Sunday , April 14 2024

जेट एयरवेज संकट: नरेश गोयल ने छोड़ा पद, पत्‍नी अनिता भी बोर्ड से बाहर

नई दिल्‍ली। कर्ज में डूबी हुई एयरलाइन कंपनी जेट एयरवेज संकट में अब नया मोड़ आ गया है. कंपनी के चेयरमैन नरेश गोयल ने अपने पद से इस्‍तीफा दे दिया है. वहीं नरेश गोयल की पत्‍नी अनिता गोयल ने भी बोर्ड से दूरी बना ली है. जेट एयरवेज का नियंत्रण अभी तक नरेश गोयल के पास था जिनके पास 51 प्रतिशत हिस्सेदारी है.

वहीं अबुधाबी स्थित एतिहाद एयरवेज के पास 24 प्रतिशत हिस्सेदारी है. बता दें कि पैसों की कमी की वजह से बीते कुछ दिनों में जेट एयरवेज ने अपनी 40 से ज्‍यादा विमानों को खड़ा कर दिया. जेट एयरवेज पर कर्ज की बात करें तो 8,200 करोड़ रुपये का है और उसे मार्च अंत तक 1,700 करोड़ रुपये भुगतान करने हैं.

जेट एयरवेज के शेयर में 17 फीसदी की तेजी

नरेश गोयल के इस्‍तीफे की खबर के बीच कारोबार के दौरान जेट एयरवेज के शेयर में 17 फीसदी तक का इजाफा हुआ. कारोबार के दौरान जेट एयरवेज का शेयर प्राइस 263 रुपये तक पहुंच गया जबकि बाजार बंद होने पर कंपनी का शेयर 254.50 रुपये के भाव पर रहा. जेट एयरवेज के शेयर में इतनी बड़ी बढ़ोतरी करीब दो महीने पहले देखने को मिली थी.

एसबीआई ने मदद के दिए थे संकेत

बीते हफ्ते देश के सबसे बड़े बैंक स्टेट बैंक आफ इंडिया (एसबीआई) ने जेट एयरवेज को कर्ज के जंजाल से निकालने के संकेत दिए थे. इसी के तहत एसबीआई के चेयरमैन रजनीश कुमार ने विमानन सचिव प्रदीप सिंह खरोला और प्रधानमंत्री के प्रधान सचिव नृपेन्द्र मिश्र के साथ बीते बुधवार को वित्त मंत्री अरुण जेटली से मुलाकात की.एसबीआई चेयरमैन रजनीश कुमार ने जोर देकर कहा था कि जेट एयरवेज को परिचालन में बनाए रखना कर्जदाताओं तथा उपभोक्ताओं के हित में है. जेट एयरवेज को बैंकरप्‍सी कानून (आईबीसी) के अंतर्गत ले जाना अंतिम विकल्प है.

जेट एयरवेज के पायलटों को मिली नौकरीइस बीच एक अन्‍य एयरलाइन इंडिगो ने सैलरी संकट से जूझ रहे जेट एयरवेज के 100 पायलट को नौकरी दी है. मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक इंडिगो ने  100 से अधिक बोइंग 737 कमांडर स्‍तर के पायलटों को हायर किया है. जेट एयरेवज के पायलटों ने मंगलवार को चेतावनी देते हुए कहा था कि अगर उनका वेतन 31 मार्च तक नहीं दिया गया, वे उड़ानों का परिचालन बंद कर देंगे.

साहसी पत्रकारिता को सपोर्ट करें,
आई वॉच इंडिया के संचालन में सहयोग करें। देश के बड़े मीडिया नेटवर्क को कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर इन्हें ख़ूब फ़ंडिग मिलती है। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें।

About I watch