Saturday , July 20 2024

मुलायम की छोटी बहू का मायावती पर कटाक्ष, तिलमिला जाएंगी बसपा सुप्रीमो

लखनऊ। लोकसभा चुनाव में उम्मीद के मुताबिक परिणाम ना आने के बाद यूपी महागठबंधन में दरार दिखने लगा है, बसपा सुप्रीमो मायावती ने यूपी की 11 विधानसभा सीटों पर अकेले उप चुनाव लड़ने का फैसला किया है, इसके साथ ही मायावती ने हार के लिये जिम्मेदार अखिलेश यादव और सपा को बताया है, मायावती के इस बयान के बाद मुलायम सिंह यादव की छोटी बहू अपर्णा ने ट्वीट कर मायावती पर निशाना साधा है।

अपर्णा का ट्वीट
अपर्णा यादव ने अपने ट्वीट में लिखा है कि आज समाजवादी पार्टी के लिये मायावती का रुख जानकर बहुत दुख हुआ, अपर्णा ने लिखा, बहुत दुख हुआ जानकर आज मायावती जी का रुख समाजवादी पार्टी के लिये, शास्त्र में कहा गया है जो सम्मान पचाना नहीं जानता, वो अपमान भी नहीं पचा पाता।

हार की समीक्षा 
आपको बता दें कि बसपा सुप्रीमो मायावती ने बीते दिन दिल्ली में पार्टी के नेताओं की बैठक बुलाई थी, जिसमें उन्होने हार के लिये समाजवादी पार्टी और अखिलेश यादव को जिम्मेदार बताया, बसपा प्रमुख ने कहा कि यादव परिवार के आपसी झगड़ों से यादव वोट बंट गये, साथ ही मायावती ने अपनी पार्टी के नेताओं को अगले विधानसभा चुनाव में अकेले ही चुनाव लड़ने के लिये तैयार रहने को कहा।

घर का झगड़ा सुलझाने की नसीहत
बसपा प्रमुख ने अखिलेश यादव को पहले घर का झगड़ा सुलझाने की नसीहत दी, उसके बाद ही गठबंधन जारी रखने पर विचार किया जाएगा, लोकसभा चुनाव में करारी हार के बाद पहली बार आजमगढ पहुंचे अखिलेश यादव ने मायावती के बयान पर कुछ भी टिप्पणी करने से इंकार कर दिया, अखिलेश ने कहा कि मुझे नहीं पता कि उन्होने क्या कहा है, इसलिये मैं इस पर कुछ नहीं कहूंगा।महागठबंधन से मोह भंग
मालूम हो कि मोदी का रथ रोकने के लिये सपा – बसपा और रालोद ने महागठबंधन किया था, हालांकि लोकसभा चुनाव में बसपा को 10 सीटें और सपा को 5 सीटें मिली, जबकि बीजेपी 62 सीटें जीतने में सफल रही, चुनाव खत्म होने के बाद अब मायावती का महागठबंधन से मोहभंग होता दिख रहा है।

Aparna Bisht Yadav

@aparnabisht7

बहुत दुःख हुआ जानकर आज ji का रूख के लिए शास्त्र में कहा गया है जो सम्मान पचाना नहीं जानता वो अपमान भी नहीं पचा पाता।

206 people are talking about this
साहसी पत्रकारिता को सपोर्ट करें,
आई वॉच इंडिया के संचालन में सहयोग करें। देश के बड़े मीडिया नेटवर्क को कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर इन्हें ख़ूब फ़ंडिग मिलती है। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें।

About I watch