Monday , November 29 2021

Barabanki accident:’चीख-पुकार कर एकदम से नींद खुली, लेकिन इससे पहले कि संभल पाते, ट्रक ने सबको कुचल दिया’

बाराबंकी/लखनऊ। यूपी के बाराबंकी में देर रात हुए भीषण सड़क हादसे में 18 मजदूरों की मौत हो गई जबकि 19 घायल हो गए। हादसा बाराबंकी के रामसनेही घाट कोतवाली इलाके में हुआ। हादसे के वक्त खराबी आने के कारण बस हाइवे पर खड़ी थी और बस से उतरकर मजदूर सड़क पर सो रहे थे। इतने में पीछे से आ रहे तेज रफ्तार ट्रक ने टक्कर मार दी और सारे मजदूरों को कुचल दिया। बस हरियाणा से लखनऊ बाराबंकी होते हुए बिहार के सहरसा जा रही थी। हादसे के चश्मदीद ने उस भयानक मंजर को याद करते हुए साथियों को खोने का दुख बयां किया।

हादसे के चश्मदीद और घायल मजदूर ने बताया, ‘मैं बिहार साइड से हूं। हम हरियाणा से चलकर यूपी पहुंचे और लखनऊ पहुंचने के बाद बाराबंकी हाइवे पर गया और फिर अचानक बस खराब हो गई। मैकेनिक को बुलाया गया लेकिन उसे आने में दो घंटे देरी हो रही थी। इतने में सारे लोग बस से उतरकर नीचे आ गए और वहीं सो गए। इतने में पीछे से एक ट्रक आया और उसने टक्कर मार दी। सारे मजदूर कुचल गए। हादसा करीब पौने 12 बजे हुआ।’

‘संभलने से पहले ही आ गई मौत’

चश्मदीद ने बताया, ‘बस में 40 लोग सवार थे। कुछ लोग बस के अंदर थे, कुछ बाहर। हादसे के वक्त हम सोये हुए थे। जब बस ने टक्कर मारी तो पीछे के लोग चिल्लाए, जिससे सारे लोग एकदम से जागे लेकिन खुद को बचा नहीं पाए और ट्रक कुचलकर निकल गया। प्रशासन की तरफ से हमें मदद मिली, हमें शिफ्ट करके अस्पताल पहुंचाया गया।’

पुलिस अधिकारी ने बताया, ‘बस में ज़्यादातर लोग पंजाब और हरियाणा में काम करके वापस अपने घर लौट रहे थे। बस में खराबी के बाद लोग बस से उतरकर बस के नजदीक ही लेटे हुए थे।’ लखनऊ जोन के एडीजी एसएन साबात ने बताया कि अभी भी कई लोग बस के नीचे फंसे हुए हैं। पुलिस ने बताया रामसनेही हाइवे पर बस खराब हो गई थी। इस बस में बिहार के मजूदर सवार थे। मजदूर पंजाब-हरियाणा में काम करते थे। वहां से बिहार जा रहे थे। रास्ते में बस का एक्सल खराब हो गया।

बस के आगे लेटकर कर रहे थे आराम

ड्राइवर ने मजदूरों को बताया कि बस सही होने में देर लगेगी। सभी को नींद आ रही थी इसलिए वे बस के आगे और पास में सड़क किनारे ही लेटकर आराम करने लगे। तभी पीछे से आए तेज रफ्तार ट्रक ने सभी को कुचल दिया। हादसे में 18 मजदूरों की मौत हुई जबकि 19 घायल हुए हैं।

About I watch

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

कोरोना का कहर

भारत की स्थिति