Thursday , March 4 2021

LIVE: किसान रैली में पहुंचे अरविंद केजरीवाल, बोले- 2019 में ये किसान कयामत ढा देंगे

नई दिल्ली। देश की राजधानी दिल्ली में आज फिर हजारों की तादात में अन्नदाता आंदोलन करने जा रहे हैं. केंद्र सरकार की नीतियों के खिलाफ रामलीला मैदान में इकट्ठा हुए ये किसान आज संसद तक मार्च करने जा रहे हैं. 29 नवंबर को 26 किलोमीटर की पैदल यात्रा करने के बाद आज हजारों की तादात में किसान संसद के लिए रवाना होंगे, जहां वे सरकार के सामने पूर्ण कर्ज माफी और फसलों की लागत का डेढ़ गुना ज्यादा समर्थन मूल्य देने की अपनी मांग रखेंगे. बता दें देश भर से किसानों का दिल्ली पहुंचने का सिलसिला बुधवार से ही शुरू हो चुका था, जो कि आज सुबह तक जारी रहा. वहीं आंदोलन के चलते जुट रही भीड़ को देखकर प्रशासन भी सतर्क नजर आ रहा है. सुरक्षा कारणों के चलते जगह-जगह पर पुलिस बल की तैनाती की गई है, ताकि किसी भी तरह की अनहोनी से बचा जा सके.

बता दें आज किसान दिल्ली के रामलीला मैदान से संसद मार्ग तक मार्च निकालेंगे, जिसके चलते इस मार्ग पर सुरक्षा व्यवस्थाएं कड़ी कर दी गई हैं. साथ ही यातायात के भी विशेष प्रबंध किए गए हैं. मार्ग के दोनों तरफ रस्सियां कस दी गई हैं, ताकि राजधानी का यातायात प्रभावित न हो. किसानों के आंदोलन को ध्यान में रखते हुए शहर में 3500 पुलिसकर्मी तैनात किए गए हैं. दिल्ली पहुंचे किसानों ने 29 नवंबर की सुबह बिजवासन से 26 किलोमीटर की पैदल यात्रा कर रामलीला मैदान पहुंचे थे, जहां से आज वे संसद के लिए रवाना हो जाएंगे.

मिली जानकारी के मुताबिक किसानों के इस आंदोलन को कई सामाजिक कार्यकर्ताओं और अन्य वर्गों का भी समर्थन मिल रहा है. बता दें आंदोलन में छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश, केरल, बंगाल, बिहार, उत्तर प्रदेश, तमिलनाडु, कर्नाटक, राजस्थान और आंध्रप्रदेश के आंदोलनकारी किसान शामिल हो रहे हैं. देश भर से पहुंचे इन आंदोलनकारी किसानों के मनोरंजन के लिए गुरुवार की रात रामलीला मैदान में ‘एक शाम किसानों के नाम’ का भी आयोजन किया गया, जिसमें कई सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्तुति दी गई.

16:13 pm (IST) वहीं दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने किसान आंदोलन में शामिल किसानों को संबोधित करते हुए केंद्र सरकार पर जमकर निशाना साधा और कहा कि ‘भाजपा सरकार को अब सिर्फ पांच माह बचे हैं. मैं केंद्र सरकार से बोलना चाहता हूं कि वह जल्द से जल्द स्वामीनाथन रिपोर्ट को लागू करे वरना 2019 में ये किसान कयामत ढा देंगे.’

16:02 pm (IST) हम सभी पार्टियां किसानों के साथ हैं, हम किसी भी हालत में किसानों के साथ नाइंसाफी नहीं होने देंगे, चाहे उसके लिए प्रधानमंत्री ही क्यों न बदलना पड़े. राहुल गांधी

03:57 pm (IST) मोदी जी ने कहा था कि MSP बढ़ेगी, पीएम मोदी ने किसानों से बोनस का भी वादा किया था, लेकिन अगर उनके पिछले कार्यकाल पर नजर डालें तो उन्होंने जनता से सिर्फ झूठे वादे किए हैं.

03:56 pm (IST) केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि किसान तोहफा नहीं अपना हक मांग रहे हैं. हम किसानों के भविष्य के साथ खिलवाड़ नहीं होने देंगे.

03:54 pm (IST) यहां किसानों की सभा को संबोधित करते हुए राहुल गांधी ने कहा कि किसानों का भविष्य, युवाओं की बेरोजगारी बड़े मुद्दे, सरकार ने अमीरों का कर्ज माफ किया किसानों का नहीं.

