Sunday , April 14 2024

हमारे कॉलमिस्ट

‘हम एक डिप्रेस्ड पीढ़ी तैयार कर रहे हैं’

तृप्ति शुक्ला हमने सामाजिक तौर पर सामान्यता और श्रेष्ठता के कुछ पैमाने गढ़े। जो इन पैमानों से थोड़ा भी इधर-उधर हुए, उन्हें हमने असामान्य और निम्न घोषित कर दिया। मसलन- कोई स्त्री या पुरुष, बालक या बालिका के पैमाने पर फिट नहीं बैठा तो उसे हमने समाज से बेदखल कर ...

Read More »

लाशों पर सियासत न हो

के विक्रम राव बीस भारतीय सैनिक, जिनकी लाशें सीमा पर चीन ने लौटाई हैं, उन्हें पीटकर, कूटकर मारा गया, शस्त्रों से नहीं| शव यही दर्शाते हैं| अर्थात हलाल की पद्धति में धीमे-धीमे हत्या की गई| तड़पा कर, यातना दे-दे कर| घूंसे, मुक्के, लात, लाठी, बेटन ही शायद प्रयुक्त हुए हों| ...

Read More »

भ्रष्टाचार कोई करे, दाग तो सीएम पर ही लगता है

अजय कुमार लखनऊ। उत्तर प्रदेश में सरकारी भ्रष्टाचार कैंसर की तरह जड़े जमाए हुए है। गत वर्ष इंडियन करप्शन सर्वे ने जब 2019 की रिपोर्ट तैयार की तो इसमें सबसे भ्रष्ट राज्यों की सूची में चैथे नंबर पर उत्तर प्रदेश का नाम आया। सर्वे टीम ने जिन लोगों से बात ...

Read More »

बड़ी नीक होती है खेल भावना

के. विक्रम राव यकीन नहीं होता| पर यह वाकया है सच| क्योंकि खेल की भावना से जुड़ा है, इसीलिए शायद| एक पुरानी घटना बरबस याद आ गई| बरलाडा (स्पेन) में विश्व दौड़ (रेस) प्रतिस्पर्धा (जनवरी 2013) हो रही थी| अंतिम दौर में केवल दो धावक बचे थे| स्पेन का चौबीस-वर्षीय ...

Read More »

सहारा समूह के कर्मियों के प्रमोशन का ख़तरनाक सच

साहसी पत्रकारिता को सपोर्ट करें, आई वॉच इंडिया के संचालन में सहयोग करें। देश के बड़े मीडिया नेटवर्क को कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर इन्हें ख़ूब फ़ंडिग मिलती है। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें।

Read More »

अब अमित शाह संभालेंगे राजधानी की कमान, दिल्ली केजरीवाल के हाँथ से निकली

शेखर पंडित  दिल्ली में कोरोना महामारी ने ने बहुत भयावह रूप ले लिया है। देश की राजभानी में लगभग 40 हज़ार COVID-19 मामलों के साथ दिल्ली देश में बड़ी विकट परस्थिति बन गई है और कोरोना के मामले में उससे आगे सिर्फ महाराष्ट्र और तमिलनाडु है। जानकरी हो की जिस ...

Read More »

जातीय आरक्षण की आग से देश को बचाना है तो तमाम चीज़ों का निजीकरण ही एकमात्र रास्ता रह गया है

दयानंद पांडेय सुप्रीम कोर्ट ने अभी अपने एक फ़ैसले में साफ़ कह दिया है कि आरक्षण मौलिक अधिकार नहीं है। कृपया मुझे यह कहने की अनुमति दीजिए कि आरक्षण हमारी सामाजिक और राजनीतिक व्यवस्था में बहुत बड़ा कोढ़ है। इस से जितनी जल्दी मुक्ति पा ली जाए बेहतर है। वह ...

Read More »

जनाब ! वर्चुअल नजरों से देखिये सब कुछ बहुत सुंदर है

राजेश श्रीवास्तव जब पूरा देश इन दिनों कोरोना नामक महामारी से जूझ रहा है और कमोबेश तकरीबन हर तबका रोजी-रोटी की जुगाड़ में बेेबस दिखायी दे रहा है। यह तस्वीर सिर्फ भारत ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया की है। हर देश अर्थव्यवस्था को ठीक करने और अपने यहां के नागरिकों ...

