Friday , April 19 2024

जल्द हल होगा कश्मीर मसला, धरती की कोई ताकत इसे नहीं रोक सकती: रक्षा मंत्री

कठुआ। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने दावा किया कि कश्मीर मुद्दे का समाधान अब होने को है, और “धरती की कोई ताकत इसे रोक नहीं सकती।” रक्षा मंत्री ने यह बात द्रास सेक्टर स्थित कारगिल युद्ध स्मारक पर कही। इस दौरान उन्होंने कठुआ और बसंतसर में दो पुलों का भी उद्घाटन किया।

Rajnath Singh

@rajnathsingh

At Kargil War Memorial in Drass.

View image on Twitter
1,798 people are talking about this

<script async

‘तो कैसे, हमें मालूम है’

उझ नदी पर बना 1,000 मित्र लम्बा कठुआ का पुल बॉर्डर रोड आर्गेनाइजेशन (बीआरओ, BRO) के अब तक के इतिहास का सबसे बड़ा प्रोजेक्ट है। ₹50 करोड़ के इस पुल का लोकार्पण करते हुए राजनाथ ने, जोकि मोदी सरकार के पहले कार्यकाल में गृह मंत्री का कार्यभार भी संभाल चुके हैं, देश को आश्वस्त किया कि “कश्मीर समस्या का हल जल्दी ही होने वाला है।” इस दौरान उन्होंने अपने गृह मंत्री होने के उस दौर को भी याद किया जब उनके नेतृत्व में पहुँचे सर्वदलीय डेलीगेशन से बात करने के लिए हुर्रियत नेताओं ने अपने घर के दरवाज़े तक नहीं खोले थे।

Rajnath Singh

@rajnathsingh

Paid tributes to fallen soldiers at Kargil War Memorial in Drass today. On the 20th anniversary of Kargil Vijay the proud nation remembers the exemplary valour and courage exhibited by our soldiers. We will never forget the sacrifices made by them.

View image on Twitter
866 people are talking about this

राजनाथ ने चेतावनी भी दी कि बातचीत ही उनकी सरकार के पास इकलौता विकल्प नहीं है। “अगर बातचीत से नहीं, तो कैसे, हमें मालूम है।” उन्होंने साथ ही जोड़ा, “इसका समाधान हो कर रहेगा। मैं जो बोलता हूँ, सोच-समझ कर बोलता हूँ। ऐसे नहीं बोलता हूँ।”

ANI

@ANI

Defence Minister Rajnath Singh in Kathua (J&K): People who are running a movement in Kashmir, if they want a solution through it, I appeal to them to at least sit & talk once, to understand what is the issue, what are the problems, so they could be solved together.

View image on Twitter
32 people are talking about this
साहसी पत्रकारिता को सपोर्ट करें,
आई वॉच इंडिया के संचालन में सहयोग करें। देश के बड़े मीडिया नेटवर्क को कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर इन्हें ख़ूब फ़ंडिग मिलती है। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें।

About I watch