03:30 pm (IST) कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी किसानों के आंदोलन का समर्थन करने के लिए संसद मार्ग पहुंच चुके हैं. यहां वह किसानों की सभा को संबोधित करेंगे. जहां हजारों की संख्या में किसान संसद भवन के घेराव के लिए निकलेंगे.

03:30 pm (IST) राहुल गांधी जल्द पहुंच सकते हैं संसद मार्ग

03:09 pm (IST) 3:30 बजे के लगभग कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी लेंगे किसान आंदोलन में हिस्सा.

02:50 pm (IST) बता दें आज शाम राहुल गांधी और अरविंद केजरीवाल भी किसान आंदोलन में शामिल होंगे और मार्च में शामिल किसानों को संबोधित करेंगे.

02:33 pm (IST) दिल्ली के संसद मार्ग पर किसानों की सभा जारी है. जहां सभा को संबोधित करते हुए किसानों ने कहा कि अगर मोदी सरकार जीएसटी के लिए विशेष सत्र बुला सकती है तो किसानों के लिए क्यों नहीं.

02:0015 pm (IST) दिल्ली के संसद मार्ग में चल रही किसानों की सभा में विपक्षी दलों के कई बड़े नेता शामिल हुए और किसान सभा को संबोधित किया.

02:00 pm (IST) संसद के आस-पास तैनात करीब 3500 पुलिसकर्मियों ने मार्च को संसद मार्ग के बीच में ही रोक दिया है और किसानों को वापस जाने के लिए कहा है. जिससे किसान आंदोलन में शामिल किसान काफी नाराज नजर आ रहे हैं.

12:53 pm (IST) वहीं खबर है कि किसानों के इस आंदोलन को आम आदमी पार्टी, TMC और कांग्रेस जैसी पार्टियों ने भी समर्थन दिया है.

12:51 pm (IST) किसान आंदोलन में शामिल ऑल इंडिया किसान सभा के बिहार से आए लक्ष्मण सिंह ने कहा है कि अगर अगर उनकी मागों को नहीं मानती है तो 1947 जैसा आजादी का संघर्ष होगा.

12:10 pm (IST) अखिल भारतीय किसान संघर्ष समन्वय समिति मार्च अब संसद मार्ग (पुलिस स्टेशन के पास ) पहुच गया है. रामलीला मैदान ,जवाहरलाल नेहरु मार्ग, गुरुनानक चौक, रणजीत सिंह फ्लाईओवर, बाराखंबा चौक  पर यातायात अब सामान्य है.

12:02 pm (IST) अखिल भारतीय किसान संघर्ष समन्वय समिति मार्च संसद मार्ग (पुलिस स्टेशन के पास ) पहुंच गया है. जिसके चलते यहां पर यातायात प्रभावित है.

11:51 am (IST) अखिल भारतीय किसान संघर्ष समन्वय समिति मार्च संसद मार्ग पर है, जिसके चलते यहां पर यातायात प्रभावित है.

11:42 am (IST) अखिल भारतीय किसान संघर्ष समन्वय समिति मार्च जंतर मंतर T-Point पर पहुंच चुका है, जिसके चलते यहां पर यातायात प्रभावित है.

11:25 am (IST) राजधानी दिल्ली के रामलीला मैदान से संसद के लिए रवाना हुआ किसानों का ‘मुक्ति मार्च’.

11:17 am (IST) बाराखंबा चौक पहुंचा अखिल भारतीय किसान संघर्ष समन्वय समिति मार्च जिसके चलते यहा पर यातायात प्रभावित है.

11:14 am (IST) रामलीला मैदान में इकट्ठा हुए किसानों को बाहर निकालने की कोशिश में जुटा प्रशासन.

11:01 am (IST) दिल्ली की ट्राफिक पुलिस ने किसान आंदोलन के चलते यातायात के प्रभावित होने वाले स्थानों के बारे में जानकारी देते हुए ट्वीट करते हुए लिखा कि ‘अखिल भारतीय किसान संघर्ष समन्वय समिति मार्च अभी रणजीत सिंह फ्लाईओवर पर है. जिसमें 7000 से 8000 लोग शामिल हैं. यहाँ पर यातायात प्रभावित है.’

10:34 am (IST) बता दें किसानों के मुक्ति मार्च को देखते हुए संसद मार्ग पर वाहनों की आवाजाही बंद कर दी गई है.

