Wednesday , April 24 2024

ये है भुवी की वर्ल्डकप की तैयारी, आईपीएल में पहला विकेट लेने में लगा दिए दस दिन

आईपीएल 2019 में इस बार फैंस की नजर उन खिलाड़ियों पर ज्यादा है जो दो महीने बाद इंग्लैंड में जाकर भारतीय टीम के लिए वर्ल्डकप खेलने वाले हैं. हाल ही में टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली बेंगलुरू के लिए कप्तानी करते हुए जिस तरह से आउट हो रहे है, उसने टीम इंडिया के फैंस को चिंता में डाल दिया. अब टीम इंडिया का एक अहम गेंदबाज के प्रदर्शन ने चिंतित किया है. यह कोई और नहीं भारत के स्विंग तेज गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार हैं जिन्होंने इस साल आईपीएल में अपना पहला विकेट लेने में दस दिन लगा दिए.

इस साल आईपीएल के 16वें मैच में मुकाबला दिल्ली और हैदराबाद की टीम के बीच था. हैदराबाद की कप्तानी इस मैच में भुवनेश्वर कुमार कर रहे थे. उन्होंने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने का फैसला लिया. पिच और हालात के मुताबिक यह फैसला सही लग रहा था, लेकिन पहले ओवर में पृथ्वी शॉ ने भुवी को दो चौके लगाकर अपने इरादे जाहिर कर दिए. दूसरे ओवर में मोहम्मद नबी ने केवल चार रन देकर जता दिया कि पिच स्पिनर्स के लिए बनी है. तीसरे ओवर में भुवी ने शॉ को बोल्ड कर सीजन का अपना पहला विकेट लिया.

पहले तीन में फ्लॉप रहे भुवी
भुवी की यह गेंद एक शानदार ऑफ कटर थी जिस पर शॉ पूरी तरह से चकमा खा गए और बोल्ड हो गए. इस तरह आईपीएल 12 में भुवी ने अपने विकेटों का सूखा टीम के चौथे मैच में खत्म किया. पहले मैच में कोलकाता के खिलाफ भुवी ने 4 ओवर में 37 रन दिए थे, दूसरे मैच में राजस्थान के खिलाफ 4 ओवर में सबसे ज्यादा 55 रन, तीसरे मैच में बेंगलुरू के खिलाफ तीन ओवर में 25 रन दिए थे.

Embedded video

SunRisers Hyderabad

@SunRisers

OUT!! IT’S CAPTAIN BHUVI!!!! ??

Shaw goes back early!

59 people are talking about this

भुवी इससे पहले भी ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड के खिलाफ भी गेंद से प्रभावित करने में नाकाम रहे. इस साल 10 वनडे मैचों में भुवी ने 22.36 के औसत और 5.23 की इकोनॉमी से 19 विकेट लिए, वहीं 3 टी20 मैचों में उन्होंने 37.66 के औसत औरप 9.41 की इकोनॉमी से केवल 3 विकेट लिए. इसके अलावा भुवी की डेथ ओवर्स में प्रभाव भी कम हो रहा है. वे डेथ ओवर्स में बहुत ज्यादा रन लुटा रहे हैं और विकेट भी नहीं ले पा रहे हैं.

आखिरी ओवर्स में अच्छी गेंदबाजी की भुवी ने 
दिल्ली के खिलाफ भुवी ने अंतिम ओवर्स में भी अच्छी गेंदबाजी की. पारी के 16वें ओवर में भुवी ने केवल 8 रन दिए. वहीं 19वें ओवर में 10 रन दिए और क्रिस मॉरिस को आउट भी किया. इसके अलावा अगर संदीप कैच न छोड़ते तो उन्हें तीसरा विकेट भी मिल जाता. भुवनेश्वर का फॉर्म में वापस आना टीम इंडिया के लिए बहुत जरूरी है. उन्हें दिल्ली के खिलाफ मैच में उम्मीद तो जगाई है.

भुवी को इन दिनों वैसे ही टीम इंडिया में मौके मिलने कम हो गए हैं. एक समय तक भुवी टीम इंडिया के सबसे प्रमुख गेंदबाज माने जाते थे और उनके बिना टीम के बारे में सोचा भी नहीं जा सकता था. अब वे स्थान जसप्रीत बुमराह ने ले लिया है. ज्यादा नहीं साल भर पहले तक ही भुवी डेथ ओवर स्पेशलिस्ट माने जाते थे. अब डेथ ओवर्स में ही वे सबसे महंगे साबित हो रहे हैं. भुवी के साथ ही यह टीम इंडिया के लिए भी चिंता का सबब होता जा रहा है, उम्मीद है वे वर्ल्डकप में अपना प्रदर्शन सुधार लेंगे.

साहसी पत्रकारिता को सपोर्ट करें,
आई वॉच इंडिया के संचालन में सहयोग करें। देश के बड़े मीडिया नेटवर्क को कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर इन्हें ख़ूब फ़ंडिग मिलती है। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें।

About I watch