Monday , July 15 2024

कर्ज में डूबे अनिल अंबानी का नया दांव, बेचेंगे मुंबई का हेडक्‍वार्टर!

नई दिल्‍ली। रिलायंस ग्रुप के चेयरमैन अनिल अंबानी कर्ज चुकाने के लिए लगातार प्रयास कर रहे हैं. इसी के तहत अनिल अंबानी अब मुंबई में अपना हेडक्‍वार्टर बेचने की तैयारी में हैं. इसके लिए अनिल अंबानी ब्लैकस्टोन सहित कुछ ग्लोबल प्राइवेट इक्विटी फर्मों के साथ बातचीत कर रहे हैं.

इकोनॉमिक्‍स टाइम्‍स की एक रिपोर्ट के मुताबिक अनिल अंबानी मुंबई के सांताक्रूज में स्थित हेडक्‍वार्टर रिलायंस सेंटर को बेचकर या फिर लॉन्ग-टर्म लीज पर देकर कर्ज चुकाना चाहते हैं. रिलायंस सेंटर के नाम का यह हेडक्‍वार्टर 7 लाख स्‍क्‍वायर फुट में है और इसे बेचने से 1,500-2,000 करोड़ रुपये मिल सकते हैं.

रिपोर्ट में यह भी बताया गया है कि हेडक्‍वार्टर को बेचने के लिए रिलायंस ग्रुप इंटरनेशनल प्रॉपर्टी कंसल्टंसी जेएलएल को जिम्मेदारी दे सकता है.  रिपोर्ट के मुताबिक इस मामले की रिलायंस ग्रुप के प्रवक्ता ने इसकी पुष्टि की कि ग्रुप के मुंबई के हेडक्‍वार्टर सहित रियल एस्टेट ऐसेट्स को बेचने पर विचार किया जा रहा है. हालांकि, उन्होंने इस बारे में अधिक जानकारी देने से मना कर दिया. जबकि ब्लैकस्टोन ने इस डील पर टिप्पणी करने से इनकार कर दिया. बता दें कि रिलायंस ग्रुप के हेडक्वॉर्टर की मालिक रिलायंस इन्फ्रास्ट्रक्चर है.

अनिल अंबानी पर कर्ज

मुश्किलों में अनिल अंबानी

बता दें कि अनिल अंबानी की रिलायंस ग्रुप 1 लाख करोड़ से ज्‍यादा कर्ज में है. मार्च 2018 के आंकड़ों के मुताबिक रिलायंस ग्रुप के रिलायंस कैपिटल पर 46 हजार 400 करोड़ रुपये का कर्ज है. वहीं अगर आरकॉम की बात करें तो 47 हजार 234 करोड़ रुपये के कर्ज में डूबी है. रिलायंस होम फाइनेंस और इंफ्रा के कुल कर्ज 36 हजार करोड़ रुपये हैं. इसी तरह रिलायंस पावर पर 31 हजार करोड़ रुपये से अधिक का कर्ज है. हाल ही में अनिल अंबानी बिलेनियर क्‍लब से भी बाहर हो गए थे.

साहसी पत्रकारिता को सपोर्ट करें,
आई वॉच इंडिया के संचालन में सहयोग करें। देश के बड़े मीडिया नेटवर्क को कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर इन्हें ख़ूब फ़ंडिग मिलती है। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें।

About I watch