Saturday , July 20 2024

राेहतक कोर्ट में प्रेम विवाह करने वाली लड़की को गाेलियाें से भूना, एसअाइ भी मारा गया

रोहतक। सरकार द्वारा कानून व्यवस्था चाक चौबंद करने का दावा तो किया जाता है लेकिन जमीन पर इसका असर कहीं नहीं दिख रहा है। बेखौफ बदमाश किसी भी वारदात को सहज रूप से अंजाम देकर निकल जाते हैं। देश की राजधानी दिल्ली से सटे हरियाणा राज्य के रोहतक में ऑनर किलिंग का मामाला सामने आया है। यहां जिला कोर्ट परिसर में दिनदहाड़े फायरिंग से हड़कंप मच गया। बाइक पर आए युवकों द्वारा की गई इस फायरिंग में पिछले दिनों घर से भाग कर प्रेमी के साथ शादी रचाने वाली लड़की और एक पुलिसकर्मी की मौत हो गई। इसे ऑनर किलिंग का मामला बताया जा रहा है। लड़की को करनाल नारी निकेतन से यहां कोर्ट में पेशी के लिए लाया गया था। उसका प्रेमी और प्रेमी का पिता सुनारिया जेल में बंद हैं। घटना में मारा गया एसआइ लड़की को अदालत में पेश करने लाया था।

जानकारी के अनुसार, लड़की ममता को करनाल के नारी निकेतन से अदालत में पेशी के लिए एसआइ नरेंद्र और एक हेडकांस्‍टेबल लेकर आए थे। कोर्ट में लड़की का बयान दर्ज किए जाने के बाद दोनों पुलिसकर्मी उसे वापस करनाल ले जाने के लिए कोर्ट परिसर से निकले थे।

                                                                                                घटना के बाद जांच करती पुलिस।

ममता अपनी सास सरोज और देवर टिंकू उर्फ दिनेश के साथ कोर्ट से पैदल ही बस स्टैंड की ओर जा रही थी। उनके साथ सुरक्षा में तैनात एसआइ नरेंद्र और महिला हेड कांस्टेबल सुशील भी थी। नरेंद्र और सुशील ही उसे रोडवेज बस में रोहतक लेकर आए थे। सास सरोज और देवर टिंकू उर्फ दिनेश ममता से मिले कोर्ट पहुंचे थे।

पांचों लोग सिविल लाइंस थाने के पास से गुजर रहे थे कि पीछे से आए बाइक सवार हमलावरों ने ममता को गोली मार दी। एसआइ नरेंद्र ने अपनी रिवॉल्वर निकालने का प्रयास किया तो हमलावरों ने तीन गोलियां उसकी गर्दन में मार दी। हमलावरों ने आठ फायर किए।

हेड कांस्टेबल सुशील ने सरोज और टिंकू को धक्का देकर गिरा गया, जिससे वे बच गए। हमलावर उन पर गोली चलाना चाहते थे, लेकिन उनकी गोलियां खत्म हो गई थीं। इसके बाद हमलावर हथियार लहराते हुए भाग निकले। हमलावरों के भाग जाने के बाद हेड कांस्टेबल सुशील, सरोज और टिंकू घायल ममता और नरेंद्र  को लेकर पीजीआइ में पहुंचे, लेकिन दोनों को बचाया नहीं जा सका। घटना के बाद पुलिस ने पूरे क्षेत्र को घेर लिया और मामले की जांच कर रही है। अभी तक हमलावराें का कोई सुराग नहीं लगा है।

                                                                                                  घटना के बाद जांच करती पुलिस।

जानकारी के अनुसार, ममता मूलरूप से गद्दी खेड़ी की रहने वाली थी और सिंघपुरा निवासी युवक सोमेन से पिछले दिनों शादी की थी। बताया जाता है कि दोनों ने घर से भाग कर चंडीगढ़ में शादी कर ली थी। आरोप है कि लड़की के नाबालिग होने के बावजूद प्रेमी ने उसका फर्जी प्रमाण पत्र बनवाकर चंडीगढ़ में शादी कर ली थी। इसमें युवक के पिता की भी मिलीभगत का आरोप है।

बाद में मामले का खुलासा होने के बाद प्रेमी युवक को लड़की के साथ गिरफ्तार कर लिया गया। अदालत ने युवक सोमेन और उसके पिता को सुनारिया जेल भेज दिया। लड़की को नाबालिग होने के कारण करनाल नारी निकेतन में भेज दिया गया था।

ससुराल वालों ने कराई हत्या

सरोज और टिंकू का आरोप है कि ममता के पिता रमेश (फूफा) ने ही अपने साथियों के साथ मिलकर वारदात को अंजाम दिया है। वह पहले भी कई बार पूरे परिवार को मारने की धमकी दे चुका था। दोनों के मुताबिक हमलावरों की संख्या चार या पांच थी। ममता के अंतरजातीय विवाह करने से उसके पिता और परिवार के अन्य लोग खफा थे।

ममता को उसके फूफा ने ले रखा था गोद

रोहतक के ही गद्दीखेड़ी गांव की रहने वाली ममता को रोहतक शहर के हिसार रोड निवासी उसके फूफा रमेश ने गोद ले रखा था। पिछले साल ममता ने सिंहपुरा कलां गांव के अनुसूचित जाति से संबंधित सोमी के साथ घर से भागकर प्रेम विवाह कर लिया था।

साहसी पत्रकारिता को सपोर्ट करें,
आई वॉच इंडिया के संचालन में सहयोग करें। देश के बड़े मीडिया नेटवर्क को कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर इन्हें ख़ूब फ़ंडिग मिलती है। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें।

About admin