Monday , July 15 2024

दुर्लभ VIDEO: जब दौड़कर वाजपेयी से लिपट गए थे नरेंद्र मोदी…

नई दिल्ली। पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की हालत गुरुवार को भी नाजुक बनी हुई है. अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) जल्द ही उनके स्वास्थ्य को लेकर बुलेटिन जारी कर सकता है. वह पिछले नौ सप्ताह से एम्स में भर्ती हैं. एम्स की ओर से बुधवार देर रात जारी बयान के मुताबिक, “अटल बिहारी वाजपेयी की हालत बीते 24 घंटों में और खराब हुई है. उनकी हालत नाजुक है और उन्हें जीवन रक्षक प्रणाली पर रखा गया है.” गुरुवार को उपराष्ट्रपति एम.वेंकैया नायडू भी वाजपेयी (93) का हालचाल जानने के लिए एम्स पहुंचे. नायडू सुबह 6.30 बजे एम्स पहुंचे जबकि अमित शाह सुबह 8.30 बजे एम्स पहुंचे. इसके बाद केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जे.पी.नड्डा एम्स पहुंचे.

ऐसे वक्त में अटल बिहारी वाजपेयी से जुड़े बयान और भाषण सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे हैं. लोग उनसे जुड़े वीडियो सोशल मीडिया पर शेयर कर उन्हें याद करने की कोशिश कर रहे हैं. ऐसे में एक दुर्लभ वीडियो सोशल मीडिया पर काफी शेयर किया जा रहा है. दरअसल, इस वीडियो में पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के साथ वर्तमान पीएम नरेंद्र मोदी भी हैं. वीडियो में दिख रहा है कि दिल्ली स्थित बीजेपी कार्यालय में वाजपेयी पैदल चल रहे हैं, तभी उनकी नजर नरेंद्र मोदी पर पड़ती है. वे उन्हें पास आने का इशारा करते हैं. नरेंद्र मोदी दौड़कर वाजपेयी के पास आते हैं और उनमें लिपट जाते हैं.

वीडियो में दिख रहा है कि वाजपेयी हाथ से नरेंद्र मोदी की पीठ ठोक देते हैं. देखकर ऐसा लगता है मानो वे उन्हें किसी अच्छे काम की शाबाशी दे रहे हैं. यूट्यूब पर इस वीडियो को कई लोगों ने अपलोड किए हैं, लेकिन हम ‘द लॉजिकल इंडियन’ के वीडियो को आप तक पहुंचा रहे हैं.

इससे पहले बुधवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सहित कई नेतागण वाजपेयी के स्वास्थ्य का हालचाल जानने के लिए एम्स पहुंचे. वाजपेयी मधुमेह के मरीज हैं और उनका 11 जून से एम्स में इलाज चल रहा है. वाजपेयी का जन्म 1924 में हुआ था. उनका एम्स में डॉ. रणदीप गुलेरिया की निगरानी में इलाज हो रहा है, जो एम्स के निदेशक भी हैं. केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह और बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह शनिवार को एम्स पहुंचकर वाजपेयी का हालचाल जाना था.

साहसी पत्रकारिता को सपोर्ट करें,
आई वॉच इंडिया के संचालन में सहयोग करें। देश के बड़े मीडिया नेटवर्क को कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर इन्हें ख़ूब फ़ंडिग मिलती है। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें।

About admin