Saturday , September 18 2021

मोदी का 8 साल पुराना वीडियो वायरल:गुजरात के CM रहते हुए कहा था- सेना के जवानों को ट्रेनिंग दी जाए तो 5-10 ओलिंपिक मेडल तो वही ले आएंगे

जेवलिन थ्रोअर नीरज चोपड़ा ने शनिवार को टोक्यो ओलिंपिक में भारत को पहला गोल्ड दिलाया। नीरज भारतीय सेना की 4 राजपूताना राइफल्स में सूबेदार हैं। नीरज की कामयाबी के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का एक वीडियो सोशल मीडिया पर शेयर किया जा रहा है।

यह वीडियो 2013 का है। तब नरेंद्र मोदी गुजरात के मुख्यमंत्री थे। 14 जुलाई, 2013 को उन्होंने पुणे के फर्गुसन कॉलेज में स्पीच दी थी। इसमें उन्होंने देश को ओलिंपिक में मेडल न मिलने पर सवाल उठाए थे। उन्होंने कहा था कि अगर सेना के जवानों को ही ट्रेनिंग दी जाए तो 5-10 मेडल तो वही ला सकते हैं।

इस स्पीच से पहले 2012 में लंदन ओलिंपिक हुआ था। उसमें भारत ने 6 मेडल जीते थे। इनमें विजय कुमार ने शूटिंग में सिल्वर जीता था। तब विजय कुमार सेना में मानद कैप्टन थे।

मोदी के पुणे में दिए भाषण की खास बातें
क्या 120 करोड़ का देश, जब भी ओलिंपिक गेम्स होते हैं, उस समय टीवी में, अखबारों में, नेताओं में, सामाजिक जीवन में सब जगह पर चर्चा होती है। इतना बड़ा देश गोल्ड मेडल नहीं मिला। इतना बड़ा देश मेडल नहीं मिला। फलां देश ये कर गया। ढिकाना देश ये कर गया।

ठीक है स्थिति है, लेकिन क्या कभी इस देश की शिक्षा व्यवस्था को हमने इसके साथ जोड़ा। हमारी युवा पीढ़ी को हमने मौका दिया। क्या 120 करोड़ के देश में नहीं मिल सकता। सिर्फ सेना के जवानों को ये काम दिया जाए। सेना के जवानों में से मैपिंग की जाए। खेल में रुचि लेने वाले हैं, उन्हें अलग जगह पर रखा जाए। उनको ही ट्रेनिंग दी जाए तो 5-7-10 मेडल तो सेना के ये जवान लेकर आ सकते हैं। सोच चाहिए सोच। और फिर सिर पर हाथ पटककर बैठे रहना। कुछ नहीं हुआ। फिर एक-दो को नसीब आ गया तो उसी को सीना तानकर घूमते रहना।

मोदी ने हॉकी खिलाड़ियों को फोन कर उनका हौसला बढ़ाया था
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ओलिंपिक के ब्रॉन्ज मेडल मुकाबले में ब्रिटेन से हारने वाली महिला हॉकी टीम का हौसला बढ़ाते हुए मैच के बाद पूरी टीम से मोबाइल पर बात की थी। इस दौरान हॉकी टीम की सभी लड़कियां बेहद भावुक हो गईं और रोने लगीं। मोदी ने उनसे कहा कि रोना नहीं है, आपकी मेहनत से देश की हॉकी पुनर्जीवित हुई है। वहीं भारतीय पुरुष हॉकी टीम के ब्रॉन्ज जीतने पर भी मोदी ने टीम के सदस्यों से मोबाइल पर बात की थी।

पीवी सिंधु से किया था साथ आइसक्रीम खाने का वादा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ओलिंपिक के लिए रवाना होने से पहले भी भारतीय खिलाड़ियों से बात की थी। इनमें तीरंदाज दीपिका कुमारी और प्रवीण जाधव, टेनिस स्टार सानिया मिर्जा, जैवलिन थ्रोअर नीरज चोपड़ा, एथलीट दुती चंद, बॉक्सर आशीष कुमार और मेरीकॉम, टेबल टेनिस प्लेयर मनिका बत्रा और शरत कमल, रेसलर विनेश फोगाट, स्विमर साजन प्रकाश, शूटर इलावेनिल और हॉकी के मनप्रीत सिंह समेत 15 खिलाड़ी शामिल हुए थे।

प्रधानमंत्री ने शटलर पीवी सिंधु से बातचीत के दौरान बताया कि जब सिंधु बैडमिंटन प्रैक्टिस करती थीं, तो उनके माता-पिता आइसक्रीम खाने से रोका करते थे। खेल में फिटनेस काफी मायने रखती है, इसलिए वे ऐसा करते थे। PM ने सिंधु से कहा कि टोक्यो में आपकी सफलता के बाद मैं आपके साथ में आइसक्रीम खाऊंगा।

About I watch

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

कोरोना का कहर

भारत की स्थिति