Saturday , September 18 2021

भाजपा के दिग्गज नेता के निधन पर सीएम योगी ने जताया शोक, यूपी में 3 दिन का राजकीय शोक…

लखनऊ।  उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने राजस्थान के पूर्व राज्यपाल तथा प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री श्री कल्याण सिंह जी के निधन पर गहरा शोक व्यक्त किया है।
आज यहां जारी एक शोक सन्देश में मुख्यमंत्री जी ने कहा कि भारतीय राजनीति में शुचिता, पारदर्शिता व जनसेवा के पर्याय, अप्रतिम संगठनकर्ता एवं लोकप्रिय जननेता श्री कल्याण सिंह जी का देहावसान सम्पूर्ण राष्ट्र के लिए अपूरणीय क्षति है। वे एक वरिष्ठ एवं अनुभवी राजनेता थे। उन्होंने श्रीराम मंदिर आन्दोलन में अग्रणी भूमिका निभायी। अयोध्या में भव्य श्रीराम मंदिर निर्माण को लेकर उनका अटूट विश्वास था।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि श्री कल्याण सिंह जी ने समाज के गरीब, कमजोर, शोषित और वंचित वर्गों के लिए जीवन पर्यन्त संघर्ष किया। वह एक अत्यन्त कुशल प्रशासक थे। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री के रूप में उनकी सेवाओं को सदैव याद रखा जाएगा। उन्होंने कहा कि श्री कल्याण सिंह जी ने राजस्थान राज्य के राज्यपाल के रूप में अपने संवैधानिक दायित्वों का कुशलतापूर्वक निर्वहन किया।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि एक राजनीतिज्ञ के रूप में श्री कल्याण सिंह जी की उपलब्धियां हम सभी के लिए प्रेरणादायी हैं। उनके निधन से भारतीय राजनीति में कभी न भरा जा सकने वाला एक बड़ा शून्य पैदा हो गया है और समाज की अपूरणीय क्षति हुई है। समाज, श्री कल्याण सिंह जी को, उनके युगान्तरकारी निर्णयों, कर्तव्यनिष्ठा व शुचितापूर्ण जीवन के लिए सदियों तक स्मरण करते हुए प्रेरित होता रहेगा।
मुख्यमंत्री जी ने ईश्वर से दिवंगत आत्मा की शान्ति की प्रार्थना करते हुए श्री कल्याण सिंह जी के शोक संतप्त परिजनों के प्रति संवेदना व्यक्त की है।
सीएम योगी आदित्यनाथ ने बताया भारतीय राजनीति की अपूरणीय क्षति
कल्याण सिंह के बारे में बात करते हुए सीएम योगी भावुक हो गए और उन्होंने कहा कि, ‘कल्याण सिंह का जाना भारतीय राजनीति के लिए अपूरणीय क्षति है और उनके निशान से सभी दुखी हैं।
इसके साथ ही उन्होंने जानकारी दी कि, ’23 अगस्त को अंतिम संस्कार किया जाएगा और इस दिन  सार्वजनिक अवकाश रहेगा। सीएम योगी ने यह भी बताया कि कल्याण सिंह का अंतिम संस्कार अलीगढ स्थित उनके गांव में होगा।’

About I watch

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

कोरोना का कहर

भारत की स्थिति