Friday , July 19 2019

बजट ने डुबोई निवेशकों की लुटिया, दो दिन में शेयर बाजार में 5 लाख करोड़ की चपत

मुंबई। शेयर बाजार को मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल का पहला आम बजट पसंद नहीं आ रहा है. दरअसल, शुक्रवार की बड़ी गिरावट के बाद सोमवार को भी बाजार में भगदड़ बरकरार रही. कारोबार के आखिरी घंटों में सेंसेक्‍स 850 अंक से ज्‍यादा टूट गया तो वहीं निफ्टी में 280 अंक तक की गिरावट देखने को मिली. इस दौरान सेंसेक्‍स 38,660 के स्‍तर पर पहुंच गया जबकि निफ्टी लुढ़क कर 11 हजार 500 पर आ गया. यह इस साल इंट्रा डे की सबसे बड़ी गिरावट है.

दोपहर 2 बजे बाजार की चाल

3 साल के निचले स्‍तर पर ऑटो सेक्‍टर 

कारोबार के दौरान सबसे अधिक गिरावट ऑटो सेक्‍टर के शेयर में देखने को मिली. ऑटो सेक्‍टर के शेयर 3 साल के लो लेवल पर हैं. मारुति और हीरो मोटोकॉर्प में 5 फीसदी से अधिक की गिरावट देखने को मिली. बजाज आटो, यस बैंक, एलएंडटी, महिंद्रा एंड महिंद्रा और ओएनजीसी सभी 2 फीसदी के करीब कमजोर दिख रहे हैं. आरआईएल में 1 फीसदी से अधिक की गिरावट दर्ज की गई.

दो दिन में डूबे 5 लाख करोड़

बजट के दिन यानी शुक्रवार के अलावा सोमवार के कारोबार में निवेशकों के 5 लाख करोड़ से अधिक डूब गए हैं. शुक्रवार को बीएसई लिस्‍टेड कंपनियों की मार्केट कैप 153.58 लाख करोड़ थी जो सोमवार को सुबह में लुढ़क कर 148.43 लाख करोड़ पर आ गई. इस लिहाज से दो दिन में 5 लाख करोड़ से अधिक की गिरावट आई है.

गिरावट की क्‍या है वजह

शेयर बाजार में इतनी बड़ी गिरावट की सबसे बड़ी वजह आम बजट से निवेशकों की निराशा है. बाजार के जानकारों के मुताबिक बजट में घरेलू अर्थव्‍यवस्‍था को बूस्ट देने का कोई क्लीयर रोडमैप नहीं दिखा. निवेश को कैसे बूस्ट मिलेगा, इसको लेकर सरकार ने स्थिति स्‍पष्‍ट नहीं की है. यही वजह है कि निवेशक निराश हैं.

इसके अलावा अमेरिका में जून महीने में जॉब डाटा बेहतर रहा है. जून में 2,24,000 नई नौकरियां दी गई हैं. यह जनवरी के बाद सबसे ज्यादा है. इसका मतलब यह हुआ कि यूएस में जॉब डाटा का प्रभाव पड़ा है. रुपये में कमजोरी की वजह से भी निवेशक सतर्क नजर आ रहे हैं.

अपडेट्स

–  इससे पहले 11 बजे के करीब सेंसेक्‍स में 600 अंकों की गिरावट आई और यह 38 हजार 900 के नीचे आ गया. वहीं निफ्टी 180 अंक टूट कर 11,630 अंक के स्‍तर पर कारोबार करता दिखा.

– इसी तरह करीब 1 बजे सेंसेक्‍स में 700 अंकों से अधिक की गिरावट दर्ज की गई. वहीं निफ्टी 190 अंक टूट गया.

– इस बीच, रुपये की शुरुआत कमजोरी के साथ हुई. डॉलर के मुकाबले रुपया 15 पैसे की गिरावट के साथ 68.57 के स्तर पर खुला. शुक्रवार डॉलर के मुकाबले रुपया 68.42 के स्तर पर बंद हुआ था.

बजट के दिन क्‍या था हाल

बीते सप्ताह के आखिर में आम बजट 2019-20 की घोषणाओं पर घरेलू शेयर बाजार की तत्काल प्रतिक्रिया निराशाजनक रही. कारोबार के अंत में  सेंसेक्स 394.67 अंक की गिरावट के साथ 39513.39 के स्तर पर रहा. वहीं निफ्टी 135.60 अंक की कमजोरी के साथ 11,811.15 के स्तर पर बंद हुआ. बता दें कि वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल का पहला आम बजट 2019-20 शुक्रवार को लोकसभा में पेश किया.

इस हफ्ते ये फैक्‍टर करेंगे काम

इस सप्ताह मंगलवार को देश की प्रमुख आईटी कंपनी टाटा कंसल्टेंसी यानी टीसीएस चालू वित्त वर्ष 2019-20 की पहली तिमाही, अप्रैल-जून, के अपने नतीजे जारी कर सकती है.  वहीं, सप्ताह के आखिर में शुक्रवार एक और बड़ी आईटी कंपनी इन्फोसिस अपने तिमाही परिणामों की घोषणा कर सकती है. इसके अलावा देश में औद्योगिक उत्पादन के मई महीने के आंकड़े भी शुक्रवार को जारी होने की संभावना है.  इसी दिन बीते महीने जून की खुदरा महंगाई दर के आंकड़े जारी हो सकते हैं.

इस सप्ताह अमेरिका समेत दुनिया के अन्य देशों में जारी होने वाले प्रमुख आर्थिक आंकड़ों का भी असर शेयर बाजार पर दिखेगा, लेकिन घरेलू बाजार पर सबसे ज्यादा असर देश में मानसून की प्रगति का रहेगा. मानसून देश के अधिकांश इलाकों में दस्तक दे चुका है, लेकिन पिछले सप्ताह देशभर में मानसूनी बारिश में छह फीसदी की कमी दर्ज की गई.

About I watch

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *