Thursday , October 1 2020

Double Murder in Lucknow: मां-भाई की कात‍िल किशोरी बोली, मुझे अक्सर दिखता है भूत…आज भी आया था

लखनऊ। दिनदहाड़े राजधानी के सबसे पॉश इलाके में डबल मर्डर की सूचना से सनसनी फैल गई पुलिस आयुक्त घटनास्थल पर पहुंचे। इसके बाद बड़ी संख्या में पुलिस बल बुला ली गई। थोड़ी देर में डीजीपी भी मौके का मुआयना करने पहुंचे और घटना की छानबीन कर राजफाश के निर्देश दिए। इसके बाद पुलिस आयुक्त ने सरकारी आवास का निरीक्षण शुरू किया। छानबीन में पता चला कि मां और बेटे एक ही बेड पर सो रहे थे और उन्हें सोते समय गोली मारी गई है। बेड पर मालिनी और उनके बेटे का शव पड़ा था। उसके नीचे एक मोबाइल फोन बरामद किया गया। वह फोन मालिनी का था, जिसे बेड के नीचे फेंक दिया गया था।

पुलिस आयुक्त ने आरडी बाजपेई की बेटी से पूछताछ की तो वह रोने लगी। करीब दो से तीन घंटे तक किशोरी दोनों हाथों से अपना चेहरा ढक कर बैठी रही। इस बीच उसने किसी से भी बातचीत से इंकार कर दिया। कई बार किशोरी से पुलिस ने पूछताछ की कोशिश की, लेकिन वह बार-बार अपने पिता के आने के बाद ही कुछ बोलने की बात कहती रही। घर में बाहर से किसी के प्रवेश की पुष्टि नहीं हुई और सामान भी सारा सुरक्षित मिला। उधर, किशोरी लगातार अपने हाथों को छुपाए हुई थी, जिससे पुलिस आयुक्त को शक हुआ। इसके बाद पुलिस आयुक्त ने सिविल अस्पताल से चिकित्सकों की एक टीम बुलाई। शुरुआत में पुलिस को लगा कि किशोरी सदमे में है, जिसके कारण वह किसी से बातचीत नहीं कर रही है। हालांकि बाद में उसकी मनोस्थिति देखकर पुलिस को शक हुआ। इसके बाद चिकित्सकों की टीम ने किशोरी को एक इंजेक्शन दिया और इसी बहाने उसके हाथ पर लगे चोट देख लिए। बस, फिर क्या था। फॉरेंसिक और क्राइम ब्रांच की टीम ने पूरे आवास का निरीक्षण किया। इस बीच किशोरी के कमरे में मेज पर एक सैड इमोजी और कंकाल तंत्र रखा मिला।

किशोरी से महिला पुलिस ने जब पूछताछ शुरू की तो उसने बताया कि मुझे भूत दिखाई देता है। यही नहीं उसने यह भी कहा कि शनिवार को भी उसे भूत नजर आया था। किशोरी ने कई तरह की अजीबोगरीब कहानियां पुलिस को सुनाई और आखिरकार घटना को अंजाम देने की बात कबूल कर ली। हैंड राइटिंग मिलान से आसान हुई राहकिशोरी ने शीशे पर टमाटर की चटनी से डिस्क्वालिफाईड ह्यूमन लिखा था। पुलिस ने जब किशोरी की कॉपी से हैंड राइटिंग का मिलान किया तो काफी हद तक दोनो में समानता पाई गई। इसके बाद पूरी कहानी परत दर परत खुलकर सामने आ गई। किशोरी ने जिस असलहे का इस्तेमाल किया था वह उसके पिता के नाम से रजिस्टर्ड है, जिसे पुलिस ने कब्जे में ले लिया है।

About I watch

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

कोरोना का कहर

भारत की स्थिति