Monday , July 15 2024

स्वतंत्रता दिवस पर पुलिस मुख्यालय में तैनात आईजी समेत 6 अफसरों को राष्ट्रपति पदक

लखनऊ। स्वतंत्रता दिवस के मौके पर बुधवार को यूपी के 77 पुलिस अफसर और कर्मचारी सम्मानित किए जाएंगे। इन्हें राष्ट्रीय स्तर पर दिया जाने वाला पुलिस वीरता पदक, विशिष्ट सेवा के लिए राष्ट्रपति पदक और सराहनीय सेवा के लिए पुलिस पदक दिया जाएगा। यूपी-100 में तैनात एएसपी लक्ष्मी निवास मिश्र को वीरता पदक दिया जाएगा। छह अन्य को विशिष्ट सेवाओं के लिए राष्ट्रपति का पुलिस पदक मिलेगा। वहीं 224 अधिकारियों व पुलिस कर्मियों को डीजीपी का प्रशंसा चिह्न दिया जाएगा।

जिन छह पुलिस कर्मियों व अधिकारियों को विशिष्ट सेवाओं के लिए राष्ट्रपति का पुलिस पदक दिया जाएगा उसमें पुलिस मुख्यालय में तैनात संजय कक्कड़, पीएसी मुख्यालय में तैनात उपाधीक्षक धीरेंद्र कुमार धवन का नाम शामिल है। वीरता के लिए पुलिस पदक पाने वाले लक्ष्मी नारायण सिंह को 2012 में हुई मुठभेड़ के मामले में यह पदक दिया गया है। मऊ  में साढ़े चार घंटे चले एनकाउंटर के दौरान दो बदमाशों को मार गिराया गया था। एनकाउंटर करने वाली टीम में सीओ की हैसियत से लक्ष्मी निवास मिश्रा भी शामिल थे।

पुलिस ने धीरज सिंह और विकास सिंह नाम के बदमाशों को पीछा किया तो यह एक घर में घुस गए और घर के मुखिया की गोली मार कर हत्या कर दी थी। बाकी सदस्य घर के पीछे के दरवाजे से निकल गए थे। घर के अंदर एक बच्चा रह गया था, जिसे बदमाशों ने अपनी ढाल बना लिया था। पुलिस ने बच्चे की जान बचाते हुए दोनों बदमाशों को ढेर कर दिया था। इस एनकाउंटर में एक पुलिस इंस्पेक्टर भी शहीद हो गया।

शहीद इंस्पेक्टर के साथ-साथ मऊ के तत्कालीन एसपी जोगेंद्र कुमार, आजमगढ़ के डीआईजी के चार्ज पर मौजूद विजय सिंह मीणा समेत टीम के अन्य सदस्यों को पूर्व में ही वीरता पदक मिल चुका है। वहीं, विशिष्ट सेवा के लिए चुने गए धीरेंद्र कुमार धवन मौजूदा समय में एडीजी पीएसी के स्टाफ अफसर के रूप में कार्यरत धवन 1982 में प्लाटून कमांडर के रूप में भर्ती हुए थे। उन्हें 2006 में सराहनीय सेवा के लिए पुलिस पदक मिल चुका है।

आनंद कुमार को डीजीपी का प्रशंसा चिह्न गोल्ड

डीजीपी की ओर से दिए जाने वाले प्रशंसा चिन्ह गोल्ड के लिए एडीजी कानून व्यवस्था आनंद कुमार समेत छह अधिकारियों को चुना गया है। आनंद कुमार के स्टाफ आफिसर राजेश कुमार सिंह और डीजीपी के स्टाफ आफिसर दुर्गेश को भी इस सूची में शामिल हैं। वहीं सिल्वर पाने वालों में एडीजी स्थापना पीयूष आनंद, एडीजी कार्मिक नीरा रावत, आईजी क्राइम एसके भगत, आईजी लोक शिकायत राजा श्रीवास्तव, डीजीपी के जनरल स्टाफ आफिसर दीपक रतन, अपर पुलिस अधीक्षक प्रशासन आरके गौतम और डीजीपी के मुख्य सुरक्षा अधिकारी रजनीश वर्मा का नाम शमिल है।

अधिकारियों के अलावा डीजीपी की ओर से 9 पुलिस कर्मियों को गोल्ड और 50 पुलिस कर्मियों को सिल्वर प्रशंसा चिन्ह से भी सम्मानित किया जाएगा। साथ ही 50 पुलिस कर्मियों को उत्कृष्ट सेवा सम्मान चिह्न और 200 पुलिस कर्मियों को सराहनीय सेवा सम्मान चिह्न के लिए चुना गया है।

साहसी पत्रकारिता को सपोर्ट करें,
आई वॉच इंडिया के संचालन में सहयोग करें। देश के बड़े मीडिया नेटवर्क को कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर इन्हें ख़ूब फ़ंडिग मिलती है। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें।

About admin