Thursday , September 24 2020

India China Tension: सेना प्रमुख बोले- LAC पर हालात नाजुक और गंभीर, हर चुनौती के लिए सेना तैयार

जम्मू । चीन के साथ नए सिरे से बढ़े तनाव के बीच थलसेना अध्यक्ष जनरल एमएम नरवाने लद्दाख दौरे पर हैं। इस दौरान उन्होंने सेना की तैयारियों का जायजा लिया। सेना प्रमुख ने कहा कि पूर्वी लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा पर हालात नाजुक है और भारतीय सेना ने चीन की चुनौती का सामना करने के लिए पूरी तैयारी कर ली है। क्षेत्र में सेना की उचित तैनाती की गई है व अधिकारी व जवान हर प्रकार के हालात का सामना करने के लिए सक्षम हैं।

दो दिवसीय दौरे के दूसरे दिन लेह में मीडिया से बातचीत में थलसेना प्रमुख ने कहा कि वास्तविक नियंत्रण रेखा पर चीन की हरकतों को देखते हुए सुरक्षा को पुख्ता बनाने के लिए हर संभव कदम उठाए गया है। ऐसे में हर हाल में सुरक्षा की स्थिति बरकरार रहेगी। बता दें कि चीन द्वारा पैंगोंग झील के दक्षिणी किनारे पर यथास्थिति को एकतरफा बदलने की विफल कोशिशों के कारण हालात तनावपूर्ण हैं। चीन की हरकतों को देखते हुए भारत ने इस क्षेत्र में अतिरिक्त बल और हथियारों की तैनाती को बढ़ा दिया है।

उन्होंने कहा कि इस समय अग्रिम इलाके में सेना के अधिकारी व जेसीओ बुलंद हौसले के साथ चुनौतियों का सामना करने की मुहिम पर हैं। उनसे मिलने के बाद मुझे पूरा यकीन है कि वे हर हाल में देश व सेना का नाम रोशन करेंगे। दौरे के दूसरे दिन शुक्रवार को आर्मी चीफ ने अग्रिम इलाकों का दौरा कर चीन की साजिशों को नाकाम बनाने के लिए की गई ऑपरेशनल तैयारियों का जायजा लिया। उन्होंने वास्तविक नियंत्रण रेखा पर चीन की चुनौतियों का सामना कर रहे जवानों से भी बातचीत की। आर्मी चीफ शुक्रवार को पूर्वी लद्दाख के फील्ड कमांडरों से सेना की रणनीति पर विचार-विमर्श करने के बाद दिल्ली लौट जाएंगे।

पैगोंग त्सो झील के करीब चीन सेना की घुसपैठ को नाकाम बनाने से वास्तविक नियंत्रण रेखा के मौजूदा हालात पर सेना प्रमुख ने चौदह कोर के कोर कमांडर व अन्य फील्ड कमांडरों से बैठक भी की थी। आर्मी चीफ के दो दिवसीय दौरे से पूर्वी लद्दाख में सेना व जवानों का हौसला दोगुना हो गया है। इस समय बुलंद हौसले के साथ चीन के सामने खड़ी भारतीय सेना ने पैगोंग त्सो झील के निकट रणनीतिक रूप से अहम ब्लैक टॉप चोटी पर कब्जा किया है। उंचाई वाले इस इलाके में भारतीय सेना की मौजूदगी चीन के घातक है।

भारत ने सामरिक महत्व के ठिकानों पर अपनी मौजूदगी बढ़ाई 

सोमवार को भारतीय सेना ने बताया था कि चीनी सेना ने 29-30 अगस्त की रात पैंगोंग झील के दक्षिणी किनारे पर यथास्थिति को बदलने की ‘एकतरफा’ कोशिश में ‘उकसावे वाली सैन्य गतिविधियां’ कीं, लेकिन भारतीय सैनिकों ने चीन की कोशिशों को विफल कर दिया। इस घटना के बाद भारतीय सेना ने पैंगोंग झील के दक्षिणी किनारे पर स्थित ऊंचाई वाले कम से कम तीन सामरिक महत्व के ठिकानों पर अपनी मौजूदगी बढ़ा दी है। सूत्रों ने बताया कि एलएसी से लगे भारतीय क्षेत्र में पैंगोंग झील के उत्तरी किनारे पर भी एहतियाती तौर पर सैनिकों की तैनाती का ‘पुनर्नियोजन’ किया गया है।

About I watch

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

कोरोना का कहर

भारत की स्थिति