Friday , September 24 2021

24 घंटों में 300 तालिबानियों का किया सफाया, आतंकियों का काल बनी अफगानी सेना

बीते 24 घंटे में अफगानी सेना ने 300 से ज्यादा तालिबानी मार गिराए हैं । जबकि 125 से ज्यादा के घायल होने की खबर है । अफगानिस्‍तान के रक्षा मंत्रालय की ओर से यह जानकारी दी गई है । बताया गया है कि देश के नंगरहार, लगमन, गजनी, पक्तिका, कंधार, जाबुल, हेरात, जोज्जान, समांगन, फरयाब, सर-ए पोल, हेलमंद, निमरूज, कुंदुज, बगलान और कपिसा के इलाकों में सेना ने बीते 24 घंटे में ऑपरेशन चलाया । सेना ने बड़ी मात्रा में हथियारों का जखीरा और लड़ाकों का ठिकाना भी ध्वस्त कर दिया है।

गृह युद्ध जैसे हालात

तालीबानी, पाकिस्तान की मदद से अफगानिस्तान में दहशत फैला रहे है, आतंकियों ने देश के ज्‍यदातर हिस्‍सों को कब्‍जा लिया है । अमेरिकी सेना की वापसी के साथ ही अफगानिस्‍तान तालिबान के हाथों में जाता नजर आ रहा है, लेकिन सेना के पलटवार ने देश में अब गृह युद्ध जैसे हालात पैदा कर दिए हैं । बस एक दिन पहले ही तालिबानियों ने अफगानिस्तान के कार्यवाहक रक्षा मंत्री बिस्मिल्ला खान मोहम्मदी को निशाना बनाया था, हालांकि मंत्री इस हमले में बाल-बाल बच गए। ये हमला उनके घर पर किया गया था।

 

बढ़ रहा तालिबान का कहर

वहीं अफगानिस्तान में तालिबान लगातार क्रूर हरकतों से बाज नहीं आ रहा, टोलो न्यूज ने उरुजगन गवर्नर मोहम्मद उमर शिरजाद के हवाले से बताया कि तालिबान ने अफगानिस्तान के प्रसिद्ध कवि और इतिहासकार अब्दुल्ला आतिफी की हत्या कर दी है। इससे पहले तालिबान की ओर से कॉमेडियन नजर मोहम्मद की हत्या कर दी गई थी। इसके अलावा भी कई खास लोगों को तालिबानी निशाना बना चुके हैं ।

पश्तून नेताओं का आरोप, युद्ध के लिए पाकिस्तान जिम्मेदार

अफगानिस्‍तान में तालिबान के बढ़ते वर्चस्‍व को लेकर पश्तून नेता महमूद खान अचकजई का बयान आया है । अचकजई ने इमरान खान के नेतृत्व वाली पाकिस्तान सरकार की निंदा की है । उन्होंने कहा कि इस देश में शांति क्षेत्रीय स्थिरता के लिए महत्वपूर्ण है। पाकिस्तान की अवामी नेशनल पार्टी के नेता के नेता अचकजई ने हाल ही में कहा था कि दुनिया को अफगानिस्तान की स्वतंत्रता का सम्मान करना चाहिए। महमूद ये भी बोले कि अगर पाकिस्तान ने कोई कार्रवाई नहीं की तो अफगानिस्तान में युद्ध जल्द ही इस्लामाबाद तक पहुंच जाएगा, और तब सब आतंक का मंजर देखते रह जाएंगे ।

About I watch

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

कोरोना का कहर

भारत की स्थिति