Tuesday , December 10 2019

विदेश मंत्रालय का पाकिस्तान को जवाब- पहले कुलभूषण पर पूरा फैसला तो पढ़ें

नई दिल्ली। कुलभूषण जाधव केस में अंतरराष्ट्रीय न्यायालय के फैसले को पाकिस्तान द्वारा अपनी जीत बताए जाने पर भारती विदेश मंत्रालय ने कड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त की है. गुरुवार को विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने पाकिस्तान के दावों की हवा निकालते हुए अंतरराष्ट्रीय न्यायालय का पूरा फैसला पढ़ने की नसीहत दी.

कुमार ने कहा कि न्यायालय का फैसला 42 पन्नों का है. यदि पाकिस्तान में पूरे 42 पन्ने पढ़ने का धैर्य न हो तो वह 7 पन्नों की प्रेस रिलीज ही पढ़ लें. जिसमें हर बिंदु पर फैसला भारत के पक्ष में है. उन्होंने कहा कि पाकिस्तान की अपनी मजबूरियां हैं. जिसकी वजह से वह अपने नागरिकों से झूठ बोल रहा है.

ANI

@ANI

Raveesh Kumar, MEA, on claims in Pakistan that they have won (): I think they have their own compulsions, as to why they have to lie to their own people. https://twitter.com/ANI/status/1151807757445738496 

ANI

@ANI

R Kumar on Pakistan claims it ‘won’ (#JadhavVerdict): Frankly,it seems to me they’re reading from a different verdict. Main verdict is in 42 pages, if there is no patience to go through 42 pages, they should go through 7-pages Press Release, where every point is in India’s favour

View image on Twitter
43 people are talking about this

हाफिज की गिरफ्तारी नाटक

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने हाफिज सईद की गिरफ्तारी को नाटक बताया. उन्होंने कहा कि गिरफ्तारी-रिहाई, गिरफ्तारी-रिहाई, यह लंबे समय से हो रहा है. भारत में होने वाली हर बड़ी आतंकी घटना के बाद उसे गिरफ्तार किया गया और फिर किसी आधार या अन्य कारणों से रिहा कर दिया गया. रवीश कुमार ने कहा कि सन 2001 से अब तक ऐसा 8 बार हो चुका है. मेरी नजर में यह नाटक ही है.

ANI

@ANI

Raveesh Kumar, MEA, on Pakistan arrests Hafiz Saeed: The question is whether this time it will be more than a cosmetic step, whether Hafiz Saeed will be tried & sentenced for his terrorist activities. We hope that this time Hafiz Saeed will be brought to justice https://twitter.com/ANI/status/1151811479169118208 

ANI

@ANI

R Kumar on #HafizSaeed arrested: It has been happening for a long time- arrest-release,arrest-release.After every major terror incident he perpetrates in India,he has been arrested&then released on some grounds or other. This drama, to my count,has happened over 8 times since ’01

View image on Twitter
31 people are talking about this

उन्होंने कहा कि अब सवाल यह है कि क्या इस बार हाफिज की गिरफ्तारी महज दिखाई के लिए उठाए गए कदम से अधिक होगी? क्या हाफिज सईद को उसकी आतंकवादी गतिविधियों के लिए सजा सुनाई जाएगी? विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने उम्मीद जताई कि इस बार हाफिज सईद के साथ न्याय होगा.  कुमार ने बताया कि विदेश मंत्री एस जयशंकर 25 और 26 जुलाई को ब्राजील के दौरे पर जाएंगे. जहां वह BRICS (ब्राजील, रूस, भारत, चीन, साउथ अफ्रीका) देशों के विदेश मंत्रियों की बैठक में भाग लेंगे. जिसमें इसी वर्ष नवंबर में ब्राजील के ब्रासीलिया में होने वाले 11वें BRICS सम्मेलन की तैयारियों और अन्य मुद्दों पर चर्चा होनी है.

ANI

@ANI

MEA: External Affairs Minister to visit Brazil from July 25-26, to participate in stand-alone meeting of BRICS Foreign Ministers. EAM during this visit is expected to discuss, among other issues, preparation for 11th BRICS summit to be held in Brasilia (Brazil) in November 2019

View image on Twitter
See ANI’s other Tweets

गौरतलब है कि पूर्व नौसेना अधिकारी कुलभूषण जाधव पाकिस्तान की जेल में बंद हैं. पाकिस्तान की सैन्य अदालत ने जाधव को मौत की सजा सुनाई थी. भारत इसके खिलाफ अंतरराष्ट्रीय न्यायालय पहुंच गया था और वियना संधि और अन्य अंतरराष्ट्रीय संधियों के उल्लंघन का आरोप लगाते सजा सुनाए जाने तक कानूनी प्रक्रिया पर सवाल उठाए थे. अंतरराष्ट्रीय न्यायालय ने दो वर्ष से अधिक चली सुनवाई के बाद बुधवार को जाधव की सजा पर रोक लगाने के साथ ही पाकिस्तान को काउंसलर उपलब्ध कराने का आदेश दिया था. पाकिस्तान तब से इसे अपनी जीत के रूप में प्रस्तुत कर रहा था.

About I watch

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *