Saturday , July 20 2024

INDvsENG: जानिए, क्यों टेंटब्रिज टेस्ट में टीम इंडिया का जीतना तय है

नॉटिंघम। टीम इंडिया की इंग्लैंड के खिलाफ पांच टेस्ट मैचों की सीरीज के तीसरे टेस्ट मैच में स्थिति काफी मजबूत हो गई है. मैच के दूसरे दिन के पहले सत्र में इंग्लैंड ने वापसी की थी. लेकिन भारतीय गेंदबाजों ने दूसरे सत्र में पूरी इंग्लैंड टीम को आउट कर 168 रनों की मजबूत बढ़त ली और तीसरे सत्र में बढ़िया बल्लेबाजी करते हुए  दिन का खेल खत्म होने तक दो विकेट के नुकसान पर 124 रन बना लिए थे जिससे उसकी बढ़त अब 292 रन हो गई.

इस मैच में एक समय इंग्लैंड वापसी करता नजर आ रहा था जब उसने भारत की पहली पारी 6 विकेट के नुकसान पर 307 रनों के बाद केवल 329 रन पर समेट दी और लंच तक पहले विकेट के लिए 46 रन जोड़ लिए. लेकिन लंच के बाद जब इंग्लैंड के विकेटों के गिरने का सिलसिला शुरू हुआ तो रुका नहीं और एक समय टीम को स्कोर 9 विकेट पर 128 हो गया था. जोस बटलर की 39 रनों की तूफानी पारी के दम पर इंग्लैंड 161 रनों पर आउट हो गई. इसमें भारत के हार्दिक पांड्या के 6 ओवर में पांच विकेट वाले स्पेल का खासा योगदान रहा.

टीम इंडिया भले ही 307 के स्कोर में केवल 22 रन ही जोड़ पाई हो, लेकिन उसका इंग्लैंड में एक खास रिकॉर्ड है. जब भी टीम इंडिया ने इंग्लैंड में पहले बल्लेबाजी करते हुए 300 से ज्यादा रन बनाए हैं, वह मैच उनसे कभी नहीं हारा है. टीम इंडिया की हार का पहली पारी में सबसे ज्यादा स्कोर 293 लीड्स में जून 1952 का था.

पहली बार बढ़त हासिल नहीं की है टीम इंडिया ने इस मैदान पर 
इस मैदान पर टीम इंडिया के मैचों की बात करें तो पिछले चार टेस्ट मैचों में टीम इंडिया ने तीन बार पहली पारी में बढ़त हासिल की है.  इस साल भारत को 168 रनों की लीड मिली. साल 2014 में इंग्लैंड को 39 रनों की लीड मिली थी.  साल 2011 में टीम  इंडिया को 67 रनों की लीड मिली थी और  2007 में भारत को 283 रनों की बढ़त मिली थी.

अभी टीम इंडिया के पास 292 रनों की लीड है और अभी उसके 8 खिलाड़ी आउट होना बाकी हैं और तीन दिन का खेल होना बाकी है.  इस मैदान पर पीछा करने का सबसे ज्यादा सफल स्कोर इंग्लैंड के नाम है जो उसने साल 2004 में न्यूजीलैंड के खिलाफ बनाया था. इंग्लैंड ने वह मैच 6 विकेट के नुकसान पर 284 रन बनाकर जीता था. इस लिहाज से देखा जाए तो टीम इंडिया की जीत निश्चित है.

इस लिहाज से देखा जाए तो टीम इंडिया की स्थिति बहुत ही ज्यादा मजबूत है. पहली पारी में 150 से ज्यादा रन की बढ़त के बाद जिस तरह से दूसरी पारी में भारत का स्कोर केवल दो विकेट के नुकसान पर 124 रन बनाए. इंग्लैंड की टीम का मनोबल काफी कमजोर हो गया जो कि मैदान पर साफ दिखाई भी देने लगा है. ऐसे में विराट कोहली के बल्लेबाज 107 रन और जोड़कर इस बढ़त को 400 रन की कर दें तो विराट की इस सीरीज में वापसी आसान हो जाएगी.

साहसी पत्रकारिता को सपोर्ट करें,
आई वॉच इंडिया के संचालन में सहयोग करें। देश के बड़े मीडिया नेटवर्क को कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर इन्हें ख़ूब फ़ंडिग मिलती है। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें।

About admin