Saturday , April 20 2024

राफेल डील: कांग्रेस के लिए बड़ा चुनावी मुद्दा और मोदी सरकार के गले की फांस

नई दिल्ली। लंबे समय से राफेल डील को लेकर चल रहा विवाद अब मोदी सरकार के गले की फांस बन गया है. आज इस मामले में बड़ा ट्विस्ट आया जब सुप्रीम कोर्ट ने लोकसभा चुनाव के पहले चरण की वोटिंग से ठीक एक दिन पहले राफेल डील पर मोदी सरकार की सभी आपत्तियां खारिज कर दी. सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि लीक हुए दस्तावेज मान्य हैं और इस डील से जुड़े जो कागजात आए हैं, वो सुनवाई का हिस्सा होंगे. कांग्रेस के लिए ही नहीं बल्कि 2019 के चुनाव में राफेल डील बड़े चुनावी मुद्दों में शामिल हो गया है.
चुनावी मुद्दे बनते रहे हैं ‘घोटाले’
ये पहली बार नहीं है जब कोई घोटाला लोकसभा चुनाव में विपक्षा का बड़ा चुनावी हथियार बना हो. इससे पहले साल 1989 के लोकसभा चुनावों में राजीव गांधी की सरकार में हुए बोफोर्स डील को विपक्ष ने बड़ा चुनावी मुद्दा बनाया था. उस वक्त विपक्ष के चेहरा रहे पूर्व पीएम विश्वनाथ प्रताप सिंह ने बोफोर्स डील में 65 करोड़ की दलाली का मुद्दा जोरशोर से उठाया था और सीधे तौर पर तत्कालीन पीएम राजीव गांधी को आड़े हाथों लिया था. उस चुनाव में कांग्रेस को हार झेलनी पड़ी थी और चुनाव बाद वीपी सिंह गठबंधन सरकार के पीएम बने थे. साल 2014 में भी बीजेपी ने मनमोहन सरकार के टूजी और कोयला घोटाले को बड़ा चुनावी मुद्दा बनाया. इस चुनाव में भी विपक्षी बीजेपी को जीत मिली और बीजेपी पहली बार पूर्ण बहुमत के साथ सरकार में आई.
राफेल डील को लेकर विपक्ष के सबसे बड़े नेता राहुल गांधी लंबे समय से इस मामले में  सीधे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर हमलावर हैं और उनपर भ्रष्टाचार के आरोप लगा रहे हैं.  अब सुप्रीम कोर्ट के आज के आदेश के बाद राफेल डील के मुद्दे ने सिर्फ राहुल गांधी ही नहीं बल्कि पूरी कांग्रेस पार्टी को नया बल दे दिया है.
‘चौकीदार ही चोर है’ बनाम ‘मैं भी चौकीदार’
प्रधानमंत्री बनने के बाद एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मोदी ने कहा था, ‘मैं चौकीदार हूं. जनता के पैसे पर पंजा नहीं पड़ने दूंगा.’ तब किसी ने नहीं सोचा था कि आने वाले वक्त में पीएम के इस ‘चौकीदार’ शब्द को लेकर ही कांग्रेस उन्हें कटघरे में खड़ा कर देगी. राफेल डील के बाद राहुल गांधी ने सीधे पीएम मोदी पर भ्रष्टाचार के गंभीर आरोप लगाए और उन्हें चोर कह दिया. राहुल गांधी ने पीएम मोदी के ’मैं चौकीदार हूं’ पर सीधा हमला बोला और ‘चौकीदार ही चोर है’ का नया नारा दिया.
पीएम मोदी खुद और बीजेपी इस मामले को लेकर लगातार कांग्रेस पर झूठ बोलने के आरोप लगा रही है. हाल ही में कांग्रेस के इस नारे के जवाब में खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ‘मैं भी चौकीदार’ के नारे के साथ देशभर में मुहिम शुरू की. इसके बाद पीएम मोदी सहित तमाम केंद्रीय मंत्रियों और बीजेपी के छोटे-बड़े नेताओं ने ट्विटर पर अपने नाम के आगे ‘चौकीदार’ शब्द जोड़ लिया.
लोकसभा चुनाव के लिए पहले चरण की वोटिंग कल है और आखिरी चरण की वोटिंग 19 मई को होगी. ऐसे में साफ है कि चुनावी मौसम में कांग्रेस के पास राफेल डील पर मोदी सरकार को घेरने का बड़ा मौका मिल गया है.
साहसी पत्रकारिता को सपोर्ट करें,
आई वॉच इंडिया के संचालन में सहयोग करें। देश के बड़े मीडिया नेटवर्क को कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर इन्हें ख़ूब फ़ंडिग मिलती है। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें।

About I watch