमेल किया और उनका यौन उत्पीड़न किया.

घर की नौकरानी ने किया पर्दाफाश
ये पूरा मामला खुलकर सामने नहीं आता, अगर एक 47 साल की महिला इस पूरे मामले का पर्दाफाश नहीं करती. वो महिला कोई और नहीं बल्कि सांसद प्रज्वल रेवन्ना के घर में काम करने वाली मेड है. उस महिला ने प्रज्वल रेवन्ना ही नहीं, बल्कि उनके पिता और होलेनरासीपुर के विधायक एचडी रेवन्ना पर भी यौन उत्पीड़न के संगीन इल्जाम लगाए हैं. महिला ने अपनी शिकायत में पुलिस को बताया कि जॉइनिंग के चार महीने बाद रेवन्ना उसे अपने कमरे में बुलाने लगे. घर में कुल छह महिला कर्मचारी थीं और सभी बहुत घबराती थीं. उनका कहना था कि जब प्रज्वल रेवन्ना घर आते हैं, तो उन सभी को डर लगता है. घर के पुरुष स्टाफ ने भी महिला स्टाफ को उनसे संभल कर रहने के लिए कहा था.

मेड की बेटी को भी नहीं छोड़ा
देवेगौड़ा परिवार की नौकरानी ने आगे बताया कि जब भी (एचडी) रेवन्ना की पत्नी घर से बाहर जाती थी. तो वह घर की महिला कर्मचारियों को स्टोर रूम में बुलाकर उन्हें पहले फल दिया करते थे. फिर उन्हें छूते थे. वो उनकी साड़ी की पिन हटा दिया करते थे और उनका यौन उत्पीड़न करते थे. शिकायतकर्ता महिला ने यह भी दावा किया कि प्रज्वल रेवन्ना ने उसकी बेटी के साथ छेड़खानी करने की कोशिश की, जिसके बाद रेवन्ना ने उसका नंबर ब्लॉक कर दिया था.

एसआईटी करेगी पूरे मामले की जांच
महिला कर्मचारी की शिकायत मिलने के बाद पुलिस फौरन हरकत में आ गई और तहरीर के आधार पर पुलिस ने आईपीसी की धारा 354ए, 354डी, 506 और 509 के तहत FIR दर्ज कर ली है. अब इस मामले में तफ्तीश की जा रही है. मामले के तूल पकड़ने के बाद कर्नाटक की कांग्रेस नेतृत्व वाली सरकार ने इस केस की जांच के लिए एक विशेष जांच दल (SIT) का गठन किया है. शिकायत करने वाली महिला उनके घर काम कर चुकी एक कुक है. उसी ने इस मामले में कर्नाटक के हासन के होलेनरासीपुर थाने में ये केस दर्ज कराया है.

रेवन्ना की पत्नी की रिश्तेदार भी है पीड़िता
शिकायतकर्ता के मुताबिक, वो रेवन्ना की पत्नी भवानी की रिश्तेदार है. उसने आरोप लगाया कि उनके घर काम शुरू करने के चार महीने बाद ही एच डी रेवन्ना ने उसका यौन उत्पीड़न करना शुरू कर दिया. उनका बेटा प्रज्वल रेवन्ना उसकी बेटी को वीडियो कॉल करके उसके साथ अश्लील बातचीत करता था. रेवन्ना परिवार में कुक का काम कर चुकी पीड़िता ने यह भी आरोप लगाया कि जब भी एचडी रेवन्ना की पत्नी घर से बाहर जाती, तो वो महिला कर्मचारियों का यौन शोषण करते थे.

मंत्री ने कहा- बीजेपी के पदाधिकारियों से भी मिले पत्र
सोमवार को कर्नाटक के राज्य मंत्री प्रियांक खड़गे ने इस मामले पर कहा कि हासन के सांसद का इतिहास ऐसा है कि उन्हें बीजेपी पदाधिकारियों से पत्र मिल रहे थे. जिनके मुताबिक, ऐसे हजारों पीड़ित हैं, जिनके साथ हासन सांसद ने दुर्व्यवहार किया है. फिर भी वे गठबंधन में गए और उन्हें टिकट दे दिया गया.

बीजेपी नेता ने पार्टी अध्यक्ष को लिखा पत्र

असल में 33 साल के प्रज्वल इस चुनाव में दूसरी बार हासन सीट से जेडीएस उम्मीदवार हैं. जद (एस) सितंबर 2023 में एनडीए में शामिल हो गया था. अब कर्नाटक में जेडीएस और बीजेपी का गठबंधन हो गया. लेकिन करीब 3 महीने बाद कर्नाटक बीजेपी के नेता देवराजे गौड़ा ने 8 दिसंबर, 2023 को अपनी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष बीवाई विजयेंद्र को एक खत लिखा. जिसमे कहा गया कि प्रज्वल रेवन्ना समेत एचडी देवेगौड़ा परिवार के कई सदस्यों पर गंभीर इल्जाम हैं और जद (एस) के साथ हम गठबंधन में हैं.

