Monday , July 15 2024

राज्यसभा उपसभापति चुनाव: NDA के लिए मुश्किल, अकाली दल वोटिंग से रह सकती है दूर

नई दिल्ली। राज्यसभा उपसभापति चुनाव के लिए सत्तारूढ़ एनडीए ने उम्मीदवार के नाम तय कर लिए हैं तो वहीं विपक्षी दल आज नामों पर अंतिम मुहर लगा सकती है. राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) ने नीतीश कुमार की पार्टी जनता दल (युनाइटेड) के सांसद हरिवंश को राज्यसभा के उपसभापति के लिए उम्मीदवार बनाया है. हालांकि इसकी आधिकारिक घोषणा नहीं हुई है. इस बीच एनडीए की अहम सहयोगी शिरोमणि अकाली दल (शिअद) ने पूर्व पत्रकार हरिवंश के नाम पर एतरात जताया है. पार्टी चुनाव में अपना उम्मीदवार चाहती है.

सूत्रों के मुताबिक, बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने हरिवंश के नाम पर सहमति के लिए शिरोमणी अकाली दल अध्यक्ष और पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल से खुद बात की है. सूत्रों ने कहा कि अकाली दल उपसभापति चुनाव में वोटिंग के वक्त अनुपस्थित रह सकती है. पहली बार होगा जब अकाली दल एनडीए के साथ वोट नहीं करेगी. राज्यसभा में पार्टी के तीन सांसद हैं. ध्यान रहे की शिवसेना भी बीजेपी से नाराज चल रही है. अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा और वोटिंग के दौरान भी दूर रही थी. शिवसेना के पास राज्यसभा में तीन सीटें हैं. अब पार्टी क्या स्टैंड लेती है यह देखना दिलचस्प होगा.

अकाली और शिवसेना अगर एनडीए के पक्ष में वोट नहीं करती है तो उसके लिए चुनाव जीतना मुश्किल होगा. उच्च सदन में एनडीए के पास बहुमत नहीं है. उपसभापति पद का चुनाव कड़ा होगा, क्योंकि विपक्षी खेमे के पास बीजेपी नेतृत्व वाले एनडीए से संख्या बल अधिक है. चुनाव परिणाम बीजेडी, एआईएडीएमके, तेलंगाना राष्ट्र समिति और वाईएसआर कांग्रेस जैसी पार्टियों के रुख पर निर्भर करेगा, जो खास परिस्थितियों में सरकार के साथ गठजोड़ कर सकती हैं. विपक्षी सूत्रों ने कहा है कि 35 तटस्थ सदस्य हैं और परिणाम इन्हीं पर निर्भर करेगा.

राज्यसभा में वर्तमान में 244 सांसद ही वोट करने की स्थिति में हैं. ऐसे में किसी भी दल को जीतने के लिए 123 सीटें मिलनी जरूरी हो जाती हैं. वर्तमान में राज्यसभा में एनडीए के पास 115 सीटें हैं, जिनमें सबसे ज्यादा बीजेपी के पास 73 सीटें हैं. वहीं यूपीए के पास 113 सीटें हैं. जिनमें कांग्रेस के पास सबसे ज्यादा 50 सीटें हैं. एआईएडीएमके के 13, जेडीयू के 6, 6 निर्दलीय और 7 नामांकित सांसद शामिल हैं. उपसभापति के इस बेहद महत्वपूर्ण चुनाव में पूर्वी भारत की पार्टी बीजेडी की भूमिका अहम रहेगी. पार्टी के पास 9 सांसद हैं.

हरिवंश ने कहा- हां मुझे उम्मीदवार बनाया है
हरिवंश कल खुद कहा कि वह सत्ताधारी गठबंधन के उम्मीदवार हैं. हरिवंश पहली बार राज्यसभा के सदस्य बने हैं. उन्होंने कहा, “मुझे मीडिया से पता चला है कि राज्यसभा उपसभापति पद के लिए मैं राजग का उम्मीदवार हूं. मैं राजग के दलों के प्रति अपना आभार प्रकट करता हूं. मुझे आशा है कि मैं सफल होऊंगा.” उन्होंने कहा, “मैं एनडीए उम्मीदवार हूं और इस बार काफी समर्थन होगा.”

साहसी पत्रकारिता को सपोर्ट करें,
आई वॉच इंडिया के संचालन में सहयोग करें। देश के बड़े मीडिया नेटवर्क को कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर इन्हें ख़ूब फ़ंडिग मिलती है। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें।

About admin