Wednesday , April 24 2024

आजम को भाई मानती थीं जया प्रदा, अश्लील पोस्टर से शुरू हुआ था विवाद

लखनऊ। समाजवादी पार्टी के मुस्लिम चेहरा आजम खान ने 17 साल पहले रामपुर की सियासत में अपने सबसे बड़े सियासी दुश्मन नूर बानो को मात देने के लिए जिस तुरुप के पत्ते का इस्तेमाल किया था. आज जब उसी तुरुप के पत्ते को बीजेपी ने उन्हीं के खिलाफ चुनावी मैदान में उतार दिया है तो आजम खान उनके खिलाफ बदजुबानी पर उतर आए हैं और सारी सीमांए पार कर दी हैं.

आजम खान की ताजा टिप्पणी को लेकर जया प्रदा ने कहा है कि इस बार तो उन्होंने हद पार दी है. जया प्रदा ने कहा कि अब मेरी क्षमता खत्म हो गई है और आजम खान ने इतनी दुश्मनी पैदा कर दी है कि अब वो भाई क्या, मेरे कुछ नहीं बचे हैं.

दोनों नेताओं के बीच अदावत आज की नहीं है बल्कि दुश्मनी की खाई काफी पहले पैदा हो गई थी. इस अदावत को रामपुर के लोग 2009 के लोकसभा चुनाव में देख चुके हैं. दरअसल, आजम खान के विरोध के बावजूद जया प्रदा को मुलायम सिंह यादव ने सपा के टिकट पर रामपुर लोकसभा सीट से 2009 का चुनाव लड़ाया. आजम खान इससे नाराज हो गए और उन्होंने पार्टी लाइन के खिलाफ जाकर जया प्रदा का पुरजोर विरोध किया.

हालांकि, वो जया प्रदा को हराने में सफल नहीं हो पाए, लेकिन दोनों के बीच की तल्खी हर तरफ चर्चा का विषय बनी. यहां तक कि सपा से आजम खान का साथ भी छूट गया और उन्हें निष्कासित कर दिया गया. जया प्रदा की अश्लील तस्वीरें भी रामपुर में बांटने के आरोप लगे. अब चुनाव प्रचार में जया प्रदा खुद यह दावा कर रही हैं कि आजम खान कुछ भी कर सकते हैं और मुझे बदनाम करने के लिए मेरी अश्लील फोटोग्राफ्स फैलाई गईं.

हालांकि, आजम खान और जया प्रदा के बीच विवाद की बड़ी वजह पूर्व सपा नेता अमर सिंह को माना जाता है. सपा के तत्कालीन अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव और अमर सिंह बेहद करीबी रहे हैं. 2004 में अमर सिंह के कहने पर आजम खान ने ही जया प्रदा को रामपुर से लोकसभा चुनाव लड़वाया, जिसमें उन्हें जीत मिली. लेकिन जल्द अमर सिंह और आजम खान के रिश्तों में आई खटास का असर जया प्रदा और आजम खान के बीच दिखाई देने लगा. जब 2009 में दोबारा जया प्रदा को सपा ने टिकट दिया तो आजम खान खान नाराज हो गए और उन्होंने टिकट से लेकर चुनाव लड़ने तक जया प्रदा की मुखालफत की.

दोनों नेताओं के बीच बयानबाजी

दोनों नेताओं के बीच की नाराजगी उनके बयानों में भी अक्सर देखने को मिलती रही है. चुनाव से पहले साल 2018 में जब पद्मावत फिल्म आई तो उसमें खिलजी के रूप में दिखाए गए विलेन की तुलना जया प्रदा ने आजम खान से की. आजम खान भी जया प्रदा को नचनिया कहकर अक्सर उनकी आलोचना करते रहे. यहां तक कि जया प्रदा सार्वजनिक मंच से रोते हुए आजम खान के व्यवहार की आलोचना करती रही हैं.

अब जबकि दोनों 2019 का लोकसभा चुनाव आमने-सामने लड़ रहे हैं तो बयानबाजी का ये दौर सीमा पार करने लगा है. जया प्रदा चुनाव प्रचार में 2009 का जिक्र करते हुए आजम खान पर अपनी अश्लील फोटो शेयर करने के आरोप लगा रही हैं. आजम खान ने तो अंडरवियर तक को लेकर टिप्पणी कर दी है, जिसे लेकर हर तरफ से उनकी आलोचना हो रही है.

साहसी पत्रकारिता को सपोर्ट करें,
आई वॉच इंडिया के संचालन में सहयोग करें। देश के बड़े मीडिया नेटवर्क को कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर इन्हें ख़ूब फ़ंडिग मिलती है। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें।

About I watch