नेताओं को मिली पेनड्राइव! 
देवराजे गौड़ा ने अपने खत में लिखा कि उन्हें एक पेन ड्राइव मिली है. जिसमें कुल 2,976 वीडियो हैं. जिनमें सभी आपत्तिजनक और अश्लील दिखाई हैं. वीडियो में कुछ महिलाएं दिख रही हैं, जो सरकारी अधिकारी हैं. इन वीडियो का इस्तेमाल उन महिलाओं को ब्लैकमेल करके उनका यौन उत्पीड़न करने के लिए किया जा रहा है. बीजेपी नेता ने आगे दावा किया था कि इन वीडियो और तस्वीरों वाली एक और पेन ड्राइव कांग्रेस के राष्ट्रीय नेताओं तक पहुंच गई है.

देवराजे ने पार्टी को चेताया

बीजेपी नेता ने अपने लैटर में लिखा कि अगर वे जद (एस) के साथ गठबंधन जारी रखते हैं और अगर लोकसभा चुनाव के लिए हासन सीट पर जद (एस) उम्मीदवार को उतारते हैं, तो ये वीडियो एक विनाशकारी हथियार की तरह इस्तेमाल किए जा सकते हैं. उनकी ऐसी पार्टी पर एक बलात्कारी के परिवार के साथ गठबंधन करने दाग लग जाएगा. देवराजे ने अपने पत्र में लिखा कि अगर ऐसा होता है तो यह राष्ट्रीय स्तर पर उनकी पार्टी की छवि के लिए एक बड़ा झटका होगा.

JD (S) विधायक ने भी लिखा खत
ये कहानी सिर्फ बीजेपी नेता के पत्र तक सीमित नहीं, बल्कि यह मामला बढ़ने पर रविवार को जद (एस) के विधायक शरणगौड़ा कांडकुर ने भी अपनी पार्टी के अध्यक्ष एचडी देवेगौड़ा को एक खत लिख डाला. उन्होंने फौरन प्रज्वल रेवन्ना को पार्टी से निष्कासित करने की अपील कर डाली. कांडकुर ने अपने खत में लिखा कि इस मामले से पार्टी को शर्मिंदगी उठानी पड़ रही है. पिछले कुछ दिन से यौन शोषण के वीडियो राज्यभर में वायरल हो रहे हैं, जिससे पार्टी को भारी शर्मिंदगी का सामना करना पड़ रहा है.

विदेश चले गए प्रज्वल

अब सूत्रों के हवाले से पता चला है कि रेवन्ना कथित तौर पर रविवार को बेंगलुरु से जर्मनी के शहर फ्रैंकफर्ट के लिए रवाना हो गए हैं. हालांकि उन्होंने इससे पहले इस मामले को उनके खिलाफ साजिश करार दिया है. उन्होंने माना कि जो वीडियो वायरल हो रहे हैं, वो 4-5 साल पुराने हैं. उन्होंने इन वीडियो के साथ छेड़छाड़ या गड़बड़ी होने की बात नहीं कही.

प्रज्वल को वापस लाने की जरूरत
शिवसेना (यूबीटी) नेता प्रियंका चतुर्वेदी ने सोमवार को ट्वीट किया कि प्रज्वल रेवन्ना की उम्मीदवारी रद्द की जानी चाहिए और उनके क्षेत्र में नए सिरे से चुनाव कराया जाना चाहिए. उन्होंने कहा, कानून का सामना करने के लिए उसे जर्मनी से वापस लाने की जरूरत है. यह इन महिलाओं के लिए न्याय का हिस्सा होगा.

शिवसेना उद्धव गुट ने भाजपा पर साधा निशाना
रविवार रात को एक अलग ट्वीट में चतुर्वेदी ने कहा, सांसद प्रज्वल रेवन्ना पर कई महिलाओं से यौन शोषण करने और उनका वीडियो बनाने के मामले में राष्ट्रीय महिला आयोग की अध्यक्ष रेखा शर्मा और केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी और अमित शाह की चुप्पी से हैरानी होती है. उन्होंने सवाल किया, मैं उनके पारिवारिक नेटवर्क में भी नहीं जाना चाहूंगी लेकिन एक मौजूदा सांसद और भाजपा के सहयोगी के रूप में उन्होंने अभी तक संबंध क्यों नहीं तोड़े हैं.

साहसी पत्रकारिता को सपोर्ट करें,
आई वॉच इंडिया के संचालन में सहयोग करें। देश के बड़े मीडिया नेटवर्क को कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर इन्हें ख़ूब फ़ंडिग मिलती है। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें।

About I watch