Saturday , July 20 2024

‘मदरसे की जगह स्कूल गए होते तो दिक्कत नहीं होती’: झंडा फहराने के बाद राष्ट्रगान भूले सपा नेता, सांसद ST हसन भी थे मौजूद

मुरादाबाद/लखनऊ। मुरादाबाद में समाजवादी पार्टी के नेताओं ने रविवार (15 अगस्त, 2021) को 75वें स्वतंत्रता दिवस के मौके पर झंडा तो फहराया, लेकिन इस दौरान वो राष्ट्रगान ही भूल गए। हैरानी की बात ये है कि उस वक़्त सपा के सांसद डॉक्टर सैयद तुफैल हसन भी वहाँ पर मौजूद थे। पूरा राष्ट्रगान भी नहीं हुआ और उलटा-पुलटा गा कर सपा नेता वहाँ से चलते बने। ST हसन मुरादाबाद के मेयर भी रहे हैं। इससे पहले वो बसपा में थे।

इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया, जिसके बाद लोगों ने एक से बढ़ कर एक प्रतिक्रिया दी। ब्रह्मा सेठी नाम के ट्विटर यूजर ने लिखा कि यहाँ राष्ट्रगान भूलने की बात कहाँ से आ गई, क्योंकि इनलोगों ने तो कभी राष्ट्रगान याद ही नहीं किया।

अंकिता सिंह नाम की ट्विटर यूजर ने लिखा, “काश ये मदरसा की जगह स्कूल गए होते तो अभी इतनी दिक्कत नहीं होती।”

देवीदत्त राउत नाम के व्यक्ति ने इस वीडियो पर प्रतिक्रिया देते हुए सपा के संस्थापक मुलायम सिंह यादव का बयान शेयर किया, जिसमें उन्होंने कहा था, “लड़के हैं, गलती हो जाती है।” बता दें कि मुरादाबाद में ही मुलायम ने अप्रैल 2014 में रेप की सजा फाँसी होने का विरोध करते हुए कहा था कि लड़कों से गलती हो जाती है।


मुरादाबाद में राष्ट्रगान भूले सपा नेता तो लोगों ने जताया आक्रोश
एक ट्विटर यूजर ने लिखा कि यही नेता अखिलेश यादव के कुशल नेतृत्व में समाजवाद लाएँगे। एक ट्विटर यूजर ने कहा कि इन्होंने कभी गाया ही नहीं होगा राष्ट्रगान तो कैसे याद रहेगा? लोगों ने कहा कि इन नेताओं को शर्म आनी चाहिए। एक ट्विटर यूजर ने संभावना जताई कि ये वीडियो आगामी चुनाव के लिए तैयार किया जा रहा था और सांसद महोदय राष्ट्रगान याद कर के भी आए थे, लेकिन फर्स्ट टाइम में गलती हो ही जाती है।

क्षितिज जायसवाल नाम के यूजर ने हैरानी जताई कि यहाँ 50 से ज्यादा लोग खड़े हैं लेकिन किसी को राष्ट्रगान तक याद नहीं है तो यही लोग सत्ता में किस तरह काम करते होंगे? उन्होंने कहा कि आजकल 5 साल के बच्चे को भी राष्ट्रगान याद रहता है।

राष्ट्रगान भूलने के मामले पर सपा सांसद ने दी सफाई

बता दें कि सांसद ST हसन के साथ मौके पर सपा के जिलाध्यक्ष डीपी यादव और महानगर अध्यक्ष शाने अली सहित कई कार्यकर्ता उपस्थित थे। राष्ट्रगान की एक पंक्ति गाने के बाद ये आगे का भूल गए। सांसद ने अपनी सफाई

साहसी पत्रकारिता को सपोर्ट करें,
आई वॉच इंडिया के संचालन में सहयोग करें। देश के बड़े मीडिया नेटवर्क को कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर इन्हें ख़ूब फ़ंडिग मिलती है। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें।

About I watch