Saturday , March 6 2021

नाथन लॉयन अच्छे गेंदबाज, लेकिन उनके जैसी गेंदबाजी करना मूर्खतापूर्ण होगा: अश्विन

भारत के स्टार ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन ने कहा कि वह ऑस्ट्रेलियाई ऑफ स्पिनर नाथन लॉयन के गेंदबाजी की तारीफ करते हैं, लेकिन उनके एक्शन जैसी गेंदबाजी करना मूर्खतापूर्ण होगा. क्रिकइंफो की रिपोर्ट के अनुसार, अश्विन ने यहां क्रिकेट ऑस्ट्रेलियाएकादश के साथ खेले जा रहे चार दिवसीय अभ्यास मैच के तीसरे दिन का खेल समाप्त होने के बाद एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में यह बात कही. उन्होंने कहा कि वह लॉयन के गेंदबाजी की प्रशंसा करते हैं, लेकिन हर किसी का अपना-अपना तरीका होता है.

अश्विन ने कहा, “हम दोनों ने एक ही समय टेस्ट करियर की शुरूआत की थी इसलिए निश्चित रूप से हम दोनों एक-दूसरे की तारीफ करते हैं. मुझे लगता है कि उन्होंने पिछले कुछ वर्षों से काफी अच्छी गेंदबाजी की है और वह अभी भी अच्छा कर रहे हैं. क्या मैं उनसे कुछ सीख सकता हूं. एक बार सीरीज शुरू हो जाए उसके बाद हम दोनों के बीच अच्छी प्रतिस्पर्धा देखेने को मिलेगी.”

किसी दूसरे की जैसी गेंदबाजी करना बेवकूफी होगी
उन्होंने कहा, “किसी के एक्शन जैसी गेंदबाजी करना काफी मुश्किल है. हम यहां एक्शन और बायोमेकेनिक्स की बात कर रह रहे हैं और यह उस समय पूरी तरह मूर्खतापूर्ण हो जाती है जब कोई कहता है कि यह उनके जैसी स्पिन गेंदबाजी हैं. आप ईशांत शर्मा को यह नहीं कह सकते हैं ना कि आप उसे फिलेंडर जैसी गेंदबाजी करेंगे. ऐसा नहीं हो सकता है ना.”

भारतीय ऑफ स्पिनर ने कहा, “आप अपनी ताकतों पर विश्वास करते हैं. मैंने अपने करियर में अब तक 336 के आसपास विकेट लिए हैं तो वहीं वह 300 के करीब विकेट हासिल कर चुके हैं. महत्वपूर्ण बात यह है कि आप अपना एक ही तरीका रखिए और कुछ चीजों को सीखिए.”

Ravichandran Ashwin

ऑस्ट्रेलिया में अच्छी साझेदारी में गेंदबाजी करना जरुरी
रविचंद्रन अश्विन ने कहा कि ऑस्ट्रेलिया में बल्लेबाजी की तरह ही गेंदबाजी में भी अच्छी साझेदारी जरुरी है, क्योंकि यहां दक्षिण अफ्रीका और इंग्लैंड की तुलना में विरोधी बल्लेबाजों को आउट करना मुश्किल होता है. ऑस्ट्रेलिया दौरे पर गयी भारतीय टीम चार मैचों की टेस्ट सीरीज का पहला मैच एडिलेड में छह दिसंबर से खेलेगी.

अश्विन ने कहा कि भारतीय गेंदबाजों को क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया एकादश के खिलाफ अभ्यास करने का अच्छा मौका मिला. ऑस्ट्रेलिया ए ने तीसरे दिन के खेल के बाद छह विकेट पर 356 रन बनाए. अश्विन ने 24 ओवर में 63 रन देकर एक विकेट लिया जबकि मोहम्मद शमी ने 18 ओवर में 67 रन देकर तीन सफलता हासिल की. आश्विन ने दिन का खेल खत्म होने के बाद कहा, ”यहां साझेदारी में गेंदबाजी करना जरुरी है. साझेदारी में गेंदबाजी के दम पर आप उन्हें परेशान कर सकते हैं. कई बार ऐसा ही होगा कि आप पूरी टीम को आउट नहीं कर सके. लेकिन आपको उन पर दबाव बनाना होगा.”

टीम इंडिया को खेलना होगा चतुराई भरा क्रिकेट
अश्विन को लगता है कि यहां कि पिच सपाट होगी और भारतीय टीम को सीरीज में चतुराई भरा क्रिकेट खेलना होगा. उन्होंने कहा कि भारत को पांचवें गेंदबाज हार्दिक पांड्या की कमी खलेगी, ऐसे में साझेदारी में गेंदबाजी करना काफी अहम होगा. इस भारतीय गेंदबाज ने कहा, ”सीरीज में साझेदारी में गेंदबाजी करना काफी अहम होगा क्योंकि हार्दिेक पांड्या चोटिल है और टीम को पांचवें गेंदबाज की कमी खल सकती है.’’

Ravichandran Ashwin

ऑस्ट्रेलिया को दबाव में लाना जरुरी होगा
उन्होंने कहा, ”जब आप गेंदबाजी कर रहे होंगे तब भी आपको साझेदारी में अच्छा करना काफी जरुरी होगा और यह बहुत आवश्यक है कि गेंदबाजी के समय आपको अपनी भूमिका के बारे में पता हो.” भारतीय गेंदबाजों ने दक्षिण अफ्रीका और इंग्लैंड में अच्छी गेंदबाजी की लेकिन अश्विन को लगता है कि यहां गेंदबाजों को लंबा स्पैल डालना होगा.

अश्विन ने कहा, ”स्पिनर के तौर पर यह जरुरी है कि पहली पारी में योजना के मुताबिक गेंदबाजी की जाए. अगर दूसरी पारी में कुछ मदद मिली तो गेंद को सही जगह टप्पा खिलाने की कोशिश करूंगा. यह दौरा भी पिछले ऑस्ट्रेलियाई दौरे की तरह ही है. मेरे लिए वह अच्छी सीरीज रही थी, जहां से मेरे करियर में बदलाव आया था.” उन्होंने कहा, ”ऑस्ट्रेलिया को दबाव में लाना जरुरी होगा. यहां हर घंटे खेल का रुख बदल सकता है. हमारे पास कुछ अच्छे बल्लेबाज है, जो मैच का रुख बदल सकते हैं.”

About I watch

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

कोरोना का कहर

भारत की स्थिति