Read More »

अजय कुमार लल्लू- सत्ता का दम और दंभ आत्मबल को पंगु न बना दे!

के विक्रम राव सत्तासीन राजनेताओं द्वारा अपने विरोधियों को लम्बी अवधि तक कारागार में निरुद्ध नहीं करना चाहिए। सियासी सहिष्णुता का यही तकाजा है। यदि अपराध नृशंस हो, तो बात दीगर है| उत्तर प्रदेश में सदा ऐसी ही उदार परिपाटी रही है। सिवाय इमर्जेंसी (1975-77) वाले फासिस्ट इन्दिरा युग के। ...

Read More »

इंदिरा गाँधी अपदस्थ: आज ही के दिन जस्टिस सिन्हा ने ‘फासीवादियों’ के दबाव के बावजूद सुनाया था ऐतिहासिक फैसला

आशीष नौटियाल लोकतंत्र की हत्या, फासीवाद, संस्थाओं का दुरुपयोग… ये सब कुछ ऐसे चुनिन्दा शब्द हैं, जो वर्ष 2014 से ही अचानक से कॉन्ग्रेस के प्रिय नारे बने रहे। लेकिन यह सभी शब्द कॉन्ग्रेस ने आखिर सीखे कहाँ से। इसके लिए 12 जून का इतिहास जानना आवश्यक है। जाहिर सी ...

Read More »

एक गठरी में दाल ,चावल ,आटा बांध और हौसलो के उड़ान……(इलाहाबाद का विद्यार्थी जीवन……..अपना अनुभव)

इक्कीस बाइस साल की छोटी सी उम्र में गाव की पगडंडियों से उठ कर ,एक गठरी में दाल ,चावल ,आटा बांध कर जब एक लड़का खड़खड़ाती हुई बस में अपने हौसलो के उड़ान के साथ बैठता है तब उसके दिमाक मे बत्तियां जलती है ओ बत्तियां लाल होती है ओ ...

Read More »

दिल्ली में काम करता हूं, लेकिन आसरा यूपी ने दे रखा है, इलाज के लिए राज्य की पाबंदी बेमानी है

पंकज चतुर्वेदी दिल्ली के अस्पतालों में बाहर के राज्यों से आए लोगों का इलाज नहीं होगा– यह बात कह कर केजरीवाल जी ने एक राजनीतिक बहस छेड़ दी है ।यह बात सही है कि दिल्ली के स्वास्थ्य कर्मी कोरोना महामारी के शुरू होते से ही खुद कोरोना के शिकार हो ...

Read More »

शिवपाल व अखिलेश में गिले-शिकवे दूर, अखिलेश को बताया यूपी का श्रेष्ठ विकल्प

शिवपाल ने खत लिखकर अखिलेश को बेहतर नेतृत्व करने वाला बताया राजेश श्रीवास्तव कभी अखिलेश की समाजवादी पार्टी को चुनाव हराने का दाग अपने सिर से धोने का अब उनके चाचा शिवपाल सिंह यादव ने ठान लिया है। जब समाजवादी पार्टी के संरक्षक मुलायम सिंह यादव का स्वास्थ्य नाजुक है ...

Read More »

कोरोना मामले में इतनी बेफिक्री ठीक नहीं सरकार

राजेश श्रीवास्तव देश अब जहां कोरोना मरीजों के मामले में दुनिया में छठे स्थान पर पहुंच गया है और हालात बेहद नाजुक हैं। ऐसे में रोज शाम को स्वास्थ्य मंत्रालय का यह कहना कि इस तरह की तुलना किसी देश से करना ठीक नहीं है, बताती है कि सरकार इसको ...

Read More »

हथिनी की मौत पर मेनका गांधी ने वायनाड सांसद राहुल गांधी की चुप्पी पर उठाये सवाल

दयानंद पांडेय केरल के पालक्कड़ में अनानास में विस्फोटक रख कर हथिनी को खिला कर उस की हत्या पर मेनका गांधी ने राहुल गांधी की चुप्पी पर सवाल क्या उठा दिया राहुल गांधी के बचाव में तमाम वामपंथी लेखक और पत्रकार मेनका गांधी की साड़ी उतारने में जी-जान से लग ...

Read More »