Wednesday , April 24 2024

पिता की सियासी पिच पर बेटा कार्ति चिदंबरम, कांग्रेस के भीतर उठे विरोध के सुर

चेन्नई। लोकसभा चुनाव में पिता की ‘सियासी पिच’ पर पुत्र पारी खेलने को तैयार है. कांग्रेस ने पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम के बेटे कार्ति चिदंबरम को एक बार फिर तमिलनाडु की शिवगंगा सीट से चुनावी मैदान में उतारा है. पी चिदंबरम यहां से सात बार चुनाव जीत चुके हैं. 42 साल के कार्ति 2014 में इस सीट पर चौथे स्थान पर रहे थे. उन्हें सिर्फ 10% मत मिले थे. इस बार उनका इस सीट पर सीधा मुकाबला बीजेपी के एच राजा से है. बीजेपी का एआईएडीएमके के साथ गठबंधन जबकि कांग्रेस का डीएमके के साथ गठबंधन हुआ है. शिवगंगा की सीट पर सीधे कांग्रेस और बीजेपी आमने सामने है.

शिवगंगा सीट पर नचियप्पन और कार्ति के बीच था मुकाबला

शिवगंगा सीट को लेकर कांग्रेस में पिछले कई दिनों से माथापच्ची चल रही थी. इस सीट पर टिकट के लिए ईएम सुदर्शन नचियप्पन और कार्ति के बीच मुकाबला था. ईएम सुदर्शन नचियप्पन 1999 में इस सीट पर जीत हासिल कर चुके हैं. वह यूपीए सरकार में मंत्री भी रह चुके हैं. इस हिसाब से प्रबल दावेदार नचियप्पन ही थे.

कार्ति को टिकट मिलने से नाराज नचियप्पन ने पार्टी के खिलाफ ही मोर्चा खोला दिया है. नचियप्पन ने कहा कि चिदंबरम परिवार पर भ्रष्टाचार के मामले चल रहे हैं. कार्ति को टिकट देने से पार्टी की छवि खराब होगी और लोकसभा चुनाव में नुकसान होगा. नचियप्पन ने कहा कि पी. चिदंबरम ने मेरा रास्ता रोकने के लिए अपना राजनीतिक कार्ड खेला है.

शिवगंगा सीट पर कैंपेन में जुटे कार्ति चिदंबरम

कार्ति चिदंबरम अब अपने पिता की पिच यानी शिवगंगा सीट पर कैंपेन में जुटे हैं. जहां उनके कैंपेन व्हेकिल पर गठबंधन पार्टियों के भी झंडे दिखाई दिए है. कार्ति चिदंबरम ने जैसे ही इसे ट्वीट किया यह तस्वीर वायरल हो गई. डीएमके (20 सीट) के साथ गठबंधन में कांग्रेस (10 सीट) के अलावा एमडीएमके (1), सीपीआई(2), सीपीएम(2), आईजेके(1), केडीएमके(1), वीसीके(2), आइयूएमएल(1) पार्टियां हैं.

कार्ति पर लगाए गए आरोप गलत-अलागिरी 

कार्ति चिदंबरम को टिकट दिए जाने के बाद अंदरूनी घासान अब बाहर भी साफ दिखने लगा है. विरोध के स्वर उठाते देख तमिलनाडु कांग्रेस अध्यक्ष के एस अलागिरी ने नच्याप्पन का नाम लिए बिना कहा है कि यह फैसला हाई कमांड का है जिसका सम्मान हर किसी को करना चाहिए ना कि मीडिया के सामने जा कर इसे गलत ठहराए. ये TNCC का नहीं बल्कि AICC और राहुल गांधी का फैसला है. साथ ही अलागिरी ने कहा कि कार्ति चिदंबरम पर लगाए गए आरोप गलत है.

बता दें कि कार्ति चिदंबरम एयरसेल मैक्सिस मामले में आरोपी हैं. उनके पिता पी चिदंबरम भी सह आरोपी हैं. इसके अलावा कार्ति पर INX मामले को लेकर भी केस चल रहा है. कार्ति पर आरोप है कि INX मीडिया को 2007 में 305 करोड़ रुपए का विदेशी धन प्राप्त करने में एफआईपीबी की मंजूरी में अनियमितता की गई है. इस दौरान कार्ति चिदंबरम के पिता पी. चिदंबरम केंद्रीय वित्त मंत्री थे. बीते साल फरवरी में ईडी ने INX मामले में ही कार्ति चिदंबरम को गिरफ्तार कर लिया था, लेकिन बाद में उन्हें जमानत मिल गई थी.

साहसी पत्रकारिता को सपोर्ट करें,
आई वॉच इंडिया के संचालन में सहयोग करें। देश के बड़े मीडिया नेटवर्क को कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर इन्हें ख़ूब फ़ंडिग मिलती है। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें।

About I watch