Saturday , June 15 2024

काल भैरव से अनुमति ले PM मोदी ने लगातार तीसरी बार वाराणसी से भरा पर्चा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गणेश्वर शास्त्री, योगी आदित्यनाथ, वाराणसी, नॉमिनेशनराम मंदिर का मुहूर्त निकालने वाले गणेश शास्त्री भी बने प्रस्तावक, NDA दिग्गजों का जमघट

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उत्तर प्रदेश के वाराणसी से लगातार तीसरी बार बतौर लोकसभा उम्मीदवार पर्चा भरा है। मंगलवार (14 मई, 2024) को इस मौके पर कई राज्यों के मुख्यमंत्री, केंद्रीय मंत्री और यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ भी उनके साथ मौजूद रहे। वाराणसी के जिला निर्वाचन अधिकारी एवं DM एस राजलिंगम के समक्ष पर्चा दाखिल किया। कलेक्ट्रेट परिसर में नॉमिनेशन के बाद वो सीधे कॉन्वेंशन सेंटर ‘रुद्राक्ष’ पहुँचे, जहाँ उन्होंने भाजपा कार्यकर्ताओं के साथ बैठक की।

पीएम मोदी ने गंगा सप्तमी के दिन नॉमिनेशन दाखिल किया है, साथ ही इस दिन राज पुष्य नक्षत्र का योग भी है। उससे पहले उन्होंने बाबा कालभैरव की पूजा-अर्चना की। दशाश्वमेध घाट पर उन्होंने माँ गंगा की भी पूजा की। वो क्रूज पर सवार होकर नमो घाट पहुँचे थे। गर्मी के बावजूद समाहरणालय के सामने बड़ी संख्या में लोग जुटे। BJP अध्यक्ष JP नड्डा और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह भी इस दौरान उनके साथ रहे। 1 दिन पहले ही वाराणसी में उन्होंने भव्य रोडशो किया था।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रस्तावकों में गणेश्वर शास्त्री, वैजनाथ पटेल, लालचंद कुशवाहा और संजय सोनकर का नाम तय किया गया था। जहाँ गणेश्वर शास्त्री द्रविड़ ब्राह्मण हैं और अयोध्या में राम मंदिर की प्राण-प्रतिष्ठा का मुहूर्त उन्होंने ही निकाला था और साथ ही समारोह में मुख्य पुजारी भी थे। सेवापुरी हरसोस गाँव के निवासी और जनसंघ के जमाने से कार्यकर्ता वैजनाथ पटेल व लालचंद कुशवाहा OBC समाज से आते हैं, जबकि संजय सोनकर दलित समुदाय से हैं।

पीएम मोदी के वाराणसी का रोडशो ढाई घंटे चला था और इसमें 5 लाख लोगों ने हिस्सा लिया। नॉमिनेशन के दौरान LJP (रामविलास) के चिराग पासवान, TDP के चंद्रबाबू नायडू, जनसेना नेता व सुपरस्टार पवन कल्याण, शिवसेना (BT) नेता व महाराष्ट्र के CM एकनाथ शिंदे और महाराष्ट्र की ही ‘रिपब्लिकन पार्टी’ के नेता रामदास अठावले के अलावा RLD के जयंत चौधरी भी शामिल हुए। केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और RLSP के ओमप्रकाश राजभर भी वहाँ मौजूद रहे।

साहसी पत्रकारिता को सपोर्ट करें,
आई वॉच इंडिया के संचालन में सहयोग करें। देश के बड़े मीडिया नेटवर्क को कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर इन्हें ख़ूब फ़ंडिग मिलती है। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें।

About I watch