Friday , September 25 2020

CCTV कंपनी के मालिक का बड़ा खुलासा, ​सुसाइड के दिन खराब नहीं थे सीसीटीवी

बॉलीवुड एक्टर सुशांत सिंह राजपूत सुसाइड केस एक मिस्ट्री बनाता जा रहा है। हर पल इस केस में नए खुलासे हो रहे हैं। अबतक इस केस में 40 से ज्यादा लोगों से पूछताछ हो चुकी है। वहीं लगातार सीबीआई जांच की मांग के बाद अब ये केस आखिरकार सीबीआई को ट्रांसफर कर दिया गया है। अब इस केस की बागडोर पूरी तरह से सीबीआई के हाथ में है। सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने इस बात की जानकारी दी है। वहीं अब इस मामले में CCTV कंपनी के मालिक ने बड़ा खुलासा किया है। उन्होंने सुशांत सिंह राजपूत के निधन के दिन बिल्डिंग में लगे सीसीटीवी की पूरी सच्चाई बताई।

सीसीटीवी के मालिक का खुलासा: 

रिपब्लिक भारत की एक रिपोर्ट के अनुसार, सीसीटीवी के मालिक ने कहा है कि सुशांत सिंह राजपूत के निधन के दिन उनकी बिल्डिंग में कैमरे चालू थे। पहले, यह बताया गया था कि दिवंगत अभिनेता की इमारत के आसपास लगे सीसीटीवी 13 जून और 14 जून को खराब थे। हालांकि, अब सीसीटीवी कंपनी के मालिक का कहना है कि 14-15 की दरमियान रात सीसीटीवी खराब नहीं थे। इतना ही नहीं उसमे हल्की-फुल्की कोई खराबी तक नहीं आई थी वह बिल्कुल ठीक तरह से काम कर रहे थे। मुंबई पुलिस इस मामले में कुछ छिपा रही है। सीसीटीवी कंपनी के मालिक का ये बयान काफी चौंकाने वाला है।

पूर्व असिस्टेंट ने किए चौंकाने वाले खुलासे: 

आपको बता दें कि हाल ही में आजतक से बातचीत में सुशांत के पूर्व असिस्टेंट रहे अंकित आचार्य ने रिया को लेकर काफी चौंकाने वाले खुलासे किए हैं। उन्होंने इंटरव्यू के दौरान बताया, ‘मैं और सुशांत भाई की तरह रहते थे। मैं परछाई की तरह हमेशा ही उनके साथ रहता था। मैंने तीन सालों तक सुशांत भैया के साथ काम किया था,  लेकिन एक बार जब मैं किसी काम से गांव गया और वापस लौटा तो पूरा स्टाफ बदल चुका था। यहां तक की बॉडीगार्ड भी। इसके बाद जब सुशांत भैया ने मेरे पैसों का हिसाब किया तब मैं उनसे मिला। वह काफी बदले हुए और परेशान लग रहे थे। वहीं, स्टाफ ने बताया कि रिया भैया का सारा पैसा शॉपिंग, खाने और पूजा से संबंधित चीजों में खर्च किए थे। उनके नए कर्मचारियों ने बताया था ​कि लगातार पूजा-पाठ हो रही थी, लेकिन वो पूजा किस चीज की थी, ये किसी को नहीं पता था।’

About I watch

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

कोरोना का कहर

भारत की स्थिति