Friday , September 24 2021

काबुल धमाके में मारा गया जो फौजी, उसकी माँ का अकाउंट फेसबुक-इंस्टाग्राम पर सस्पेंड: बायडेन को बताया था बेटे की मौत का जिम्मेदार

अफगानिस्तान की राजधानी काबुल में एयरपोर्ट के बाहर 26 अगस्त 2021 को ​हमला हुआ था। आईएसआईएस के फिदायीन धमाके में 20 वर्षीय अमेरिकी मरीन करीम निकोई (Kareem Nikoui) की भी मौत हो गई थी। फेसबुक और इंस्टाग्राम ने उनकी माँ शाना चैपल के अकाउंट को अस्थायी रूप से सस्पेंड कर दिया था। शाना ने सार्वजनिक तौर पर अपने बेटे और अन्य सैनिकों की मौत के लिए अमेरिकी राष्ट्रपति जो बायडेन को जिम्मेदार ठहराया था।

फेसबुक पर चैपल ने बार-बार अपने बेटे की मौत के लिए बायडेन को दोषी ठहराया था। सोमवार को अपना अकाउंट सस्पेंड होने से पहले उन्होंने इंस्टाग्राम और फेसबुक पर एक पोस्ट लिखी, जिसमें उन्होंने रविवार को डोवर एयर बेस पर बायडेन से हुई मुलाक़ात का वर्णन किया।


शाना चैपल फेसबुक पोस्ट

उन्होंने अमेरिकी राष्ट्रपति की तीखी आलोचना करते हुए पोस्ट में लिखा था, “प्रेसिडेंट जो बायडेन ये मैसेज आपके लिए है! मुझे पता है कि मेरा चेहरा आपके दिमाग में छप चुका है।” उन्होंने लिखा, ”मैं कल आपकी आँखों में सीधा देखना चाहती थी और आपके समक्ष कुछ कहना चाहती थी। जब मैं अपने बेटे को हमेशा के लिए सुलाने जा रही होऊँगी, जब आप मुझे फिर से देखोगे। याद रखें मैं वही हूँ, जो आपके चेहरे से 5 इंच दूर खड़ी थी और आपको बता रही थी कि अब मैं अपने बेटे को फिर से कभी भी गले नहीं लगा पाऊँगी, उसकी हँसी नहीं सुन पाऊँगी और फिर आपने मुझे बीच में ही रोकने की कोशिश की और मुझे अपनी खुद की कहानी सुना दी। उस समय मुझे आपको यह बताना पड़ा कि यह आपके बारे में नहीं है, इसलिए मुझे अपने बारे में मत बताओ। तब आपने कहा था कि आप सिर्फ मुझसे यह कहना चाहते थे कि इस समय मुझ पर क्या बीत रही है, यह आप भलिभाँति समझते हैं। मैं आपको बताती हूँ कि आप नहीं जानते कि मैं उस समय कैसा महसूस कर रही थी और आपको यह बताने का अधिकार नहीं भी नहीं है कि आप मेरी पीड़ा को समझते हैं।”

उन्होंने कहा कि बायडेन ने इसके बाद अपनी आँखें घुमाईं और कहीं ओर देखने लगे। उन्हें पता चल गया था कि वह उनकी बातों से आहत हो गए थे, लेकिन वह केवल अपने बेटे के सम्मान के लिए अमेरिकी राष्ट्रपति से बात कर रही थीं। जो बाइडेन के आहत होने के बाद भी उन्होंने इस बात को फिर से दोहराया था। उन्होंने कहा कि जब मैंने उन्हें अपने बेटे का खूनी कहा, तो वह दूर चला गए जैसे कि वह कह रहे थे ‘ठीक है, जो भी हो’।

चैपल ने बायडेन को एक कमजोर इंसान और देशद्रोही बताते हुए कहा कि उन्होंने उनके बेटे और सभी सैनिकों से मुँह मोड़ लिया। उन्होंने बायडेन पर आरोप लगाया कि जब सैनिकों के शव विमान से उतारे जा रहे थे, तब बार वह बार-बार अपनी घड़ी देख रहे थे। उन्होंने अपनी पोस्ट के अंत में कहा, “अमेरिका के लोग आपसे नफरत करते हैं।” सोमवार को उन्होंने फेसबुक पर एक और पोस्ट डाला कि उनका इंस्टाग्राम अकाउंट डिसेबल कर दिया गया है।


शाना चैपल की पोस्ट

NYPost की रिपोर्ट के अनुसार फेसबुक ने एक बयान में कहा है, “फेसबुक ने भी गलती से उनका अकाउंट ‘अस्थायी रूप से’ हटा दिया था। हम चैपल और उनके परिवार के प्रति अपनी गहरी संवेदना व्यक्त करते हैं। उनके वीर पुत्र को उनकी श्रद्धांजलि हमारी किसी भी नीति का उल्लंघन नहीं करती है, जबकि पोस्ट को हटाया नहीं गया था, उनका अकाउंट गलत तरीके से सस्पेंड हो गया था और हमने इसे बहाल कर दिया है।”

यूएस मरीन लांस सीपीएल करीम निकोई उन 13 अमेरिकी सैनिकों में से एक थे, जो 26 अगस्त को अफगानिस्तान के काबुल हवाई अड्डे पर हुए आत्मघाती हमले में मारे गए थे। सोमवार (30 अगस्त) को अमेरिकी सैनिकों ने आखिरी विमान से काबुल के हामिद करजई एयरपोर्ट से उड़ान भरी थी। इसके साथ ही अमेरिका ने अफगानिस्तान में लगभग 20 वर्षों तक चलने वाले इस युद्ध को समाप्त कर दिया, जिसमें लगभग 2 ट्रिलियन अमरीकी डालर खर्च हुए और करीब 2,500 अमेरिकी, 2,40,000 अफगान सैनिकों की जान चली गई।

About I watch

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

कोरोना का कहर

भारत की स्थिति