Tuesday , September 22 2020

ट्र्रंप ने अपने प्रतिद्वंद्वी को ललकारा, कहा-माद से बाहर निकलो, बिडेने ने नस्‍लीय आंदोलन को दी हवा

वाशिंगटन। कोरोना महामारी का असर अमेरिकी राष्‍ट्रपति चुनाव के प्रचार में भी देखा जा सकता है। रिपब्लिकन एवं डेमोक्रटिक पार्टी की ओर से प्रचार अभियान के लिए ट्विटर का सहारा लिया जा रहा है या वर्चुअल सभाओं का आयोजन किया जा रहा है। शनिवार को अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप ने ट्वीट करके अपने प्रतिद्वंद्वी और डेमोक्रेटिक पार्टी के उम्‍मीदवार जो बिडेन को ललकारा है। उन्‍होंने कहा कि अपनी माद से बाहर निकलों और चुनाव प्रचार करो। उन्‍होंने कहा कि देश की जनता को सुस्‍त नहीं तेज राष्‍ट्रपति चाहिए। वहीं, बिडेन ने अपनी एक  वर्चुअल सभा में नस्‍लीय आंदोलन को लेकर ट्रंप को कटघरे में खड़ा किया है। इस बीच द हिल द्वारा बताए गए मॉर्निंग कंसल्ट सर्वे के अनुसार डेमोक्रेटिक उम्‍मीदवार बिडेन लगातार अपनी बढ़त बनाए हुए हैं। हालांकि , रिपब्लिकन के लिए राहत की बात यह है कि  रिपब्लिकन नेशनल कन्वेंशन के बाद बिडेन की बढ़त का मार्जिन कम हुआ है।

शनिवार को रिपब्लिकन प्रत्‍याशी डोनाल्‍ड ट्रंप ने ट्वीट पर डेमोक्रटिक पार्टी के उम्‍मीदवार जो बिडेन पर तंज कसते हुए कहा है कि अपने तहखाने से बाहर आइए और जनता का सामना कर‍िए। ट्रंप ने कहा कि सर्वेक्षण में तेजी से गिरावट के बाद बिडेन 10 दिनों के भीतर अपने तहखाने से बाहर निकलने को राजी हो गए हैं। ट्रंप ने जोर देकर कहा कि अमेरिकी जनता एक तेज-तर्रार और स्‍मार्ट राष्‍ट्रपति से प्‍यार करती है। उन्‍होंने कहा कि अमेरिकी जनता को एक तेज चालक चाहिए न की सुस्‍त। इस तरह ट्रंप ने ट्वीट के जरिए चुनावी लहर को तेज कर दिया है।

उधर, एक वर्चुअल सभा में डेमोक्रेटिक उम्‍मीदवार बिडेन ने ट्रंप पर निशाना साधते हुए कहा है कि वह अपने निजी स्‍वार्थों के लिए कभी सेना का इस्‍तेमाल नहीं करेंगे। बिडेन ने नस्‍लीय आंदोलन में सेना के इस्‍तेमाल की मुखालफत किया। उन्‍होंने ट्रंप पर आरोप लगाते हुए कहा कि अपने व्‍यक्तिगत प्रतिशोध की पूर्ति के लिए राष्‍ट्रपति ने नस्‍लीय आंदोलन में सेना का इस्‍तेमाल किया है। बिडेन ने इस नागरिकों  अधिकारों का उल्‍लंघन करार दिया। नेशनल गार्ड एसोसिएशन ऑफ यूनाइटेड स्टेट्स के आम सम्मेलन में उन्‍होंने अपने वर्चुअल संबोधन में उक्‍त बाते कहीं हैं। इस सम्‍मेलन में बिडेन ने देशवासियों से वादा किया कि वह नागरिक और सैन्‍य शक्तियों के बीच अलगाव को बहाल करेंगे। उन्‍होंने कहा कि नागरिकों के अधिकारों की रक्षा हमारे गणतंत्र का मूल है। उन्‍होंने कहा कि  अगर मैं राष्‍ट्रपति बना तो मैं आपको कभी भी राजनीति या व्‍यक्तिगत प्रतिशोध के बीच नहीं डालूंगा।

About I watch

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

कोरोना का कहर

भारत की स्थिति