Tuesday , July 23 2024

असम कांग्रेस अध्यक्ष ने ‘गृह युद्ध’ वाले बयान के लिए ममता बनर्जी को आड़े हाथों लिया

नई दिल्ली। एनआरसी के मुद्दे पर ममता बनर्जी भले ही आक्रामक हैं, लेकिन अब विपक्ष से ही उनके बयानों पर सवाल उठने लगे हैं. असम कांग्रेस के अध्यक्ष रिपुन बोरा ने कहा है कि ममता बनर्जी एक राज्य की मुख्यमंत्री हैं और उन्हें ऐसा कोई बयान नहीं देना चाहिए जिससे उनके राज्य में या फिर देश के अन्य हिस्सों में तनाव बढ़े.

रिपुन बोरा ने कहा, ‘मुख्यमंत्री होने के नाते ममता बनर्जी को गृह युद्ध भड़काने वाले बयान नहीं देने चाहिए. हम इस बयान की निंदा करते हैं.’ उन्होंने कहा कि ममता बनर्जी के ऐसे बयानों का असम में कोई असर नहीं होगा क्योंकि वहां हालात पूरी तरह शांतिपूर्ण हैं.

खबर है कि ममता बनर्जी आज कांग्रेस की वरिष्ठ नेता सोनिया गांधी से मुलाकात कर सकती हैं. इस दौरान वो विपक्षी दलों की एकता को लेकर बात करेंगे तथा उन्हें 19 जनवरी को कोलकाता में होने वाली अपनी रैली के लिए आमंत्रित भी करेंगी.

इससे पहले ममता बनर्जी ने गृह मंत्री राजनाथ सिंह से मिलने के बाद कहा था, ‘मैंने उनसे (राजनाथ सिंह) एनआरसी बिल में संशोधन करने या नया बिल लाने के लिए कहा. उन्होंने मुझे भरोसा दिलाया है कि लोगों को परेशान नहीं किया जाएगा.’ उन्होंने आगे बताया, ‘मैंने उनसे इस रिपोर्ट के बारे में भी बात की कि एनआरसी को बंगाल में भी लागू किया जाएगा. मैंने उनसे कहा कि अगर ऐसा कुछ हुआ तो गृह युद्ध छिड़ सकता है.’

उन्होंने आरोप लगाया कि असम में नेशनन रजिस्टर ऑफ सिटिजंस (एनआरसी) को राजनीतिक मकसद से लोगों को बांटने के लिए लाया गया है. उन्होंने चेतावनी दी कि इससे देश में खूनखराबा और गृह युद्ध की स्थिति छिड़ सकती है.

साहसी पत्रकारिता को सपोर्ट करें,
आई वॉच इंडिया के संचालन में सहयोग करें। देश के बड़े मीडिया नेटवर्क को कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर इन्हें ख़ूब फ़ंडिग मिलती है। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें।

About admin