10:24 am (IST) दिल्ली पुलिस ने किसानों के मुक्ति मार्च को देखते हुए एडवाइजरी जारी कर दी है, जिसे देखते हुए दिल्ली ट्रैफिक पुलिस ने कहा है कि रामलीला मैदान, जवाहरलाल नेहरू मार्ग, देशबंधू गुप्ता रोड, रानी झांसी रोड, मंदिर मार्ग, पंचकुइंया रोड, बाराखंबा रोड, कस्तूरबा गांधी मार्ग, जनपथ, अशोका रोड, फिरोजशाह रोड, बाबा खारक सिंह मार्ग और जय सिंह मार्ग में यातायात प्रभावित हो सकता है. जिसके चलते लोगों को सलाह दी जाती है कि वे दिल्ली ट्राफिक पुलिस के फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल को फॉलो करें. जहां उन्हें ट्राफिक से संबंधित जानकारी उपलब्ध हो सकेगी. इसके साथ ही ट्रैफिक पुलिस ने दिल्ली रेलवे स्टेशन जाने वाले यात्रियों को भी सतर्क किया है कि वे किसान आंदोलन को ध्यान में रखते हुए अपनी यात्रा का समय निर्धारित करें.Kisan mukti march in Delhi

10:15 am (IST) किसानों के मुक्ति मार्च में नेशनल साउथ इंडियन रिवर इंटरलिंकिंग एग्रीकल्चरिस्ट्स एसोसिएशन से भी करीब 1200 लोग हिस्सा ले रहे हैं. तमिलनाडु के किसानों की तरह ही ये लोग भी अपने साथ उन दो सहयोगियों की मानव खोपड़ी लेकर आए हैं, जिन्होंने सुसाइड कर अपनी जान ले ली थी.

9:58 am (IST) बता दें 300-400 किसान अजमेरी गेट से रामलीला मैदान के लिए निकले हैं, जिसके कारण इस क्षेत्र का यातायात प्रभावित है.

9:58 am (IST) बता दें किसानों के आंदोलन को छात्रों का भी काफी समर्थन मिल रहा है. मार्च के समर्थन में दिल्ली यूनिवर्सिटी के कई छात्र भी रामलीला मैदान पहुंच चुके हैं और यहां किसानों के मार्च को व्यवस्थित ढंग से पूरा कराने के इंतजाम कर रहे हैं. रामलीला मैदान में इकट्ठा हुए किसानों में कुछ लाल, कुछ पीले तो कुछ हरे झंडों के साथ दिखाई दे रहे हैं.

9:55 am (IST) किसान आंदोलन में जुटी भीड़ को देखते हुए दिल्ली पुलिस ने सुरक्षा के व्यापक इंतजाम किए हैं. किसानों के मुक्ति मार्च के दौरान सड़क के दोनों तरफ रस्सी होगी और साथ ही पुलिस बल भी तैनात होगी. जिससे सुनिश्चित किया जा सके कि यातायात प्रभावित न हो.

9:51 am (IST) किसानों के इस आंदोलन का आयोजन CITU, AIKS और AIAWU के बैनर तले किया गया है.9:43 am (IST) बता दें रामलीला मैदान से संसद तक के किसानों के ‘मुक्ति मार्च’ को प्रशासन की सहमति मिल गई है. जिससे आंदोलन में शामिल किसानों ने राहत की सांस ली है.

9:40 am (IST) बता दें आंदोलन की वजह से राजधानी दिल्ली के कुछ हिस्सों में यातायात प्रभावित होने की पूरी संभावना है.farmer's Mukti march reached to sansad marg

9:36 am (IST) आंदोलन में शामिल हुए किसान समूह का कहना है कि अगर उन्हें शांतिपूर्ण रूप से मार्च संपन्न नहीं करने दिया जाएगा तो वे अर्ध नग्न होकर मार्च करेंगे.

9:33 am (IST) देश भर के अलग-अलग राज्यों के ये किसान कर्जमाफी और बेहतर MSP की अपनी मांग लेकर राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली पहुंचे हैं. यहां किसानों ने अलग-अलग तरीके से विरोध प्रदर्शन करने की कोशिश की. रामलीला मैदान में इकट्ठा हुए इन किसानों में से कुछ ने लाल झंडे के साथ विरोध प्रदर्शित किया तो कुछ ने हाथ में खोपड़ियां लेकर गुस्सा जाहिर किया. हाथ में नर खोपड़ी थामे किसानों की मानें तो उनके हाथ में जो खोपड़ी हैं वह आत्महत्या करने वाले किसानों की हैं.

About I watch

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

कोरोना का कहर

भारत की स्थिति