Tuesday , April 16 2024

पाकिस्तानी क्रिकेटर को महंगा पड़ा भारतीय प्रशंसक के साथ गाना, PCB ने लगाई फटकार

पाकिस्तान को भारतीय क्रिकेट के बाद अब भारत के प्रशंसक भी चुभने लगे हैं. वह अपने क्रिकेटप्रेमियों को तो भारतीय क्रिकेट से दूर कर ही रहा है. अब उसने अजीबोगरीब रवैया अपनाते हुए अपने लेग स्पिनर यासिर शाह को टिक टॉक वीडियो में भारत की महिला प्रशंसक के साथ बॉलीवुड का गाना गुनगुनाने के लिए फटकार लगाई है. इससे एक दिन पहले ही पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान की कैबिनेट ने फैसला लिया था कि उनके देश में आईपीएल (IPL) मैचों का प्रसारण नहीं किया जाएगा.

लेग स्पिनर यासिर शाह ने दुबई की एक पार्टी में महिला प्रशंसक के साथ बॉलीवुड का एक गाना गाया. देर रात आयोजित इसी पार्टी में उमर अकमल भी शामिल हुए थे. पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) ने इसके बाद यासिर शाह को बॉलीवुड गीत गुनगुनाने के लिए फटकार लगाई. पाकिस्तान टीम के मुख्य कोच मिकी आर्थर ने कहा कि यासिर ने गलती मान ली है. उन्हें एहसास है कि सोशल मीडिया के लिए इस तरह का वीडियो रिकॉर्ड करना सही नहीं था.

माना जा रहा है कि यासिर ने पीसीबी (PCB) को बाद में बताया कि वह दुबई के एक मॉल में था. तब एक महिला प्रशंसक ने उससे टिक टॉक के लिए वीडियो बनाने के लिए बात करने की गुहार लगाई. यासिर ने उसकी बात मानकर यह वीडियो रिकॉर्ड किया. पाकिस्तान की टीम हाल ही में यूएई में थी. उसे यहां खेली गई वनडे सीरीज (PAKvsAUS) में ऑस्ट्रेलिया ने 5-0 से हराया था.

Kalim Khan

@Kallerz37

Let’s not blow this out of proportion – @Shah64Y visited Dubai Mall where he came across a crew. The girl in the video is from the crew who requested Yasir a few time and insisted on making a video. Yasir obliged after the constant requests. No big deal.

Thakur@ThakurHassam

“Mai Sirf Tera Raho Ga” #YasirShah #TikTok

Embedded video

239 people are talking about this

यह वीडियो काफी प्रचलन में आ गया और पाकिस्तान के क्रिकेट प्रशंसकों ने भी यासिर की कड़ी आलोचना की. हालांकि, पीसीबी ने यह स्पष्ट नहीं किया कि भारतीय गाने को गुनगुनाना अनुशासनहीनता माना जाएगा या नहीं. पीसीबी के एक अधिकारी ने कहा कि बोर्ड ने यासिर को उनके लापरवाह रवैये के लिए फटकार लगाई है. इस अधिकारी ने कहा, ‘पीसीबी इस बात को लेकर चिंतित है कि खिलाड़ी सोशल मीडिया के प्रभावों को गंभीरता से नहीं ले रहे हैं. यासिर की हरकत इसका एक उदाहरण है.

साहसी पत्रकारिता को सपोर्ट करें,
आई वॉच इंडिया के संचालन में सहयोग करें। देश के बड़े मीडिया नेटवर्क को कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर इन्हें ख़ूब फ़ंडिग मिलती है। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें।

About I watch