Tuesday , July 23 2024

हाईकोर्ट के जजों को नेताओं, अफसरों के पीछे बिठाया तो दूसरे जस्टिस ने ऐसे दिखाया गुस्सा

नई दिल्ली/चेन्नई। तमिलनाडु की राजधानी चेन्नई में रविवार को मद्रास हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस विजय कमलेश ताहिलरामानी का शपथग्रहण समारोह था. इस शपथ ग्रहण समारोह के कुछ घंटों बाद ही इस पर विवादों की छाया पड़ गई. दरअसल इस समारोह में अतिथियों की बैठक व्यवस्था पर दूसरे जज ने सवाल उठा दिए हैं. जस्टिस एमएस रमेश ने अपने व्हाट्सएप ग्रुप पर इस बारे में मैसेज कर अपना गुस्सा जाहिर किया है.

बैठक व्यवस्था से नाराज जस्टिस रमेश ने आधिकारिक व्हाट्सएप ग्रुप में इस बारे में मैसेज किया. इस शपथ ग्रहण समारोह की बैठक व्यवस्था में हाईकोर्ट के जज मंत्रियों और पुलिस अफसरों के पीछे बैठे थे. इस पर नाराजगी जाहिर करते हुए जस्टिस रमेश ने लिखा, ”मैं इस पूरे घटनाक्रम से निराश हूं. ये एक गंभीर मामला है. क्या राजभवन संवैधानिक पदों पर बैठे जज और पुलिस अफसरों की हैरारिकी से परिचित नहीं है. या फिर वह समझते हैं कि हाईकोर्ट के जज पद और प्रतिष्ठा में मंत्रियों और पुलिस के अफसरों से छोटे होते हैं. आधिकारिक समारोह में इस तरह की व्यवस्था कतई स्वीकार नहीं है.”

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के अनुसार, जस्टिस रमेश के इस मैसेज को शेयर करने के बाद दूसरे जज ने भी उनका साथ दिया है और इस पर अपनी चिंता जाहिर की है. जस्टिस रमेश ने इस बात की भी शिकायत की है कि जब राजभवन में हाईकोर्ट के रजिस्टार ने सिटिंग अरेंजमेंट सही करने को कहा तो वहां के अधिकारियों ने इसे अनसुना कर दिया.

साहसी पत्रकारिता को सपोर्ट करें,
आई वॉच इंडिया के संचालन में सहयोग करें। देश के बड़े मीडिया नेटवर्क को कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर इन्हें ख़ूब फ़ंडिग मिलती है। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें।

About admin