Thursday , July 25 2024

ममता को मोदी का जवाब- दीदी, आपका थप्पड़ भी मेरे लिए आशीर्वाद जैसा

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को पश्चिम बंगाल के बांकुरा में चुनावी सभा को संबोधित किया. प्रधानमंत्री के निशाने पर ममता बनर्जी रहीं. पीएम ने ममता बनर्जी को फानी तूफान के मुद्दे पर भी निशाने पर लिया तो वहीं संविधान का अपमान करने का आरोप लगाया. प्रधानमंत्री ने कहा कि ममता बनर्जी ने पहले सत्ता के नशे में बंगाल को बर्बाद किया और अब सत्ता जाने के डर से तबाह करने में तुली हैं.

प्रधानमंत्री ने कहा कि दीदी, बौखलाहट में देश के संविधान का इस्तेमाल कर रही हैं. अब वो प्रधानमंत्री को प्रधानमंत्री मानने के लिए तैयार नहीं हैं, लेकिन पाकिस्तान के पीएम को पीएम मानने में उन्हें गौरव होता है. बंगाल में जब ‘फानी’ तूफान आया, तो मैंने उन्हें दो बार फोन किया और उन्होंने मेरा फोन नहीं उठाया.

पीएम मोदी ने कहा कि ममता बनर्जी को अब मां, माटी और मानुष नहीं बल्कि कुर्सी-भतीजे और टोलेबाजों की परवाह है. उन्होंने कहा कि दीदी कितना परेशान है उसका अंदाजा भाषण से लग सकता है, अब वो मेरे लिए पत्थर और थप्पड़ की बात करती हैं लेकिन मुझे तो गालियों की आदत है.

बांकुरा के अलावा पुरुलिया की रैली में प्रधानमंत्री ने कहा कि दीदी कह रही हैं कि वो मोदी को थप्पड़ मारना चाहती हैं, लेकिन मैं तो कहता हूं मैं वो भी खाने को तैयार हूं. आपका थप्पड़ मेरे लिए आशीर्वाद जैसा है. उन्होंने कहा कि 23 मई के बाद ममता दीदी की सत्ता का पतन होना शुरू हो जाएगा.

BJP

@BJP4India

दीदी ने कहा हैं कि वो मोदी को थप्पड़ मारना चाहती हैं।

ममता दीदी मैं तो आपको दीदी कहता हूं, आपका आदर करता हूं।

आपका थप्पड़ भी मेरे लिए आशीर्वाद बन जाएगा: प्रधानमंत्री श्री @narendramodi

226 people are talking about this

ममता बनर्जी पर हमला करते हुए पीएम ने कहा कि केंद्र सरकार बंगाल के अधिकारियों के साथ बैठक करना चाहती थी, लेकिन दीदी ने मना कर दिया. ममता बनर्जी का ये अहंकार ही उन्हें ले डूबेगा. उन्होंने कहा कि TMC की सरकार ऐसी सरकार है, जहां पर भगवान का नाम लेने वाला भी परेशान है.

प्रधानमंत्री ने कहा कि मोदी को दीदी के गुस्से की जनता नहीं है, क्योंकि देशवासी मोदी के साथ हैं. पीएम ने कहा कि दीदी को उन राम भक्तों, सरस्वती भक्तों और दुर्गा भक्तों की चिंता करनी चाहिए, जिनको वह पूजा नहीं करने दे रही हैं. उन्होंने कहा कि दीदी के दिल में घुसपैठियों और विदेशी कलाकारों के लिए ममता है लेकिन हमारे आदिवासियों के लिए नहीं है.

आपको बता दें कि बंगाल में अभी तक हुए हर चरण के चुनाव में हिंसा देखने को मिली है, पांचवें चरण में भी बंगाल की कई सीटों पर मतदान होना है. बीजेपी इस बार बंगाल में कमल खिलाने की पूरी कोशिश कर रही है तो वहीं ममता बनर्जी की तरफ से बीजेपी को रोकने की पूरी कोशिश की जा रही है.

साहसी पत्रकारिता को सपोर्ट करें,
आई वॉच इंडिया के संचालन में सहयोग करें। देश के बड़े मीडिया नेटवर्क को कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर इन्हें ख़ूब फ़ंडिग मिलती है। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें।

About I watch